प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना – योजना की अगली किश्त इस तारीख से आएगी, जल्द करें ये काम, नहीं तो रुक जायेगा पैसा

हमारे देश किसानों को अन्नदाता का दर्जा दिया गया है, देश को खड़ा करने के लिए किसानों का विशेष स्थान होता है, जो एक रीढ़ की हड्डी के समान देश को खड़ा रखते है. किसान को उनका हक़ मिले और उनकी स्थति में सुधार आये इसलिए सरकार ने किसानों के लिए पिछले साल प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना शुरू की थी, जिसमें हर किसान को 6000 रूपए किस्तों में देती है. अभी तक योजना के तहत किसानों को 6 किश्तें मिल चुकी है, जिससे लाखों किसान लाभान्वित हुए है. अब सरकार जल्द ही अगली किश्त भी किसान के खाते में ट्रान्सफर करने जा रही है. अगर आपको भी यह किश्त चाहिए है तो आप जल्दी ही अपने फॉर्म की जानकारी को चुस्त दुरुस्त कर लें, ताकि किसी भी गलती की वजह से आपकी किश्त के पैसे नहीं रुकें.

pm kisan samman nidhi yojana hindi

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार योजना के अंतर्गत मुफ्त अनाज पाने के लिए ऐसे करना होगा आवेदन.

पीएम किसान योजना की अगली क़िस्त आने वाली है –

पीएम किसान योजना की छठवीं किश्त अभी अगस्त में गई थी, जिसमें करीब 38 लाख किसानों के खातों में 17 हजार करोड़ के उपर पैसा ट्रान्सफर हुआ है. मोदी जी ने स्वयं यह पैसे किसानों के खातों में भेजे थे. अब सरकार किसान सम्मान निधि योजना की सातवीं किश्त लाभार्थी के खाते में डालने की तैयारी में है. नवम्बर 2020 के आखिरी में यह क़िस्त किसानों को मिल सकती है. इसी तैयारी के लिए सरकार सभी जिलों के अधिकारी को आदेश दे दिए है.

पीएम किसान योजना का लाभ इन किसानों को मिलेगा –

सरकार ने योजना का लाभ लेने के लिए किसानों के लिए कुछ नियम बनाये है, इन नियमो का पालन करने वाले किसान ही योजना के तहत आर्थिक सहायता पा सकते है.

  • छोटे, गरीब, लघु-सीमान्त किसान योजना के तहत आवेदन कर लाभ प्राप्त कर सकते है. इसके लिए किसानों को प्रमाण भी देना होगा.
  • योजना का लाभ उन्ही किसान को मिलेगा, जो किसान भूमि पर खेती करते है, सिर्फ नाम के किसान इस योजना का लाभ नहीं ले सकते है.
  • किसान जिस भूमि पर खेती करते है वो उनके नाम पर ही होनी चाहिए, उस जमीन के खसरा खतौनी कागजात किसान के पास होना अनिवार्य है. अगर खतौनी किसान के नाम पर नहीं है तो किसान पीएम किसान योजना का लाभ नहीं ले सकता है. खतौनी में जिसका नाम होगा, वही योजना का लाभ लेने का पात्र होगा
  • किसान को योजना का लाभ तभी मिलेगा जब वो जमीन उसी के नाम पर होगी, अगर वो भूमि उसके दादा या पापा के नाम पर होगी तो भी वो इस योजना का लाभ नहीं ले सकेगा.

प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के बारे में यहाँ विस्तार से जानकारी आपको मिलेगी, साथ ही कैसे उसका लाभ मिलेगा.

झूठे किसानों से सरकार लेगी वापस पैसा –

योजना के तहत देखा गया है कि कई ऐसे किसान है जो पूरी तरह से समृद्ध है, उनके पास जमीन भी बहुत अधिक है या कुछ किसान भी नहीं है फिर भी योजना के तहत गलत कागज लगाकर आवेदन कर उसका लाभ ले रहे है. सरकार ऐसे सभी लोगों की रिपोर्ट बनाकर उनसे वापस पैसे ले रही है. इन सभी धोखेवाज लोगों के विरोध में सरकार ने क़ानूनी कार्यवाही करने की तैयारी में है. कुछ मीडिया सूत्रों की जानकारी के अनुसार अभी तक सरकार ने ऐसे धोखेवाजों से 61 करोड़ रूपए वसूल लिए है.

योजना के लाभ से वंचित किसानों के लिए खुशखबरी –

देश में अभी भी लाखों किसान है जो इस योजना के लाभ से वंचित है. इसके कई कारन हो सकते है, जिसमें कुछ मुख्य कारणों में से है फॉर्म में गलत जानकरी देना, या किसान को योजना की जानकारी ही नहीं होना. सरकार सभी किसानों से गुजारिश कर रही है कि जिन भी किसान को अभी तक योजना के तहत पैसे नहीं आये है वो जल्द से जल्द अपने फॉर्म की जानकारी को ठीक कर लें, ताकि उन्हें भी योजना के तहत आर्थिक सहायता मिल सके.

कृषि यंत्र अनुदान योजना में 80 % तक की सब्सिडी किसानों को मिल रहे है, आपको बस इस तरह करना होगा आवेदन.

पीएम किसान योजना के फॉर्म को ठीक करने का तरीका –

अगर आपके खाते में प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का पैसा नहीं आया है तो इसका एक मुख्य कारन है कि आपके फॉर्म में जानकारी गलत है. आप इसे ऑनलाइन ठीक कर सकते है.

  • सबसे पहले पीएम किसान की आधिकारिक साईट में जाएँ, वहां फार्मर कार्नर में आपको एडिट जानकारी का विकल्प दिखाई देगा.
  • उस पर क्लिक कर नेक्स्ट पेज पर पहुँच जायेंगें. वहां आपको अपनी आहार कार्ड की जानकारी और कैप्चा कोड डालना होगा.
  • जिसके बाद नेक्स्ट पेज में आपको जानकारी एडिट करने का विकल्प दिखाई देगा.
  • बैंक खता नंबर या आईएफसी कोड अगर गलत है तो उसे ठीक करने के लिए आपको अपने करीबी सीएससी सेण्टर जाना होगा. यह जानकारी ऑनलाइन ठीक नहीं हो सकती है. अधिकतर किसान फॉर्म भरते समय यह लापरवाही करते है और बैंक की जानकारी गलत दे देते है, जिससे पैसा या तो दुसरे के खाते में चला जाता है या फिर जाता ही नहीं है.

किसानों को फॉर्म भरते समय विशेष सावधानी के साथ सभी जानकारी को पीएम किसान के फॉर्म में भरना चाहिए, ताकि समय से उन्हें भी बाकि किसानों की तरह योजना का पैसा मिलता रहे.

अन्य पढ़े –

Karnika

कर्णिका दीपावली की एडिटर हैं इनकी रूचि हिंदी भाषा में हैं| यह दीपावली के लिए बहुत से विषयों पर लिखती हैं |यह दीपावली की SEO एक्सपर्ट हैं,इनके प्रयासों के कारण दीपावली एक सफल हिंदी वेबसाइट बनी हैं
Karnika

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *