Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
ताज़ा खबर

पृथ्वी शॉ का जीवन परिचय व रिकॉर्ड्स | Prithvi Shaw Biography and records In Hindi

पृथ्वी शॉ का जीवन परिचय व रिकॉर्ड्स | Prithvi Shaw Biography, caste, records, Awards In Hindi

update :- पृथ्वी शॉ ने अपने पहले ही टेस्ट मैच में शतक जड़ दिया है, वे अपना पहले टेस्ट अभी वेस्ट इंडीज के साथ राजकोट में खेल रहे है।

क्रिकेट जगत में रोज ना जाने कितने नए खिलाड़ी आते रहते हैं. इन्हीं खिलाड़ी में से कई खिलाड़ी अपनी मेहनत और किस्मत के दम पर क्रिकेट की दुनिया में अपनी एक पहचान बनाने में कामयाब हो जाते हैं. वहीं कुछ खिलाड़ी ऐसा मुकाम पाने में असफल रह जाते हैं. भारत में हर साल ना जाने कितने बच्चे भारतीय क्रिकेट टीम में अपनी जगह बनाने के लिए मेहनत करते हैं, लेकिन कुछ ही बच्चे ये करने में सफल हो पाते हैं. वहीं आज हम आपको एक ऐसे ही नए खिलाड़ी के जीवन जुड़ी बातों का वर्णन करने जा रहे हैं. जिसने अपनी मेहनत के दम पर महज 14 साल की उम्र में क्रिकेट की दुनिया में कई रिकॉर्ड बना लिए है. इस महान खिलाड़ी का नाम पृथ्वी शॉ है और शॉ का नाता भारत के महाराष्ट्र राज्य से है. आखिर कौन है ये पृथ्वी और क्या करिशमा करके दिखाया है इस खिलाड़ी ने इसकी जानकारी हमारे लेख में दी गई है.

 नाम इयरप्रतिद्वंद्वी टीमस्कोर
1लाला अमरनाथ1933इंग्लैंड118
2एजी कृपाल सिंह1955-56न्यूजीलेंड100
3दीपक शोधन1952पाकिस्तान110
4गुंडप्पा विश्वनाथ1969ऑस्ट्रेलिया137
5अब्बास अली बैग1959इंग्लैंड112
6हनुमंत सिंह1963-64इंग्लैंड105
7सुरेंदर अमरनाथ1975न्यूजीलेंड124
8प्रवीण आमरे1992-93साउथ अफ्रीका103
9मोहम्मद अजहरुद्दी1984इंग्लैंड110
10सोरव गांगुली1996इंग्लैंड131
11सुरेश रैना2010श्रीलंका120
12वीरेंद्र सहवाग2001साउथ अफ्रीका105
13पृथ्वी शॉ2018वेस्ट इंडीज100 Not out

 

Prithvi Shaw

पृथ्वी शॉ पृथ्वी  शॉ का जीवन परिचय व महत्वपूर्ण जानकारी (Prithvi Shaw Short Biography information In Hindi)

पूरा नाम पृथ्वी पंकज शॉ
जन्म स्थानठाणे, महाराष्ट्र
जन्म तारीख9, नवंबर, 1999
आयु (Age)18 साल
पेशाक्रिकेटर
लंबाई (Height)5’5
वजन (Weight)55 किलो
जाति (Caste)वैश्य

 पृथ्वी शॉ का जन्म और परिवार (Prithvi Shaw Birth and family information)

पृथ्वी शॉ का जन्म एक साधारण से परिवार में साल 1999 में हुआ था. वहीं पृथ्वी शॉ आज जिस मुकाम तक पहुंच पाए हैं, यहां तक उन्हें पहुंचाने में उनके पिता पंकज शॉ का बहुत बड़ा हाथ है. कहा जाता है कि उनके पिता ने अपने व्यापार को छोड़कर अपना सारा समय पृथ्वी के क्रिकेट करियर को बनाने लगा दिया. वहीं पृथ्वी जब महज चार साल के थे, तभी उनकी मां का निधन हो गया था. जिसके बाद से उनके पिता ने उनकी परवरिश अकेले ही की.

3 साल की उम्र से किया क्रिकेट खेलना शुरू

महज तीन साल की आयु से ही इस महान खिलाड़ी ने क्रिकेट खेलना आरम्भ कर दिया था. इतनी कम उम्र में ही पृथ्वी शॉ ने गेंद और बल्ले से दोस्ती कर ली थी. वहीं इसका फायदा उनको आज मिल रहा है. आज अपने खेल में वो कई तरह के सुधार आसानी से कर पा रहे हैं और एक बेहतरीन खिलाड़ी बनकर उभर रहे हैं.

पृथ्वी शॉ की शिक्षा (Prithvi Shaw Education)

शॉ ने अपने जीवन का लक्ष्य केवल क्रिकेट को ही बना रखा है, लेकिन इसके बावजूद भी उन्होंने अपनी पढ़ाई के साथ कोई भी समझौता नहीं किया है. वो इस वक्त रिज़वी कॉलेज ऑफ आर्ट्स, साइंस और कॉमर्स से अपनी पढ़ाई पूरी कर रहे हैं. वहीं शॉ ने मुंबई के ए.वी. एस विद्यमंदिर और रिज़वी स्प्रिंगफील्ड हाई स्कूल से अपनी प्रारभिक शिक्षा हासिल की है.

पृथ्वी शॉ के द्वारा बनाए गए रिकॉर्ड (Prithvi Shaw Records)

इतनी सी कम आयु में शॉ ने कई रिकॉर्ड्स को अपने नाम किया है और इन्हीं रिकॉर्ड्स में से कुछ रिकॉर्ड के बारे में नीचे जानकारी दी गई है, जो कि इस प्रकार है.

दिलीप ट्रॉफी में जड़ा शतक (prithvi shaw duleep trophy 2017)

दिलीप ट्रॉफी में सबसे कम उम्र में शतक बनाने का चमत्कारी रिकॉर्ड शॉ ने अपने क्रिकेट करियर में ही शामिल कर लिया है. साल 2017 में इस ट्रॉफी के लिए हुए एक मैच में इंडिया रेड टीम की तरफ से बल्लेबाजी करते हुए शॉ ने अपना ये शतक बनाया था. उन्होंने इस मैच में 154 रन बनाए थे. जिस समय उन्होंने ये शतक बनाया था. उनकी आयु उस समय 17 साल की थी और ये उनका डेब्यू मैच था. उनसे पहले ये रिकॉर्ड सचिन तेंदुलकर के नाम था.

556 रनों की खेली थी शानदार पारी-

हैरिस शिल्ड मैच खेलने के दौरान शॉ ने 330 गेंदों ने 556 रनों बनाने का रिकॉर्ड बनाया था. ये मैच उन्होंने रिजवी स्प्रिंगफील्ड की तरफ से साल 2013 में खेला था. उनके द्वारा खेला गया ये मैच उनकी करियर के लिए एक नीव की तरह साबित हुआ था. जिसके बाद उनके खेल की तारीफ कई महान खिलाड़ियों द्वारा की गई थी. हालांकि साल 2016 में शॉ के द्वारा बनाया गया ये रिकॉर्ड प्रणव धनवाड़े नाम के खिलाड़ी ने अपने नाम कर लिया था. 

सचिन तेंदुलकर से की जाती है तुलना (Prithvi Shaw like Sachin Tendulkar)

पृथ्वी शॉ जिस तरह का खेल खेलते हैं, उसके चलते इनकी तुलना भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्वी खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर से की जाती है. इतना ही नहीं लोगों का कहना है कि शॉ क्रिकेट दुनिया के अगले तेंदुलकर बनने वाले हैं. वहीं शॉ के खेलने के तरीके की बात की जाए, तो ये एक दाएं हाथ के बल्लेबाज है. वहीं शॉ दाएं हाथ के ऑफ स्पिन गेंदबाजी भी करते हैं.

राहुल द्रविड़ हैं शॉ के कोच (Prithvi Shaw coach)

शॉ को भारत क्रिकेट टीम के महान बल्लेबाज रहे राहुल द्रविड़ द्वारा ट्रेनिंग दी जा रही है. राहुल द्रविड शॉ के कोच बन उनकी मदद कर रहे हैं. अंडर-19 एशिया कप में शॉ भारतीय टीम के खिलाड़ी थे और उस वक्त राहुल द्रविड़ टीम के कोच की भूमिका निभा रहे थे. शॉ को और बेहतरीन खिलाड़ी बनाने के लिए राहुल द्रविड़ खासा मेहनत कर रहे हैं.

पृथ्वी शॉ से जुड़ी महत्वपूर्ण बातें (Prithvi Shaw Important Point)-

  • शॉ हैं अंडर -19 टीम के कप्तान (Prithvi Shaw under 19)

पृथ्वी शॉ अभी भारत की अंडर-19 टीम की अगुआई कर रहे हैं, इनकी कप्तानी में अभी तक भारत ने तीनों मैच जीत लिए हैं. इन्होंने पहले मैच में ही ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 94 रन बनाए थे, मात्र 4 रन से चूकने के बाद 16 जनवरी को हुए मैच में इन्होंने नाबाद 57 रन बनाए, जिसकी बदौलत भारत ने पापुआ न्यू गिनी के खिलाफ 10 विकेट से जीत अपने नाम कर ली.

  • डेब्यू कर बनाया शतक (Prithvi Shaw debut)

रणजी ट्रॉफी और दिलीप ट्रॉफी में डेब्यू कर शतक बनाने वाले खिलाड़ियों की सूची में पृथ्वी शॉ का छठवां स्थान हैं. शॉ से पहले केवल पांच ही खिलाड़ियों के नाम ये रिकॉर्ड दर्ज हैं.

  • लंबा सफर तय कर जाते थे अभ्यास के लिए (Prithvi Shaw practice)

अपने खेल का अभ्यास करने के लिए शॉ रोजना अपने पिता के साथ ट्रेन में डेढ घंटे का सफर तय किया करते थे. शॉ को अपने अभ्यास के लिए विरार से बांद्रा तक जाना होता था. वहीं इनकी यहीं मेहनत रंग लाई और पृथ्वी आज एक जाने माने खिलाड़ी बन गए हैं.

  • सचिन के बेटे के साथ खेलते थे (Prithvi Shaw  and Arjun Tendulkar)

मध्य आय समूह (एमआईजी) क्रिकेट क्लब के लिए खेलने वाले शॉ की टीम में सचिन तेंदुलकर के पुत्र अर्जुन तेंदुलकर भी शामिल थे. ये दोनों एक ही टीम के सदस्य थे.

  • शॉ को मिले पुरस्कार (Award received by Prithvi shaw)

शॉ के द्वारा खेले गए मैच में उनके प्रर्देशन को देखते हुए उनकी तरफ हर किसी ने की है. वहीं सचिन तेंदुलकर ने भी शॉ की काफी तारीफ की है और उन्होंने भी उम्मीद है की शॉ आगे चलकर भारतीय क्रिकेट टीम का नाम ओर रोशन करेंगे. सचिन के द्वारा की गई शॉ की ये तारीफ शॉ के लिए किसी इनाम से कम नहीं है. हालांकि साल 2013 में सचिन तेंदुलकर ने शॉ को एक पुरस्कार देकर सम्मानित भी किया था.

आईपीएल में भी नजर आ सकते हैं शॉ (Shaw name for IPL Auction)

इस साल भारत की अंडर-19 टीम के सात खिलाड़ियों के नाम आईपीएल के लिए होने वाली नीलामी में रखे गए हैं. इन सात खिलाड़ियों में से एक नाम पृथ्वी शॉ का भी है. इसलिए उम्मीद की जा रही है कि साल 2018 के आईपीएल मैचों में शॉ को खेलते हुए देखा जा सकेगा. शॉ सहित अन्य सात खिलाड़ी की नीलामी के लिए उनकी कीमत 20 लाख रूपए रखी गई है. हालांकि अभी आईपीएल की नीलामी की प्रक्रिया शुरू नहीं की गई है. लेकिन उम्मीद की जा रही है कि आने वाले महीने में इसकी नीलामी शुरू कर दी जाएगी.

अन्य पढ़े:

Ankita

Ankita

अंकिता दीपावली की डिजाईन, डेवलपमेंट और आर्टिकल के सर्च इंजन की विशेषग्य है| ये इस साईट की एडमिन है| इनको वेबसाइट ऑप्टिमाइज़ और कभी कभी आर्टिकल लिखना पसंद है|
Ankita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *