राजस्थान जन संपर्क पोर्टल 2021 शिकायत हेल्पलाइन नंबर|Rajasthan Jan Sampark Portal In Hindi

राजस्थान जन संपर्क पोर्टल शिकायत हेल्पलाइन नंबर Rajasthan Jan Sampark Portal In Hindi 2020-21 -Helpline Number sampark.rajasthan.gov.in

किसी भी देश या राज्य की सरकार आम जनता के लिए बहुत सी योजनाओं की घोषणा करती है. बड़े स्तर पर योजना की घोषणा तो हो जाती है लेकिन उस योजना से जुडी हुई बहुत सी परेशानीयों का सामना उसके लाभार्थी को करना होता है. कई बार ये लाभार्थी अपने जिले/गाँव के संबंधित विभाग पर भी जाते है, लेकिन उनकी समस्या का समाधान उन्हें वहां भी नहीं मिलता है, क्युकी उपर से अधिकारियों तक कोई जानकारी नहीं आती है. सरकारी योजनाओं से संबंधित समस्याओं का ग्राउंड लेवल पर समाधान करने के लिए राजस्थान सरकार ने एक शिकायत पोर्टल शुरू किया है, जिसका नाम है “राजस्थान संपर्क पोर्टल”. अब जनता और सरकार के बीच में कोई बिचौलिया नहीं होगा, जनता सीधे अपनी समस्या राज्य सरकार तक ऑनलाइन माध्यम से रख सकती है. आम जनता कैसे अपनी समस्या को राज्य सरकार तक पहुंचा सकती है, आज हम आपको अपने आर्टिकल के माध्यम से यही बताने जा रहे है, अंत तक आर्टिकल को पूरा अच्छे से पढ़ें.

rajasthan-sampark-portal-toll-free-number-complaint-status

राजस्थान सम्पर्क पोर्टल 2021 

पोर्टल का नाम

सम्पर्क पोर्टल

कहाँ लांच हुई

राजस्थान

लांच किसने की

राजस्थान मुख्यमंत्री जी द्वारा

लाभार्थी

राजस्थान के नागरिक

संबंधित विभाग

हेल्पलाइन टोल फ्री नंबर

181

पोर्टल लिंकsampark.rajasthan.gov.in

राशन कार्ड शिकायत नंबर राशन कार्ड बनवाने के लिए लगता है इतना चार्ज, ज्यादा पैसे मांगने पर शिकायत.

राजस्थान सम्पर्क पोर्टल की विशेषताएँ एवं लाभ 

  • पोर्टल शुरू करने का उद्देश्य – राजस्थान सरकार इस ऑनलाइन पोर्टल को इसलिए शुरू किया है ताकि राज्य की आम जनता को अपनी समस्या को लेकर यहाँ वहां भटकना न पड़े, उन्हें एक ही जगह घर बैठे अपनी समस्या सरकार के पास रखने का मौका मिले और उसका हल भी घर बैठे मिल जाये.
  • ऑनलाइन शिकायत पोर्टल – अगर किसी को राज्य की योजना से जुडी समस्या है जैसे उसका फॉर्म जमा नहीं हो रहा है, या फॉर्म जमा होने के बाद भ पैसे नहीं आये, या कोई भी समस्या है तो आप राजस्थान संपर्क पोर्टल के माध्यम से अपनी शिकायत को ऑनलाइन दर्ज कर सकते है.
  • पंचायत एवं जिला स्तर पर निःशुल्क शिकायत – पहले अगर कोई व्यक्ति योजना से संबंधित अपनी समस्या को लेकर जिला या पंचायत विभाग में जाता था तो उसे कुछ शुल्क अदा करना पड़ता था, अब सरकार ने इस सुविधा को पूरी तरह निशुल्क कर दिया है. कोई भी व्यक्ति अपनी समस्या को मुफ्त में अधिकारीयों तक पहुंचा सकता है.
  • सिटिजन कॉल सेण्टर – सरकार ने आम जनता के लिए एक कॉल सेंटर बनाया है. यह एक टोल फ्री कॉल सेण्टर है, जिसका नंबर है 181. इस पर कोई भी राजस्थान निवासी कॉल करके अपनी समस्या का हल ले सकता है.
  • नेटिव मोबाइल एप्लीकेशन – राजस्थान के निवासी नेटिव मोबाइल एप्प को अपने मोबाइल डाउनलोड कर सकते है, बस इसके लिए जरुरी है कि आपके पास स्मार्टफोन हो. इस मोबाइल एप्प के माध्यम से आप संपर्क पोर्टल में अपनी शिकायत दर्ज करा सकते है.

प्रधानमंत्री शिकायत नंबर प्रधानमंत्री से ऑनलाइन शिकायत करके पायें अपनी समस्या का तुरंत हल.

शिकायत पर जांच –

अभी तक ऐसा होता था कि अगर आपने अपनी किसी समस्या को राज्य सरकार के सामने रखा है तो उसका जबाब आपको कम से कम 6 महीने में मिलता था. ऐसे में बहुत समय ख़राब होता था. अब राजस्थान सरकार ने इस पर बदलाव कर दिया है. अब से आम जनता की समस्या का हल, हर महीने के गुरुवार को दिया जायेगा. किसी भी पंचायत में स्थित संपर्क केंद्र में, उपखंड अधिकारी की अध्यक्षता में महीने के पहले गुरुवार को एक आयोजन होगा, जहाँ जनता की समस्या की सुनवाई होगी. अगर किसी को यहाँ अपनी समस्या का समाधान नहीं मिलता है तो वो अपने जिले में इसकी शिकायत कर रहा है. फिर अगले गुरुवार को जिले स्तर पर जिलाधिकारी की अध्यक्षता में फिर से शिकायत की सुनवाई होगी. अगर किसी को यहाँ भी हल नहीं मिलता है तो वो व्यक्ति इसकी शिकायत कर सकता है तो समस्या राज्य स्तर पर हल होगी.

राजस्थान सम्पर्क पोर्टल पर शिकायत दर्ज कैसे करें 

  • राजस्थान संपर्क पोर्टल में अपनी शिकायत को ऑनलाइन दर्ज करना चाहते है तो सबसे पहले आप संपर्क पोर्टल लिंक पर जाएँ.
  • पोर्टल में नीचे तरफ आपको शिकायत दर्ज करें विकल्प दिखाई देगा, इस पर क्लिक करें, जिसके बाद एक न्यू पेज खुल जायेगा.
  • इस न्यू पेज में कुछ निर्देश दिए हुए है, जिसे आप ध्यान से पढ़ें, क्युकी आगे फॉर्म भरते समय आपको इन बैटन का ध्यान रखना होगा.
  • इसे पढने के बाद नीचे रजिस्टर पर क्लिक करें, जिसके बाद शिकायत करने के लिए एक फॉर्म खुल जायेगा.
  • फॉर्म में आपसे मोबाइल नंबर, नाम, शिकायत का विवरण पुछा जायेगा. इस ऑनलाइन फॉर्म में पूची गई सभी जानकारी को ध्यान से सही-२ भरें.
  • अब आपको अपना पहचान पत्र, आधार कार्ड की प्रति को ऑनलाइन अपलोड करना होगा, जिससे अधिकारी आपके डाटा की जांच करेंगें.
  • फॉर्म को सबमिट कर दें, जिसके बाद एक न्यू पेज में आपसे कुछ और जानकारी पूची जाएगी, इसे भी भर कर जमा कर दें, जिसके बाद आपका शिकायत फॉर्म जमा हो जायेगा.
  • फॉर्म जमा होने के बाद एक रजिस्टर आईडी आपके मोबाइल में आ जाएगी, इसे आप संभाल कर रखें, आगे इसकी आवश्यकता आपको पड़ेगी.

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजनासूचि में अपना नाम चेक करें, जानें कब आएगा पैसा.

शिकायत का स्टेटस कैसे चेक करें –

संपर्क पोर्टल में आप अपने शिकायत फॉर्म की स्थिति भी चेक कर सकते है. इसके लिए आप नीचे दी गई प्रक्रियाको फॉलो करें –

  • संपर्क पोर्टल में जाएँ, वहां आपको नीचे ‘शिकायत स्थिति देखें’ विकल्प दिखाई देगा. उस पर क्लिक करें.
  • एक न्यू पेज खुलेगा जिसमें आपके रजिस्टर आईडी या मोबाइल नंबर पुछा जायेगा, मोबाइल नंबर आपने जो फॉर्म में डाला है वही यहाँ पर डालें.
  • उसके बाद स्क्रीन पर दिखाई दे रहे कैप्चा कोड को डालें. और फॉर्म को सबमिट कर दें.
  • अब अंत में आपके शिकायत फॉर्म की स्थति आपको स्क्रीन पर दिखाई देगी.

राजस्थान जन आधार कार्ड : राजस्थान की सरकारी योजनाओं का लाभ लेना चाहते है तो आज ही बनवाएं जन आधार कार्ड निशुल्क.

शिकायत का समाधान न होने पर फिर से याद दिलाना –

अगर आपकी शिकायत का हल आपको समय रहते नहीं मिलता है तो आप इसके लिए संपर्क पोर्टल में फिर से शिकायत कर सकते है. फिर से शिकायत करने के लिए यह है प्रक्रिया –

  • आधिकारिक साईट पर शिकायत पुर्नास्मरण विकप्ल दिखाई देगा, इस पर क्लिक करें.
  • एक न्यू पेज खुल जायेगा. याद रखें आपने पहली बार फॉर्म 30 दिन पहले भरा होगा, तभी आप शिकायत पुर्नास्मरण पर फिर से शिकायत कर सकते है. 30 दिन के पहले यहाँ शिकायत न करें.
  • इस फॉर्म में आप रजिस्टर आईडी और कैप्चा कोड डालें और सबमिट कर दें.
  • अगर आपकी शिकायत का हल शिकायत पुर्नास्मरण करने के बाद भी नहीं मिलता है तो फिर 15 दिन बाद आप दूसरी बार शिकायत पुर्नास्मरण विकल्प द्वारा शिकायत कर सकते है.

राजस्थान सरकार की इस शुरुवात से राज्य की जनता को अपनी शिकायत के लिए यहाँ वहां नहीं भटकना पड़ेगा, वो घर बैठे सरकार से अपनी शिकायत करके हल प्राप्त कर सकते है.

अन्य पढ़ें –

Karnika
कर्णिका दीपावली की एडिटर हैं इनकी रूचि हिंदी भाषा में हैं| यह दीपावली के लिए बहुत से विषयों पर लिखती हैं | यह दीपावली की SEO एक्सपर्ट हैं,इनके प्रयासों के कारण दीपावली एक सफल हिंदी वेबसाइट बनी हैं

More on Deepawali

Similar articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here