एक देश एक परीक्षा योजना – राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी के जरिए केवल एक परीक्षा देकर पाएं सरकारी नौकरी, जाने कैसे

अभी तक देश में कई तरह की सरकारी नौकरी प्राप्त करने के लिए युवाओं को कई तरह की परीक्षाएं देनी होती है. अब मोदी सरकार के कार्यकाल में मंत्रीमंडल ने इस प्रथा को बदलते हुए बड़ा फैसला लिया है. सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावडेकर जी ने राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी के गठन को मंजूरी देते हुए बताया कि अब देश में युवाओं को सिर्फ एक परीक्षा ही देने ही होगी, जिसके आधार पर उन्हें अलग-अलग पर नौकरी मिल सकेगी. मोदी सरकार ने सभी मंत्रीमंडल के साथ मिलकर यह फैसला लिया है, बीजेपी सरकार का यह बहुत बड़ा फैसला है, जिससे करोड़ों युवा लाभान्वित होंगें. एक देश एक परीक्षा की तर्ज में शुरू हो रही यह संस्था देश में नौकरी की भर्ती प्रक्रिया में एक अहम् सुधार करेगी. चलिए विस्तार से जानते है कि राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी क्या है, परीक्षाएं कब होगी, कौन आयोजित करेगा. आर्टिकल को अंत तक ध्यान से पढ़ें, ताकि आप सभी पहलु को अच्छे से समझ सकें.

rashtriya-bharti-niti-agency-ek-desh-pariksha-hindi

नाम

राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी (NRA)

किसने घोषणा की

मंत्री प्रकाश जावडेकर

परीक्षा किसके द्वारा आयोजित होंगी

सीईटी

अन्य नाम

एक देश एक परीक्षा

लाभार्थी

देश के युवा

राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी क्या है –

राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी (NRA) को अगस्त 2020 में मंजूरी मिल गई है, इसको 2020 के बजट में प्रस्तुत किया गया था, तब से बातचीत चल रही थी, अंततः इसको सभी से मंजूरी मिल गई है. यह संस्था स्वतंत्र रूप से काम करेगी, यह संगठन को विशेषज्ञ की देख रेख में चलाया जायेगा, जिसमें देश में ग्रुप बी और सी के गैर तकनिकी पद की भर्ती के लिए एक ही परीक्षा आयोजित की जाएगी. इसे सामान्य पात्रता परीक्षा भी कहा जायेगा.

प्रधानमंत्री छात्रवृत्ति योजना के तहत अब सरकार उठाएगी पढ़ाई का खर्चा, जानिए योजना क्या है

राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी में परीक्षा कौन करवाएगा –

राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी के तहत ग्रुप बी और सी के गैर तकनिकी पद की भर्ती के लिए देश में परीक्षा सीईटी (common entrance exam) करवाएगी.

राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी का गठन कैसे होगा (National Recruitment Agency) –

राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी में कई सस्थाएं, मंत्रालय एक साथ मिलकर काम करेंगी. इसमें रेलवे, वित्त, कर्मचारी चयन आयोग, रेलवे भर्ती बोर्ड तथा बैंकिंग कार्मिक चयन संस्थान मिलकर काम करके  राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी का गठन करेगी. राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी में इन सभी के प्रतिनिधि शामिल होंगें.

राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी की विशेषताएं –

  • अधिकारीयों ने बताया है की अब रेलवे, बैंक एवं एसएससी के पदों के लिए अलग-अलग परीक्षा देने की जरुरत नहीं होगी. इससे लोगों के समय, संसाधन दोनों की बचत होगी.
  • अब एक ही बार परीक्षा होगी, जिससे आवेदकों को एक ही बार आवेदन करना होगा और आवेदन शुल्क का भुगतान भी एक ही बार करना होगा.
  • एक बार परीक्षा देने के बाद इसका जो स्कोर आएगा, वो अगले तीन साल तक वैलिड रहेगा, मतलब आवेदक का रिक्त पद में चुनाव अगले तीन साल तक हो सकेगा. नौकरी मिलने की संभावना बढ़ जाएगी.
  • राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी के तहत सीईटी परीक्षा 12 अलग-अलग भाषा में आयोजित होगी. जो जिस भाषा में देना चाहे परीक्षा दे सकेगा. अभी तक य्ह्परिक्षाएं सिर्फ 2 भाषा में ही आयोजित होती थी.
  • एक बार परीक्षा में बैठने के बाद आवेदक को कई पदों में सिलेक्शन का मौका मिल सकेगा.
  • सरकार के राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी गठन के फैसले से देश में लगभग 3 करोड़ युवा लाभान्वित होंगें.
  • आवेदकों को अब अलग-अलग परीक्षा के लिए बार-बार यहाँ वहां नहीं जाना होगा.
  • राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी के अंतर्गत होने वाली परीक्षा के लिए, सरकार देश भर में 1000 से अधिक केंद्र बनाने की तैयारी कर रही है. सरकार ने टारगेट रखा है कि हर एक जिले में कम से कम एक केंद्र तो हो ही, ताकि उम्मीदवार को कम से कम ट्रेवल करना पड़े.
  • सरकार ने राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी के गठन के लिए 1500 करोड़ के लगभग बजट तय किया है.
  • अभी सरकार के फैसला के अनुसार तीन संस्थाओं को जोड़कर एक परीक्षा की जाएगी, लेकिन भविष्य में सरकार सभी केंद्रीय संस्थाओं की भर्ती परीक्षा इसी एजेंसी के अंदर कर देगी.

रोजगार पंजीयन कैसे करें : ऑनलाइन आवेदन कर घर बैठे नौकरी पाने का मौका

मौजूदा नौकरी भर्ती व्यवस्था क्या है –

  • अभी तक जो भी उम्मीदवार सरकारी नौकरी का इच्छुक होता है, वो अपनी पात्रता के अनुसार विभिन्न पदों के लिए, अलग-अलग संस्था द्वारा आयोजित की जाने वाली अलग-अलग परीक्षा में बैठता था.
  • अलग-अलग परीक्षा का आयोजन होने से आवेदन भी अलग-अलग होता था, जिसमें हर फॉर्म का शुल्क भी आवेदक को देना होता था. फिर परीक्षा देने के लिए दूर-दूर सेण्टर मिलने के कारण ट्रेवल भी बहुत करना पड़ता था.
  • इस तरह की प्रक्रिया से उम्मीदवार तो परेशान होते ही थे, उनके साथ-साथ परीक्षा आयोजक की भी परेशानी बहुत होती थी. आयोजक को परीक्षा आयोजित करने का खर्चा वहन करना पड़ता था, कानून, परीक्षा केंद्र एवं अन्य व्यवस्था को हर बार ही देखना पडता था. जिसमें अत्यधिक खर्च, समय लगता था.

राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी एवं सीईटी की विशेषताएं –

  • Common entrance test (सीईटी) हर साल दो बार ऑनलाइन माध्यम से, राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी की परीक्षा का आयोजन करेगा, मतलब युवाओं को साल में दो बार मौके मिलेंगें परीक्षा देने के लिए.
  • राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी को पूरी तरह ऑनलाइन तैयार कर रही है. इसके लिए एक आधिकारिक पोर्टल बनाने की तैयारी है, जिसमें उम्मीदवार ऑनलाइन आवेदन कर सकेंगे, वहां अपना रोल नंबर, एडमिट कार्ड देख कर डाउनलोड करे सकेंगें. इसके साथ ही इस पोर्टल में रिजल्ट, अंक पत्र भी देखा जा सकेगा, साथ ही मेधा सूचि को भी यहाँ ऑनलाइन देखा जा सकेगा.
  • सीईटी अपनी परीक्षाओं को कई भाषाओँ में आयोजित करता है, इसका मतलब है कि अब देश के विभिन्न कोने में लोग परीक्षा दे सकेंगें वो अपनी मनपसंद भाषा में पेपर दे सकेंगें.
  • सीईटी की परीक्षा लिखित नहीं होगी, यहाँ सवाल वैकल्पिक फॉर्म में आयेंगे.
  • गरीब युवाओं को इस फैसले से बहुत राहत मिलेगी, अभी लोगों को अलग-अलग परीक्षा के खर्च के साथ-साथ आने जाने, रहने खाने पीने का भी बहुत खर्चा उठाना पड़ता था. अब राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी के तहत परीक्षा का आयोजन होने से यह शुल्क एक ही बार देना होगा, और जिले में परीक्षा केंद्र होने से यात्रा, रहने, खाने का अतिरिक्त खर्चा भी नहीं करना होगा.
  • महिलाओं के लिए इस फैसले से बड़ी राहत होगी. इन परीक्षाओं को देने जाने के लिए महिलाओं को अपने साथ किसी को ले जाना होता था, मतलब डबल खर्चा. कई बार महिलाएं यात्रा नहीं कर पाने की स्थति में परीक्षा नहीं दे पाती थी. अब महिलाएं अपने जिले में ही आसानी से परीक्षा दे सकेंगी.
  • सीईटी द्वारा आयोजित परीक्षा में उम्मीदवार कितनी भी बार परीक्षा दे सकेगा, इसकी कोई लिमिट नहीं है. सरकार सामान्य, अनुसूचितजाति, जनजाति, पिछड़ा वर्ग एवं अन्य श्रेणी के उम्मीदवार की आयु सीमा में भी कुछ छूट दे सकती है, मतलब अब और अधिक मौके उम्मीदवार के पास होंगें.
  • गैर तकनिकी पद के लिए 10वीं, 12वीं एवं स्नातक पास उम्मीदवार के लिए सीईटी की परीक्षा का आयोजन होगा.

नरेगा मेट कैसे बने – मनरेगा योजना के तहत सरकार दे रही है सुपरवाईजर बनने का मौका, जानें योग्यता, आवेदन प्रक्रिया

FAQ –

Q: राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी कौन-कौन सी परीक्षाएं आयोजित करेगी?

Ans: सभी रेलवे बोर्ड, स्टाफ सिलेक्शन कमीशन एवं बैंकिंग सर्विस संस्था द्वारा गैर तकनिकी पद के लिए आयोजित सभी परीक्षायें अब राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी द्वारा आयोजित होंगें. आगे भविष्य में सभी केंद्र की परीक्षाएं इसी संस्था द्वारा आयोजित होगी.

Q: क्या राज्य की एजेंसियां राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी में शामिल नहीं है?

Ans: सीईटी का जो स्कोर आएगा, उसके आधार पर सर्वप्रथम राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी द्वारा उम्मीदवार का चयन होगा. यह स्कोर कार्ड तीन साल तक वैलिड है, आगे चलकर राज्य एवं अन्य एजेंसी भी इस स्कोर कार्ड का प्रयोग कर उम्मीदवार का चयन कर सकेंगी.

Q: क्या राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी द्वारा संचालित सीईटी परीक्षा पास करने पर नौकरी गारंटी है?

Ans: अभी फिलहाल ऐसा नहीं है. सीईटी अभी स्टेज 1 की परीक्षा आयोजित करेगा, इसमें पास होने के बाद लाभार्थी, रिक्तियां के आधार उच्च स्तरीय परीक्षा टियर 1 एवं 2 में आवेदन कर सकेगा. सीईटी अलग से स्कोर के आधार पर उम्मेदवार के लिए टियर 1 एवं 2 की परीक्षा का आयोजन करेगा. कुछ सरकारी विभाग में प्रथम चरण की परीक्षा के बाद सीधे मेडिकल एवं फिजिकल टेस्ट के बाद नियुक्त हो सकेंगें.

Q: 10th, 12th पास एवं स्नातक के लिए अभी तक अलग-अलग परीक्षाएं आयोजित होती आई है, अब सीईटी के द्वारा कैसे आयोजित होंगी?

Ans: चूँकि यहाँ योग्यता अलग अलग है, अतः सीईटी भी तीन अलग-अलग परीक्षा का आयोजन योग्यता के अनुसार करेगा. लेकिन इन सभी का विषय (पाठ्यक्रम) एक ही होगा. सरकार ने यह निर्णय भी लिया है कि परीक्षाओं के लिए अलग-अलग पाठ्यक्रम नहीं होंगें.

Q: सीईटी का स्कोर कितने साल मान्य रहेगा?

Ans: 3 साल

Q: सीईटी की परीक्षा कितनी बार दे सकते है?

Ans: कोई लिमिट नहीं

Q: सीईटी की परीक्षा देने के लिए आयु सीमा क्या है?

Ans: उपरी आयुसीमा पहले के नियम अनुसार है, विशेष श्रेणी को छूट मिल सकती है.

Q: सीईटी की परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन कैसे करें?

Ans: सरकार इसके लिए एक ऑनलाइन पोर्टल शुरू करने वाली है, जिसके द्वारा आवेदन हो सकेगा.

Q: सीईटी की परीक्षा में परीक्षा केंद्र का चुनाव कैसे करें?

Ans: पोर्टल में चयन के लिए विकल्प दिखाई देगा, लेकिन यह उपलब्धता पर निर्भर करेगा

अन्य पढ़ें

Follow me

Vibhuti

विभूति अग्रवाल मध्यप्रदेश के छोटे से शहर से है. ये पोस्ट ग्रेजुएट है, जिनको डांस, कुकिंग, घुमने एवम लिखने का शौक है. लिखने की कला को इन्होने अपना प्रोफेशन बनाया और घर बैठे काम करना शुरू किया. ये ज्यादातर कुकिंग, मोटिवेशनल कहानी, करंट अफेयर्स, फेमस लोगों के बारे में लिखती है.
Vibhuti
Follow me

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *