राष्ट्रीय पर्यटन दिवस 2022 निबंध महत्व Rashtriya Prayatan Diwas (date) Essay in Hindi

राष्ट्रीय पर्यटन दिवस 2022(घोषणा कब हुई, लाभ, थीम, इतिहास, महत्व, मुख्य पर्यटन स्थल, राष्ट्रीय पर्यटन दिवस कब मनाया जाता है ) Rashtriya Prayatan Diwas in Hindi

भारत एक ऐसा देश है जहां पर आपको हर किलोमीटर पर अलग-अलग धर्म, मजहब, बोली, भाषा और पहनावे के लोग मिलेंगे। अगर आप उत्तर भारत के राज्यों में जाएंगे तो वहां पर आपको हिंदी भाषा बोलने वाले लोगों की संख्या ज्यादा मिलेगी और अगर आप दक्षिण भारत की तरफ जाएंगे, तो आपको अलग-अलग भाषाएं बोलने वाले लोगों की संख्या ज्यादा मिलेगी।

इस प्रकार देश में अलग-अलग राज्यों में कई बोली भाषा बोलने वाले लोग रहते हैं और यही वजह है कि विदेशी पर्यटक इंडिया घूमने के लिए आते हैं। गवर्नमेंट हर साल नेशनल पर्यटक दिवस मनाती है। अंग्रेजी में इसे नेशनल टूरिज्म डे कहकर बुलाया जाता है। आइए जानकारी प्राप्त करते हैं कि राष्ट्रीय पर्यटन दिवस क्या होता है।

राष्ट्रीय पर्यटन दिवस

दिन:राष्ट्रीय पर्यटन दिवस  
तिथि:25 जनवरी  
घोषणा वर्ष: 1980  1980
उद्देश्य:पर्यटन को बढ़ावा देना  
लाभ:देश की जीडीपी में बढ़ोतरी होना  
थीम:हर साल अलगअलग  

राष्ट्रीय पर्यटन दिवस क्या है?

हर देश तरक्की की राह पर आगे चलना चाहता है और इसके लिए हर देश की गवर्नमेंट तरह-तरह के उपाय करती है। किसी भी देश की आर्थिक तरक्की के लिए यह आवश्यक है कि ऐसे इंतजाम किए जाएं कि उस देश में पैसे का आवागमन ज्यादा हो।

पर्यटन भी एक ऐसा क्षेत्र है जो किसी भी देश की अर्थव्यवस्था में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करती है।‌ हमारे देश की संस्कृति और कला के बारे में लोग अधिक से अधिक जाने और अधिक से अधिक पर्यटक भारत देश घूमने के लिए आए, इसलिए भारत देश में हर साल राष्ट्रीय पर्यटन दिवस मनाया जाता है।

राष्ट्रीय पर्यटन दिवस कब मनाया जाता है?

25 जनवरी ही वह दिन है, जिसे राष्ट्रीय पर्यटन दिवस यानी कि नेशनल टूरिज्म डे के तहत इंडियन गवर्नमेंट ने घोषित करके रखा है। इस प्रकार से अगर आपसे कभी यह सवाल किया जाए कि राष्ट्रीय पर्यटन दिवस कब सेलिब्रेट किया जाता है? तो आप जवाब के तौर पर 25 जनवरी का नाम दे सकते हैं। अधिकतर प्रतियोगी परीक्षाओं में भी यह क्वेश्चन आता है। इसलिए आपको इसे अच्छे से याद कर लेना चाहिए।

राष्ट्रीय पर्यटन दिवस का इतिहास क्या है?

देश को आजादी मिलने के सिर्फ 1 साल बाद ही यानी की वर्ष 1948 में गवर्नमेंट ने यातायात कमेटी को बनाया। इस कमेटी का सबसे पहला हेड क्वार्टर दिल्ली राज्य में रखा गया था परंतु बाद में इसे मुंबई राज्य में ट्रांसफर कर दिया गया।

फिर अगले 3 सालों के बाद ही वर्ष 1951 में इस कमेटी के 2 और ऑफिस चेन्नई और कोलकाता शहरों में चालू किए गए। इसके अलावा वर्ष 1958 के आसपास में टूरिज्म से संबंधित एक स्पेशल डिपार्टमेंट को भी टूरिज्म एंड कम्युनिकेशन मिनिस्ट्री के तहत तैयार किया गया।

राष्ट्रीय पर्यटन दिवस का महत्व क्या है?

राष्ट्रीय पर्यटन दिवस के कई महत्व है। इसका महत्व इसलिए भी खास है क्योंकि इस दिन को सेलिब्रेट करके भारत अपने देश में मौजूद प्रमुख जगहों के बारे में दुनिया को बताता है।

 क्योंकि जब लोगों को भारत में घूमने लायक जगह के बारे में जानकारी होगी तभी वह अधिक से अधिक इंडिया आना पसंद करेंगे और इसके कारण भारत की जीडीपी में बढ़ोतरी होगी, साथ ही जिन जगहों पर वह घूमने के लिए जाएंगे, वहां के स्थानीय लोगों को भी रोजगार प्राप्त होगा।

विदेशी टूरिस्ट के अलावा भारतीय टूरिस्ट भी गवर्नमेंट के इस प्रयास के फलस्वरूप अधिक से अधिक इंडिया में घूमने लायक जगह पर जाएंगे। इससे पैसे का आवागमन बनेगा।

2021 में राष्ट्रीय पर्यटन दिवस की थीम क्या थी?

गवर्नमेंट के द्वारा 2021 में राष्ट्रीय पर्यटन दिवस की थीम के तौर पर “देखो अपना देश” नाम का नारा अपनाया गया था। हालाकी कोविड-19 के बढ़ते हुए प्रभाव के कारण 2021 में पर्यटको के भारत आने की संख्या में काफी कमी आई थी, क्योंकि लॉकडाउन लग जाने के कारण कई लोगों ने अपने आपको घर पर ही रहना सुरक्षित समझा।

पर्यटन क्या होता है?

पर्यटन को अंग्रेजी भाषा में टूरिज्म कहा जाता है और टूरिज्म को हिंदी भाषा में पर्यटन कहा जाता है। पर्यटन का मतलब होता है या तो अकेले किसी जगह को देखने के लिए घूमने निकल जाना या फिर समूह के साथ किसी जगह को देखने के लिए यात्रा करना।

पर्यटन के कई प्रकार होते हैं। कुछ लोग मीटिंग अटेंड करने के लिए पर्यटन करते हैं, तो कई लोग एजुकेशन, हेल्थ और काम के लिए पर्यटन करते हैं। दुनिया में पर्यटन की इंडस्ट्री तेजी के साथ बढ़ रही है और लगभग जितने भी देश दुनिया में है उन देश की आर्थिक तरक्की में पर्यटन काफी अहम रोल रखता है।

भारत के मुख्य पर्यटन स्थल कौन से हैं?

वैसे तो हमारे देश में घूमने के लिए जगह की कोई भी कमी नहीं है। इंडिया दुनिया का सबसे प्राचीन देश है और यहां पर कई धर्मों का संगम है। इसीलिए यहां पर ऐसे कई मठ, मंदिर, इमारते,झरने तथा अन्य चीजें हैं जो विदेशी पर्यटकों को इंडिया घूमने के लिए आकर्षित करती हैं।

इसके अलावा इंडिया के पर्यटक भी इन जगहों पर घूमना पसंद करते हैं। नीचे आपको कुछ ऐसे नाम दिए जा रहे हैं जो घूमने के लिए सबसे बेस्ट जगह इंडिया में मानी जाती है। हालांकि इन नामों के अलावा भी ऐसी बहुत सी जगहे इंडिया में है जिसे आप घूम सकते हैं।

• ताज महल उर्फ तेजो महल, आगरा

• लाल किला, नई दिल्ली

• पुष्कर, राजस्थान

• आमेर का किला, राजस्थान

• हुमायूं का मक़बरा

• उदयपुर का सिटी पैलेस, राजस्थान

• जैसलमेर का सोनार किला, राजस्थान

• जोधपुर का मेहरानगढ़ किला, राजस्थान

• अमृतसर का स्वर्ण मंदिर, पंजाब

• हवा महल,जयपुर

• जंतर मंतर,नई दिल्ली

• इंडिया गेट,नई दिल्ली

• मैसूर पैलेस,मैसूर

• स्टेचू ऑफ यूनिटी, गुजरात

• अक्षरधाम मंदिर, नई दिल्ली

• मनगढ़ मंदिर, उत्तर प्रदेश

• माउंट आबू, राजस्थान

• चित्तौड़गढ़ का किला, राजस्थान

• चारमीनार, हैदराबाद

• अमरनाथ मंदिर, जम्मू कश्मीर

• वैष्णो देवी मंदिर, जम्मू कश्मीर

• केदारनाथ धाम, उत्तराखंड

• मुंबा देवी मंदिर, मुंबई

FAQ:

Q: राष्ट्रीय पर्यटन दिवस कब मनाया जाता है?

Ans: 25 जनवरी

Q: राष्ट्रीय पर्यटन दिवस को अंग्रेजी में क्या कहते हैं?

Ans: नेशनल टूरिज्म डे

Q: अंतर्राष्ट्रीय पर्यटन दिवस कब मनाया जाता है?

Ans: 27 सितंबर

Q: अंतर्राष्ट्रीय पर्यटन दिवस की घोषणा कब की गई थी?

Ans: साल 1980 में

Q: विश्व पर्यटन दिवस पहली बार कब मनाया गया?

Ans: 27 सितंबर साल 1980

अन्य पढ़े –

More on Deepawali

Similar articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here