Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
ताज़ा खबर

रॉबिन शर्मा जीवन परिचय | Robin Sharma biography in hindi

Robin Sharma biography in hindi दिमाग की अपेक्षा दिल ज्यादा बुद्धिमान है. उसका सम्मान करें, उस पर विश्वास करें. उसका अनुसरण करें. अगर आपको यह पंक्तियां पढ़ कर अच्छा लगा है तो आपको इसे लिखने वाले ​की सारी किताबें पढ़नी चाहिए. इस प्रेरक वाक्य को लिखने वाले रॉबिन शर्मा जिनका पूरा नाम रॉबिन शिल्प शर्मा है की ग्यारह से ज्यादा किताबे दुनिया की बेस्टसेलर्स की सूची में शामिल है. वे उन लोगों को जीवन जीने का तरीका सिखाते हैं जो आज सफलता के शिखर पर हैं. माइक्रोसॉफ्ट और ऐसी ही ढेरों कॉर्पोरेट कंपनीज इन्हें अपने कर्मचारियों और अधिकारियों के जीवन को बेहतर बनाने के लिए व्याख्यान के लिए आमंत्रित करती है. रॉबिन शर्मा की पुस्तकों ने लाखों लोगों की जिंदगी बदली है. उनकी पुस्तक ‘एक संत जिसने अपनी संपति बेच दी’ को पूरी दुनिया में अपार लोकप्रियता मिली.

robin-sharma2

एक लेखक जिसने लोगों की जिंदगी बदल दी— रॉबिन शर्मा 

Robin Sharma biography in hindi

कौन है रॉबिन शर्मा? (Who is Robin Sharma) –

रॉबिन शर्मा एक जीवन प्रबंधन विशेषज्ञ है और वे दुनिया भर में व्यक्तियों और संगठनों के लिए प्रेरणा के स्रोत है. वे अपने व्याख्यानों और पुस्तकों के माध्यम से लोगों को अपनी क्षमता का एहसास कराते हैं और उनके जीवन को बेहतर बनाते है. उनकी मांग सम्मेलनों और संगोष्ठियों में जीवन में सकरात्मकता बढ़ाने के लिए उनके दिए गए भाषणों की वजह से लगातार बढ़ रही है. उन्हें अपने सुंदर विचारों की वजह से नासा और हार्वर्ड बिजनेस स्कूल जैसी संस्थाओं में बुलाया जाता है. नये विचारों और बदलाव की उनकी अवधारणाओं के माध्यम से रॉबिन शर्मा दुनिया को यह सीखाने में सफल रहे हैं कि कैसे चुनौतियों का सामना किया जाया और और बेहतर निर्णय लिया जाए. जीवन को बेहतर बनाने के लिए दिए जाने वाले अपने प्रेरणाकारी व्यख्यानों में वे ज्यादातर भारतीय दर्शन और अध्यात्म का प्रयोग करते हैं. वे आज दुनिया के सबसे ज्यादा पढ़े और सुने जाने वाले विचारकों में से एक है. उनकी काबिलियत का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि  वह अक्सर बिल क्लिंटन, जैक वेल्च, स्टीफन कोवे और दीपक चोपड़ा के साथ मंच साझा करते हैं.

क्र.. जीवन परिचय बिंदु जीवन परिचय
1. नाम रोबिन शर्मा
2. जन्म 18 मार्च 1965
3. जन्म स्थान पोर्ट हव्केस्बरी, नोवा स्कोटिया
4. पेशा लेखक, व्यक्तिगत विकास विशेषज्ञ, नेतृत्व वक्ता, पूर्व मुकदमेबाजी वकील
5. राष्ट्रीयता कनाडा
6. भाषा अंग्रेज़ी
7. मातृ संस्था डलहौज़ी विश्वविद्यालय का स्कूलीच स्कूल ऑफ़ लॉ
8. कैरियर नेतृत्व विशेषज्ञ
9. उल्लेखनीय कार्य “एक लीडर जिसका कोई शीर्षक नहीं था”, “एक साधू जिसने अपनी सम्पत्ति बेच दी”, “एक संत, सर्फर और सीईओ” एक महान गाइड
10. उल्लेखनीय अवार्ड सन 2011 में टोस्टमास्टर्स इंटरनेशनल द्वारा गोल्डन गेवल अवार्ड, सन 2016 के लिए विश्व के टॉप नेतृत्व पेशेवर

रॉबिन शर्मा का आरंभिक जीवन –

रॉबिन शर्मा का जन्म कनाडा में रहने वाले और पारंपरिक भारतीय मूल्यों को मानने वाले परिवार में 1965 में हुआ. शिक्षा में भी वे अव्वल रहे और उन्होंने कानून में दो उपाधियां हासिल की, जिसमें से एक मास्टर इन लॉ है. यह डिग्री उन्हें डलहौजी लॉ स्कूल से मिली है.

रोबिन शर्मा करिअर (Robin Sharma career) –

रॉबिन शर्मा की 11 से ज्यादा किताबें पूरी दुनिया में पढ़ी—पढ़ाई जाती हैं. साथ ही वे एक जाने—माने वकील भी हैं. ​कुछ समय वकालत करने के बाद उन्होंने इस पेशे को अलविदा कह दिया और अपनी पहली किताब लिखी और खुद ही प्रकाशित भी की. उनकी मां ने इस किताब का संपादन किया. उनकी दूसरी किताब ‘एक संत जिसने अपनी संपत्ति बेच दी’ भी उन्होंने खुद ही प्रकाशित की. इस किताब में उन्होंने अमीर और सुखी होने के बीच का फर्क बताया कि कैसे एक सफल वकील सुख की खोज में हिमालय की वादियों में एक फकीर की तरह भटका और आखिर में उसे वहीं सूकून मिला. इस किताब को पहले पहल सफलता नहीं मिली, तो उन्होंने कुछ बुक स्टोर्स से साइनिंग इवेंट आयोजित करने को कहा ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग उनकी किताबों तक पहुंच बना सके. ऐसे ही एक आयोजन के दौरान हार्पर कॉलिन्स के अध्यक्ष एड कार्सन से उनकी मुलाकात हुई और यहीं से बतौर लेखक उनकी जिंदगी बदल गई. इसके बाद इस किताब को 1997 में हॉर्पर कॉलिन्स ने प्रकाशित किया और इसने तहलका मचा दिया. इस किताब की 50 देशों में 3 मिलियन से ज्यादा कॉपियां बिक गई. यह किताब और इसके बाद इस सीरीज की आई हरेक किताब ने पाठकों के बीच धूम मचाई और यह दुनिया के सर्वश्रेष्ठ बुक फ्रेंचाइज में से एक बन गई. रॉबिन की किताबें अब तक 60 देशों मे 70 भाषाओं में लोगों तक पहुंच बना चुकी हैं. इस सफलता ने उन्हें पूरी दुनिया में एक जाना—पहचाना नाम बना दिया. जापान, स्पेन, इंग्लैण्ड, दुबई, मैक्सिको, सिंगापुर, तुर्की और साउथ अमेरिका के प्यूर्टो रिको तक रॉबिन शर्मा अब एक जाना—पहचाना नाम बन चुका है.

उनकी वेबसाइट दुनिया की सबसे ज्यादा देखी जाने वाले वेबसाइट्स में से एक है. इस सफलता ने उन्हें लोगों के जीवन में खुशियां लाने के लिए प्रेरित किया और उन्होंने शर्मा लीडरशिप इंटरनेशनल इंक की स्थापना की. वे इस संगठन के संस्थापक, सीईओ और चीफ विजनरी आफिसर हैं. यह संस्था पूरी दुनिया में लोगों को उनकी क्षमता पहचानने मे मदद करती है. उनके क्लाइंट्स में ज्यादातर फॉर्च्युन 500 की सूची में शामिल नाम है. माइक्रोसॉफ्ट, जीई, फैडएक्स और आईबीएम जैसी संस्थाएं उनकी सेवाएं लेती हैं.

रोबिन शर्मा उपलब्धियां –

  • दुनिया भर के लीडरशिप एक्सपर्ट्स में रॉबिन शर्मा का दूसरा स्थान है.
  • उन्होंने दुनिया भर में गरीब और वंचित बच्चों की जिंदगी में रोशनी पहुंचाने के लिए रॉबिन शर्मा फाउंडेशन फॉर चिल्र्डन की स्थापना की है.
  • रॉबिन शर्मा का संगठन दुनिया भर में लोगों को अपने कोचिंग प्रोग्राम और व्याख्यानों की मदद से जीवन को बेहतर बनाने के गुरू सिखाता है. एसएलआई ‘रॉबिन शर्मा लाइफ कोचिंग प्रोग्राम’ जैसा प्रोग्राम भी करती है जो संस्था के बजाय व्यक्ति पर अपना ध्यान केन्द्रित करता है.
  • रॉबिन शर्मा खुद भी लोगों की सहायता करने के लिए छह हफ्ते में एक ब्लॉग लिखते हैं जिसे ‘बिकम द लीडर यू वर मींट टू बी’ नाम दिया गया है.

रोबिन शर्मा द्वारा लिखी प्रमुख किताबे हैं (Robin Sharma books)

  • द लीडर हू हैड नो टाइटल
  • द ग्रेटनेस गाइड
  • द ग्रेटनेस गाइड बुक—2: 101 लैसन्स फॉर सक्सेस एंड हैप्पीनेस
  • द मोंक हू सोल्ड हिज फेरारी
  • लीडरशिप विजडम फ्रॉम द मोंक हू सोल्ड हिज फेरारी
  • द सेंट द सर्फर एंड द सीईओ
  • डेली इन्सपीरेशन फ्रॉम द मोंक हू सोल्ड हिज फेरारी
  • हू विल क्राइ वैन यू डाइ?
  • फैमिली विजडम फ्रॉम द मोंक हू सोल्ड हिज फेरारी
  • द लीड विदाउट ए टाइटल मेनीफेस्टो

रॉबिन शर्मा के प्रेरणादायी वाक्य (Robin Sharma Quotes) –

  • नेतृत्व किसी पद या नाम के बारे में नहीं है. यह प्रभाव, प्रेरणा और परिणाम के बारे में है.
  • इस दुनिया में कोई भी काम छोटा नहीं है. सारी मेहनत हमारी व्यक्तिगत क्षमता को समृद्ध करने, हमारी कला का सृजन करने और हमारी अंतर्निहित प्रतिभा को विकसित का अवसर है.
  • हमारी सृजनात्मकता न सिर्फ दूसरो के लिए प्रेरणा का स्रोत बनेगी बल्कि उसका वह प्रभाव पड़ेगा, जो हमारे आसपास की जिंदगियों में बदलाव लाएगा.
  • जीवन को बेहतर ढंग से जीन की सबसे श्रेष्ठ कुंजी है कि ऐसा काम करें, जो सार्थक हो और उसमें उ​न्नति कर, दक्षता की उस स्थिति में पहुंच जाए कि लोग आप से नजरें न हटा सकें.

अन्य पढ़ें –

Ankita

Ankita

अंकिता दीपावली की डिजाईन, डेवलपमेंट और आर्टिकल के सर्च इंजन की विशेषग्य है| ये इस साईट की एडमिन है| इनको वेबसाइट ऑप्टिमाइज़ और कभी कभी आर्टिकल लिखना पसंद है|
Ankita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *