Top 5 This Week

spot_img

Related Posts

इसरो चीफ़ डॉ एस सोमनाथ का जीवन परिचय | Dr S. Somanath ISRO Chairman Biography, Chandrayaan 3

एस. सोमनाथ की बायोग्राफी कौन है, पूरा नाम, जीवन परिचय, योग्यता, हिस्ट्री, इसरो, एजुकेशन, सैलरी, फॅमिली (S. Somanath Biography) (Full Name, ISRO Chairman, Wife, Family, Qualification, Salary, Net Worth, Chandrayan-3, History)

एस. सोमनाथ (जन्म 1963) भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के 10वें और वर्तमान अध्यक्ष हैं। उन्होंने 1 जुलाई 2023 को इस पदभार संभाला। वह इसरो में एक वरिष्ठ वैज्ञानिक हैं और उन्होंने कई महत्वपूर्ण परियोजनाओं में काम किया है, जिनमें चंद्रयान-2 और गगनयान शामिल हैं। कैबिनेट की पोस्टिंग कमेटी के द्वारा सोमनाथ को इंडियन स्पेस रिसर्च आर्गेनाईजेशन के दसवें अध्यक्ष के तौर पर पोस्टिंग प्रदान की गई है। यह पोस्टिंग इन्हें डॉक्टर के. सिवन के पश्चात मिली हुई है, जिन्हें साल 2018 में इसरो संस्था का चेयरपर्सन बनाया गया था। सोमनाथ को यह पद इसलिए प्राप्त हुआ, क्योंकि नेशनल अंतरिक्ष एजेंसी का प्रमुख बनने के लिए वह पूर्ण रूप से काबिल होने के साथ-साथ तैयार थे। चलिए इस आर्टिकल में सोमनाथ की बायोग्राफी इन हिंदी में पढ़ते हैं और एस. सोमनाथ की जीवनी के बारे में जानते हैं।

एस सोमनाथ की बायोग्राफी (S. Somanath Biography in Hindi)

नामएस सोमनाथ
पूरा नामश्रीधर पाणिकर सोमनाथ
जन्म1963
जन्म स्थानAroor Alappuzha, केरल
वर्तमान उम्र60 साल
धर्महिंदू
जातिअज्ञात
वैवाहिक अवस्थाविवाहित
प्रोफेशनइसरो चेयरपर्सन
पढ़ाईग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट
कॉलेजटीकेएम कॉलेज ऑफ़ इंजीनियरिंग कोल्लम, इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ साइंस बेंगलुरु
पताएम- 13, मुरली नगर, तिरुअनंतपुरम-695022, अंबालामुक्कू, पेरूरकड़ा, केरल, इंडिया

एस सोमनाथ कौन है (Who is S. Somanath)

एस. सोमनाथ एक एयरोस्पेस इंजीनियर और रॉकेट टेक्नोलॉजिस्ट हैं, जिनका जन्म भारत देश के केरल राज्य में साल 1963 में जुलाई के महीने में Aroor Alappuzha जिले में हुआ था। वर्तमान में इनकी उम्र 60 साल के आसपास में है।

एस सोमनाथ का पूरा नाम (S. Somanath Full Name)

इनका पूरा नाम श्रीधर पाड़ीकर सोमनाथ है और संक्षेप में लोग इन्हें एस सोमनाथ कहकर बुलाते हैं।

एस सोमनाथ का एजुकेशन, योग्यता (S. Somanath Qualification)

श्रीधर पाणिकर सोमनाथ एक पढ़े लिखे व्यक्ति हैं। इन्हें पढ़ाई करना काफी ज्यादा पसंद है और साइंस के प्रति तो इनका काफी ज्यादा झुकाव पहले भी था और वर्तमान के समय में भी है। इन्होंने अलग-अलग स्कूल, कॉलेज और संस्थाओं से अपनी पढ़ाई को पूरा किया हुआ है। इन्होंने अपने स्कूल की पढ़ाई सेंट अगस्टिन हाई स्कूल से कंप्लीट की हुई है। स्कूल की पढ़ाई को पूरा करने के बाद इन्होंने मैकेनिकल में बैचलर आफ टेक्नोलॉजी की डिग्री प्राप्त की। इसके अलावा इन्होंने मास्टर इन एयरोस्पेस इंजीनियरिंग की डिग्री भी हासिल की हुई है। इसके बाद आगे बढ़ते हुए इन्होंने मैकेनिकल इंजीनियरिंग में पीएचडी की पढ़ाई की। सोमनाथ व्हीकल स्ट्रक्चर सिस्टम को लॉन्च करने में काफी ज्यादा एक्सपर्ट है। इसके अलावा यह स्ट्रक्चरल डायनेमिक, मेकैनिज्म और व्हीकल इंटीग्रेशन को लॉन्च करने की भी जानकारी रखते हैं।

एस सोमनाथ फॅमिली (S. Somanath Family)

सोमनाथ के पिता हिंदी भाषा के टीचर थे। इसके बावजूद सोमनाथ के पिता ने अपने बेटे के साइंस के प्रति जब जुनून को देखा तो उन्होंने अपने बेटे को साइंस के प्रति प्रोत्साहित किया और सोमनाथ को अंग्रेजी के साथ ही साथ मलयालम भाषाओं में साइंस की किताबें प्रदान की ताकि सोमनाथ को साइंस सब्जेक्ट की अच्छी जानकारी प्राप्त हो सके।

माता-पिताVedamparambil Sreedhara Panicker, Thankamma
पत्नीवलसाला
बच्चे2
बेटामाधव
बेटीमालिका

एस सोमनाथ वाइफ (S. Somanath Wife)

बताना चाहते हैं की श्रीधर पाणिकर सोमनाथ का विवाह वलसाला नाम की महिला से हुआ है और इन पति-पत्नी के दो बच्चे भी है। जानकारी के अनुसार इनकी पत्नी मिनिस्ट्री ऑफ़ फाइनेंस के अंतर्गत आने वाली जीएसटी डिपार्टमेंट में काम करती है। इनके दोनों ही बच्चों ने अपने पोस्ट ग्रेजुएशन की पढ़ाई इंजीनियरिंग में कंप्लीट कर ली है।

एस सोमनाथ का लुक (S. Somanath Look)

लंबाई5 फीट 8 इंच
आंखों का रंगकाला
बालों का रंगकाला
वजन82 किलो
रंगसांवला

एस सोमनाथ का करियर (S. Somanath Career)

  • सोमनाथ के द्वारा साल 1985 में इंडियन स्पेस रिसर्च आर्गेनाईजेशन संस्था को ज्वाइन किया गया था और उसके पश्चात इन्होंने अलग-अलग पदों पर इस संस्था में काम किया। जैसे कि – Project Manager-Polar Satellite Launch Vehicle (PSLV), Deputy Director for Structures Entity/Propulsion & Space Ordnance Entity, Project Director, Geosynchronous Satellite Launch Vehicle (GSLV Mk-III) इत्यादि।
  • सोमनाथ शुरुआती चरण के दरमियान पोलर सैटलाइट लॉन्च व्हीकल प्रोजेक्ट से भी जुड़े हुए थे और साल 2014 में नवंबर के महीने तक यह प्रपोजिशन एंड स्पेस ऑर्डिनेंस एंटीटी के डिप्टी डायरेक्टर के पद पर भी रहे थे।
  • सोमनाथ ने साल 2015 के जून महीने में लिक्विड प्रोपल्शन सिस्टम सेंटर के डायरेक्टर के तौर पर भी काम किया जो लॉन्च व्हीकल और स्पेस कार्यक्रम के लिए लिक्विड प्रोपल्शन सिस्टम के डिजाइन के लिए जिम्मेदार था।
  • आपकी जानकारी के लिए बताना चाहते हैं कि, सोमनाथ पहले विक्रम साराभाई अंतरिक्ष केंद्र से इसके डायरेक्टर के तौर पर जुड़े हुए थे। बताना चाहते हैं कि विक्रम साराभाई अंतरिक्ष केंद्र, इंडियन स्पेस रिसर्च ऑर्गेनाइजेशन का प्रमुख केंद्र है जो लॉन्च व्हीकल के डिजाइन के लिए जिम्मेदार है।
  • उन्होंने कई महत्वपूर्ण परियोजनाओं में काम किया है, जिनमें शामिल हैं: चंद्रयान-1: भारत का पहला चंद्र मिशन, चंद्रयान-2: भारत का दूसरा चंद्र मिशन, जिसने चंद्रमा की सतह पर लैंडर और रोवर को सफलतापूर्वक उतारा और तीसरा गगनयान: भारत का पहला मानव अंतरिक्ष मिशन

एस सोमनाथ सैलरी (S. Somanath Salary)

इंडियन स्पेस रिसर्च ऑर्गेनाइजेशन का अध्यक्ष होना कोई छोटी बात नहीं है। सोमनाथ को एक अच्छी सैलरी प्राप्त होती है, क्योंकि यह एक अधिक पढ़े-लिखे व्यक्ति हैं और इन्हें स्पेस रिसर्च की फील्ड में काफी ज्यादा एक्सपीरियंस है। प्राप्त जानकारी के अनुसार श्रीधर पाणिकर सोमनाथ की हर महीने की सैलरी ढाई लाख रुपए के आसपास में है। वर्तमान के समय में यह इसरो संस्था के चेयरपर्सन के पद पर विराजमान है।

एस सोमनाथ की कुल कमाई (S. Somanath Net Worth)

मिस्टर सोमनाथ के द्वारा काफी ज्यादा मेहनत की गई है और इंडियन स्पेस रिसर्च आर्गेनाईजेशन की काफी ज्यादा सेवा की गई है। अपनी मेहनत और अपने समर्पण के भाव से इन्होंने काफी अच्छी कमाई भी इसरो संस्था के माध्यम से की है। इस प्रकार से इंटरनेट से प्राप्त जानकारी के आधार पर इनकी टोटल कमाई वर्तमान के समय में 3 से लेकर के 5 करोड रुपए के आसपास में है। मिस्टर सोमनाथ के बारे में एक जानकारी यह भी है कि, यह बहुत ही सिंपल आदमी है। इसलिए यह सोशल मीडिया का ज्यादा इस्तेमाल नहीं करते हैं।

एस सोमनाथ के अवार्ड (S. Somanath Award)

अपने बेहतरीन वर्क एक्सपीरियंस की बदौलत सोमनाथ ने बहुत सारे अवार्ड अपने करियर के दरमियान प्राप्त किए। इन्हें एस्ट्रोनॉटिकल सोसाइटी ऑफ इंडिया के द्वारा स्पेस गोल्ड मेडल प्रदान किया गया है। इसके अलावा इंडियन नेशनल एकेडमी ऑफ़ इंजीनियरिंग के द्वारा भी इन्हें सम्मानित किया गया है। सोमनाथ को साल 2014 में परफॉर्मेंस एक्सीलेंस अवार्ड और साल 2014 में ही टीम एक्सीलेंस अवार्ड भी मिला हुआ है। यह अवार्ड इन्हें जीएसएलवी एमके के लिए प्राप्त हुआ था। सोमनाथ को अंतरिक्ष विज्ञान और प्रौद्योगिकी में उनके योगदान के लिए कई पुरस्कार और सम्मान मिले हैं, जिनमें शामिल हैं –

  • पद्मश्री (2022)
  • शांतिस्वरूप भटनागर पुरस्कार (2021)
  • डी.एस. कोठार पुरस्कार (2020)
  • इसरो वैज्ञानिक पुरस्कार (2019)

एस सोमनाथ चंद्रयान-3 (S. Somanath Chandrayan-3)

श्रीधर सोमनाथ को चंद्रयान 3 के जो मास्टरमाइंड है, उनमें से एक माना जाता है। इन्हें साल 2022 में 14 जनवरी के दिन इंडियन स्पेस रिसर्च आर्गेनाईजेशन की कमान प्रदान कर दी गई थी। यह कार्यकाल 3 साल का है। बताना चाहेंगे कि, इसरो के के. सिवान का कार्यकाल पूरा होने के बाद सोमनाथ को इस पद पर तैनात किया गया है।

जानकारी के लोए बता दें कि चंद्रयान-3 को लीड करने वाले एस सोमनाथ जी को सबसे बड़ी सफलता मिल गई है. इसरो द्वारा लांच किये गये चंद्रयान-3 की चांद पर सफलतापूर्वक लैंडिंग हो गई है. जिसके चलते मोदी जी ने उन्हें पर्सनली फोन करके बधाई दी है.

एस सोमनाथ – इसरो के नए चेयरपर्सन (S. Somanath ISRO Chairman)

सरकार के द्वारा श्रीधर सोमनाथ को इसरो संस्था का नया अध्यक्ष बनाया गया है। अध्यक्ष के अंतर्गत वह अपनी भूमिका के तहत टेक्नोलॉजी, पॉलिसी इत्यादि पर फोकस करेंगे। इसके अलावा वह अंतरिक्ष के इकोसिस्टम को इंडस्ट्री में विस्तारित करने के लिए भी काम करेंगे। इसके साथ ही साथ वह अंतरिक्ष डिपार्टमेंट के सचिव और अंतरिक्ष आयोग के अध्यक्ष भी हैं। इसरो का चेयरपर्सन बनने से पहले सोमनाथ विक्रम साराभाई अंतरिक्ष केंद्र, तिरुवंतपुरम में डायरेक्टर के पद पर थे। इसरो के चीफ बन जाने की वजह से अब उम्मीद जताई जा रही है कि, सूर्य मिशन और गगनयान जैसे मिशन को तेजी मिलेगी।

सोमनाथ एक प्रतिभाशाली वैज्ञानिक और एक कुशल प्रशासक हैं। उनके नेतृत्व में, इसरो ने कई महत्वाकांक्षी परियोजनाओं को सफलतापूर्वक पूरा किया है। उन्हें इसरो के अगले अध्यक्ष के रूप में एक उज्ज्वल भविष्य की उम्मीद है।

होमपेजयहां क्लिक करें
टेलीग्राम चैनल जॉइन करेंयहां क्लिक करें

FAQ

Q : इसरो का नया अध्यक्ष कौन है?

Ans : सोमनाथ को इसरो का नया अध्यक्ष बनाया गया है।

Q : डॉक्टर सोमनाथ कौन है?

Ans : डॉक्टर सोमनाथ इसरो साइंटिस्ट और इसरो संस्था के नए और दसवें अध्यक्ष है।

Q : 2008 में इसरो के अध्यक्ष कौन थे?

Ans : के राधाकृष्णन 2008 में इसरो के अध्यक्ष थे।

Q : इसरो के डायरेक्टर कौन है?

Ans : श्रीधर पाणिकर सोमनाथ इसरो के डायरेक्टर हैं।

Q : इसरो का पूरा नाम क्या है?

Ans : इसरो का पूरा नाम इंडियन स्पेस रिसर्च आर्गेनाईजेशन है।

अन्य पढ़ें –

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Popular Articles