ताज़ा खबर

समाजवादी ई रिक्शा योजना | Samajwadi E Rickshaw scheme in hindi

Samajwadi E Rickshaw scheme (yojana) in hindi समाजवादी ई रिक्शा योजना, उत्तर प्रदेश राज्य सरकार द्वारा शुरू की गई योजना है, जोकि राज्य के गरीब रिक्शा चालकों के लिए है. विधानसभा चुनाव करीब आने के साथ उत्तर प्रदेश राज्य सरकार की ओर से कमर कस ली गई है, और उन्होंने इसके चलते राज्य की आबादी के लिए बहुत ही योजनाओं को शुरू किया. उन्होंने छात्रों के लिए मुफ्त में लैपटॉप वितरण की योजना शुरू की, इसके बाद उन्होंने ई रिक्शा योजना की शुरुआत की. इसके तहत गरीब रिक्शा चालकों को बैटरी से संचालित होने वाले मोटर ई रिक्शा मुफ्त में उपलब्ध कराने का वादा किया. इस बारे में पूरी जानकारी इस आर्टिकल में मौजूद है.

samajwadi-e-rickshaw-scheme

समाजवादी ई रिक्शा योजना

Samajwadi E-Rickshaw scheme in hindi

समाजवादी ई रिक्शा योजना (Samajwadi E rickshaw yojana) –

भारत के उत्तर प्रदेश में बहुत से रिक्शा चालक हैं. यहाँ तक कि यदि आप लखनऊ जाते है तो आप वहाँ बहुत से रिक्शे चालकों को देख सकते है. इससे यह स्पष्ट है कि यहाँ के अधिकतर लोगों की आजीविका इस पेशे पर निर्भर करती है. इसलिए समाज के इस भाग को निशाना बना कर राज्य की हालत में सुधार किया जा सकता है. यह सरकार ने भी सोचा और इस वजह से सरकार ने इसके लिए एक नई योजना बनाई, जिसके तहत पर्यावरण को भी लाभ प्राप्त होगा और साथ ही रिक्शा चालकों को भी उसी मात्रा में पैसे कमाने के लिए कम परिश्रम करना पड़ेगा. उत्तर प्रदेश के मुख्य मंत्री “श्री अखलेश यादव जी” ने अपने राज्य की जनता को संबोधित करते हुए कहा कि वे राज्य का सभी ओर से विकास चाहते है जोकि राज्य के रिक्शा चालकों में सुधार के रूप में किया जा सकता है. इसलिए उन्होंने राज्य के रिक्शा चालकों के लिए मुफ्त में बैटरी से संचालित होने वाले मोटर ई रिक्शा योजना की शुरुआत की. यह एक एतिहासिक सरकारी योजना है, जोकि गरीब परिवारों और अल्पसंख्यकों के कल्याण में उत्तर प्रदेश राज्य सरकार द्वारा शुरू की गई है. प्रतिक्रिया प्राप्त करने के बाद सरकार का प्रत्येक पात्र परिवारों की जरुरत के लिए इस तरह के रिक्शे प्रदान करने का इरादा है. लोगों को उम्मीद है कि सरकार यह योजना पूरे उत्तर प्रदेश में शुरू करेगी.

समाजवादी ई रिक्शा योजना की विशेषताएँ

समाजवादी ई रिक्शा योजना की प्रमुख विशेषताएँ इस प्रकार हैं-

  • यह ई रिक्शा लागत से पूरी तरह से मुक्त है यानि रिक्शा चालकों को इसके लिए कुछ भी भुगतान नहीं करना पड़ेगा, और यह योजना उन लोगों के लिए निश्चित रूप से उपयोगी है, जो अब तक कमाई करने के लिए पारम्परिक रिक्शे का उपयोग कर रहे थे.
  • वर्तमान में यह रिक्शा परिक्षण के आधार के लिए दिये गये है, किन्तु जल्द ही यह पूरे प्रदेश में वितरित हो जायेंगे.
  • वतर्मान में सरकार ने रिक्शा के 23 मॉडल वितरित किये है, जोकि 13 कंपनियों द्वारा बनाये गया है.
  • रिक्शे की सर्वसिंग सरकार द्वारा की जाएगी.
  • ये रिक्शे विशेष रूप से भारत की सडकों के लिए तैयार किये गये हैं. यह ई रिक्शा क्वीन बहुत ही किफायती होगा, साथ ही इसकी लागत कम होने के कारण इसकी गुणवत्ता बेहतर है.
  • इसके हैंडल और ब्रेक का प्रदर्शन, इसके पार्ट्स की गुणवत्ता में सुधार, उच्च गुणवत्ता वाली फाइबरग्लास बॉडी, धातु के संयोजन के साथ मजबूत डिजाईन, फाइबरग्लास द्वारा आर्थिक क्षमता प्रदान करना और इसका अपराजय प्रदर्शन और अन्य सुविधाएँ इस बैटरी से संचालित होने वाले ई रिक्शा में उपलब्ध हैं.
  • क्वीन, ई रिक्शा का निर्माण करने और इसकी गुणवत्ता एवं प्रदर्शन को सुनिश्चित करने वाली एक भारतीय ब्रांड है.
  • वे इसे एक उत्कृष्ट प्रदर्शन, सहनशीलता और एक लागत प्रभावी उत्पाद देने के लिए तैयार कर रहे है.
  • ये रिक्शे FRP मटेरियल से मिलकर बने है जोकि बहुत मजबूत, सहनशील और वजन में हल्का होते है.
  • इसे बनाने वाली कम्पनी इसके ज्यादातर पार्ट्स की वारंटी प्रदान करेगी.

ये ई रिक्शा की विशेषताएं हैं और समाजवादी ई रिक्शा योजना के लिए लगभग 248 लाख रिक्शा चालकों ने रजिस्टर किया है. इस रिक्शा की शुरूआती कीमत 55,000 रूपये है और कम्पनियां 97,000 रूपये का मूल्यांकन करने पर अपने रिक्शे को प्रस्तुत करेगी. जल्द ही सरकार सभी मॉडलों में से एक का चयन करेगी और इसके बाद ई रिक्शा के वितरण की प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी. नोडल एजेंसी सुडा’स (राज्य शहरी विकास प्राधिकरण) के अधिकारीयों की देखरेख में सभी का परिक्षण किया जायेगा.

समाजवादी ई रिक्शा योजना के लाभ (Samajwadi E rickshaw yojana benefits) –

हम इस योजना के उद्देश्यों को जानते है, अब हमे यह पता करना है कि क्या यह लाभ दे सकती है. मुख्य रूप से यह बहुत अच्छा सवाल है और यह इस योजना के तहत पूरा होगा. इसके लाभ इस प्रकार हैं-

  • इस योजना के तहत सरकार ने रिक्शा चालकों के लिए 100 बैटरी से संचालित होने वाली तिनपहिया साइकल देने की योजना बनाई है. वे लोग जिनके पास पहले से ही तिनपहिया साइकल है वे इस योजना के लिए पात्र है.
  • उन्हें ये तिनपहिया साइकल मिल जाएगी और इससे उन्हें फायदा भी हो सकता है. लाभार्थी रामपुर, आजमगढ़ और लखनऊ आदि जिलों से चुने गए है.
  • इस योजना के पहले चरण के तहत रिक्शा चालकों को लगभग 27,000 ई रिक्शे दिए जायेंगे. इस विधि से वे अनुकूल उपकरणों द्वारा पर्यावरण के लाभ का उपयोग करने में सक्षम हो जायेंगे.
  • इसके ऑपरेशन की लागत कम होगी क्योंकि उन्हें अब पेट्रोल और डीज़ल की ऊँची कीमतों के लिए भुगतान नहीं करना पड़ेगा. वे आसानी से रिक्शे की बैटरी को चार्ज कर रिक्शा स्टार्ट कर सकते है.
  • उन्हें ई रिक्शा चलाने के लिए सिर्फ बिजली की कीमत चुकानी होगी. इसमें सवारी की लागत वही होगी जोकि रिक्शा चालक पारम्परिक रिक्शे में लेते थे इसके लिए किसी भी प्रकार की राशि सुनिश्चित नहीं की गई है.
  • इससे एक बात पर यकीन हो गया है कि अब डीज़ल और पेट्रोल नही जलेगा, जिससे पर्यावरण प्रदूषण कम हो जायेगा. इसलिए यह सरकार द्वारा राज्य को प्राकृतिक परिवेश की दिशा में बढ़ावा देने का भी एक कदम है.

इस तरह इस योजना के बहुत से लाभ हैं.

समाजवादी ई रिक्शा योजना की विशिष्टता

समाजवादी ई रिक्शा योजना की विशिष्टता इस प्रकार है-

  • इस ई रिक्शा में 4 सवारी, एक ड्राईवर और 40 किलोग्राम सामान सहित 380 किलोग्राम की क्षमता है.
  • ई रिक्शा की अधिकतम गति 20-25 किलोमीटर प्रति घंटा है. इसकी न्यूनतम सीमा 80 किलोमीटर है. 3 डिग्री की ढलान पर इसकी न्यूनतम गति 5 किलोमीटर प्रति घंटा, और इसके शुरू होने और चलने की क्षमता 7 डिग्री ढलान है. यह एक ब्रशलेस AC और DC मोटर के द्वारा संचालित 850 वाट या उससे अधिक बिजली उत्पादन के लिए है लेकिन यह 2000 वाट से अधिक नहीं है.
  • यह ई रिक्शा 100Ah की एक EV ग्रेड बैटरी से चलता है. सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने 8 अक्टूबर सन 2014 को GSR नंबर .709 (E) और अधिसूचना नंबर S.O. 2590 (E) की पुष्टि की है.

समाजवादी ई रिक्शा योजना का परिचालन

यह योजना पहले से ही शहरी विकास मंत्रालय द्वारा अनुमोदित की गई है, और कई जगहों पर शुरू हो चुकी है. पहले से ही करीब 10,000 से अधिक ई रिक्शा निर्मित किये जा चुके हैं, और अगले 2 महीनों में ये बाकी जगहों पर भी पहुँचा दिए जायेंगे. यात्रियों और राज्य के नागरिकों को बहुत जल्द इसका लाभ प्राप्त होगा.

इन वाहनों को नगर निगम के अंदर और गलियों और कॉलोनियों के अंदर भी चलाने के लिए हरी झंडी दी गई है. इसमें आप तेजी से यात्रा नहीं कर सकते हैं किन्तु इस ई रिक्शा को भीतरी इलाकों में जाने की अनुमति है.

रिक्शा चालकों को ध्यान में रखने योग्य बातें

ई रिक्शा चालकों को कुछ बातें ध्यान में रखनी होगी जोकि इस प्रकार हैं-

  • इस ई रिक्शा को शहर की सड़कों में चलाने के लिए अनुमति नहीं दी गई है. इसका मतलब यह है कि शहर की प्रमुख सड़कों में ये रिक्शा नहीं दिखेंगे.
  • यह मुख्य रूप से है क्योंकि ये ई रिक्शे मोटर वाहन अधिनियम के बाहर रखे गए हैं, और इन ई रिक्शा को चलाने के लिए किसी भी प्रकार के लाइसेंस की आवश्यकता नहीं है.

अन्य पढ़ें –

Ankita

Ankita

अंकिता दीपावली की डिजाईन, डेवलपमेंट और आर्टिकल के सर्च इंजन की विशेषग्य है| ये इस साईट की एडमिन है| इनको वेबसाइट ऑप्टिमाइज़ और कभी कभी आर्टिकल लिखना पसंद है|
Ankita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *