Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
ताज़ा खबर

सेडान, हेचबेक और एसयूवी में अंतर | Difference between Sedan Vs Hachback Vs SUV in hindi

सेडान, हेचबेक  और एसयूवी में क्या अंतर है (Difference between Sedan Vs Hachback Vs SUV in hindi) 

जब भी हम कार खरीदने शोरूम में जाते है, तो हमे कुछ नाम सुनाई पड़ते है, जिसमें से हमे अपना मॉडल सिलैक्ट करना होता है. आपके लिए कौनसी कार बेस्ट है, और उनमे कौनसे फीचर्स होने चाहिए, इसका चयन करना थोड़ा मुश्किल हो जाता है, तो यहाँ आज हम आपके लिए सेडान, हेचबेक और एसयूवी कारो में अंतर लेकर आए है, जो आपको इन कारो के फीचर्स को थोड़ा क्लियर करेगा, जिससे आप अपने लिए आसानी से कार सिलैक्ट करने में आसानी महसूस करेंगे.

SUV vs Hatchback vs Sedan

खरीदने का उद्देश्य (Buying Purpose ) –

सबसे पहले बात करते है, आपके पर्पस की अगर आप रोजाना अपनी कार को बिज़ि रोड पर ड्राइव करते है, तो मेरे हिसाब से आपके लिए हेचबेक  बेहतरीन कार होगी, इन कार को आप आसानी से ड्राइव कर सकते है और जहां चाहे आसानी से पार्क कर सकते है.  इसके बाद आती है, सेडान जो की लंबाई में थोड़ी लंबी होती है, इसलिए आपको इनकी पार्किंग में भी दिक्कत आती है, परंतु यदि आप रोजाना की जगह अपनी फ़ैमिली के साथ कभी कभी या वीक एंड पर कार का उपयोग करते है, तो यह कार आपके लिए बेस्ट होगी, अगर आप हाइवे पर सफर करते है, तब भी यह कार आपके लिए बेस्ट है.

इसके बाद बात आती है एसयूवी की, अगर आपका सफर ऐसे रास्तो पर होता है, जो ठीक नहीं है, तो एसयूवी आपके लिए बेस्ट है, यदि आप भारत के इंटीरिअर इलाको में अधिकतर सफर करते है, तो यह गाड़ी आप ही के लिए है, क्योंकि इसकी उचाई थोड़ी ज्यादा है, जो उबड़खाबड़ रोड पर जमीन से टकराती नहीं है, साथ ही इसके टायर भी बड़े होते है, जो आपको सफर में एक कमफर्ट प्रदान करते है.  

इंजिन पावर एंड माइलेज  (Engine Power and Mileage of Sedan Vs Hachback Vs SUV) – अगर हम बात करें, इंजिन पावर की तो  एसयूवी गाड़ी के इंजिन का पावर सेडान और हेचबेक से थोड़ा ज्यादा होता है, हाँ अगर हम माइलेज की बात करे, तो एसयूवी का माइलेज सेडान और हेचबेक  के मुक़ाबले  कम होता है, पर इनका इंजिन भारी होता है. एसयूवी कार  को आप सेडान और हेचबेक  के मुक़ाबले इंडियन रोड्स पर चलाने में भी कमफर्ट महसूस करेंगे, पर शहरो के अच्छे रोड्स और हाइवे पर सेडान भी अच्छा अनुभव देती है, पर अगर हम प्राइस से कंपेयर करे, तो हेचबेक उसी प्राइस में ज्यादा फीचर्स देती है. अगर हम पेट्रोल या डीजल इंजिन की बात करे, तो तीनों में ही डीजल इंजिन पेट्रोल से ज्यादा बेस्ट है.  

सीटस (Seats of Sedan Vs Hachback Vs SUV Car) –  सीटस की अगर हम बात करे, तो हेचबेक कार की आगे की सीट पीछे के मुक़ाबले ज्यादा कम्फ़र्टेबल होती है. अगर आप केवल दो लोग है, और आपको पीछे के स्पेस का ज्यादा काम नहीं पड़ता है, तो यह कार आपके लिए बेस्ट है. इसके बाद बात करे, सेडान कार  की, तो इसकी सीटस बैठने में कंफरटेबल है, इसमे आप पीछे की सीटस पर भी आराम से बैठकर सफर कर सकते है. इनकी पीछे की सीटस में बैठने के लिए स्पेस के साथ-साथ झुकाव भी अच्छा होता है, जो आपको पीछे की सीट पर भी आराम प्रदान करता है. अब आते है एसयूवी पर तो इसमे आने वाली कार  टाटा नेकसन और क्रेटा जैसी कार  जमीन से थोड़ी उची कार  होती है, जिसमे कोई बुजुर्ग व्यक्ति भी बिना झुके आसानी से बैठ सकता है. इसकी सीटस उची होती है, तो आप इसमे चेयर सीटटिंग पोश्चर में भी आसानी से बैठ सकते है, जिससे आपको लंबी दूरी की यात्रा में भी थकान का अनुभव नहीं होता.    

मैंटेनेंस की कीमत (Maintenance Cost of Sedan Vs Hachback Vs SUV Car) – सेडान और हेचबेक कार  में मैंटेनेंस की कीमत कम लगती है, पर जब हम एसयूवी की बात करे, तो इसकी मैंटेनेंस की कीमत , इन दो मॉडल की अपेक्षा ज्यादा है, पर आप इसको ऐसे भी ले सकते है की आप एसयूवी जैसी कार को टफ रोड पर उपयोग करें, तो मैंटेनेंस की कीमत अन्य के मुक़ाबले अधिक होगी.

ग्राउंड क्लियरेंस (Ground Clearance) – हेचबेक कार 3 दरवाजे या 5 दरवाजे कार  होती है, इनका 1 दरवाजा कार्गो स्पेस बढ़ाते वक़्त स्विंग करके खुलता है, इन कार का ग्राउंड क्लियरेंस इतना अच्छा नहीं होता. इसके बाद अगर हम बात करे, सेडान की, तो यह 4 दरवाजे या कुछ मॉडल में 2 दरवाजे की  कार  होती है, इनका ग्राउंड क्लियरेंस इतना शार्प नहीं होता. परंतु इन सबके विपरीत एसयूवी 4 दरवाजे की  कार  का ग्राउंड क्लियरेंस बहुत अच्छा होता है और इनका सेंटर ऑफ ग्रेविटी भी हाइ होता है.

कार्गो स्पेस / ट्रंक स्पेस (Cargo Space / Trunk Space) –

हेचबेक कार  में कार्गो स्पेस सेडान और एसयूवी की अपेक्षा सबसे कम होता है, परंतु इनके कुछ मॉडल में बेक सीट फोल्डिंग का ऑप्शन उपलब्ध होता है, जिससे आप सीट फ़ोल्ड करके कार्गो एरिया को बढ़ा सकते है. अब बात करे सेडान की, तो इनका कार्गो स्पेस सबसे ज्यादा अच्छा होता है. इन कार  में यह स्पेस नीचे की ओर दबा हुआ होता है, जिससे आपको यहाँ अच्छी जगह मिलती है. इसके बाद बारी आती है, एसयूवी की इनका कार्गो स्पेस भी अच्छा होता है, पर ये सेडान की अपेक्षा कम होता है.

तीनों  मॉडल की प्रचलित कार   ( Sedan Vs Hachback Vs SUV famous Cars) –

हेचबेक – अगर हम हेचबेक कारो की बात करे, तो इस सेगमेंट में आज के समय की सबसे ज्यादा चलने वाली कार मारुति सुजुकी बलेनों है. इस कार की कीमत 5.15 से लेकर 5.30 लाख तक है. इसके बाद हुंडई ग्रैंड आइ-10, मारुति सुजुकी स्विफ्ट, टाटा टियागो और हुंडई एलिट आइ-20 इस सेगमेंट की बेस्ट कार  है. इन सभी कार  की कीमत 5 से 8.5 लाख के मध्य है.

सेडान – अगर हम बात करे सेडान कार  की, तो इसमें मीडियम रेंज में प्रचलित मॉडल मारुति सुजुकी स्विफ्ट डिजायर, होंडा अमेज, हुंडई वरना, होंडा सिटी, मारुति सियाज़ है. इस सेगमेंट की यह सभी कार  8 से लेकर 15 लाख के मध्य रेंज की है.

एसयूवी – एसयूवी कार की कीमत भी 10 लाख से शुरू होकर करोड़ो तक जाती है. हम यहाँ आपको बेसिक कीमत की कुछ एसयूवी का उदाहरण देने जा रहे है. महिंद्रा एक्सयूवी 300, महिंद्रा स्कॉर्पियो, हुंडई क्रेटा, मारुति सुजुकी आर्टिका, टाटा नेक्सोन इन कार  की कीमत भी 8 से लेकर 15 लाख के मध्य है.

इस तरह से इन सभी बातों को ध्यान में रखते हुये आप लोग अपने लिए कार  का बेहतर विकल्प चुन सकते है. 

अन्य पढ़े :

Ankita

Ankita

अंकिता दीपावली की डिजाईन, डेवलपमेंट और आर्टिकल के सर्च इंजन की विशेषग्य है| ये इस साईट की एडमिन है| इनको वेबसाइट ऑप्टिमाइज़ और कभी कभी आर्टिकल लिखना पसंद है|
Ankita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *