Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!

शेयर मार्केट क्या है?

शेयर मार्केट क्या है और कैसे कार्य करता है, कैसे समझें, नियम (What is Share Market in hindi) (Stock Tips, How to invest, 

आज के समय में जीवन की भागदौड़ के दौरान सबसे बड़ी जरूरत पड़ती है पैसे की, और वह जितना अधिक कमाया जाए उतना ही कम है। यदि आप भी शेयर मार्केट में निवेश करने की सोच रहे हैं तो शेयर मार्किट के बारे में आपको पूरी जानकारी होना बेहद जरुरी है। हमारी यह पोस्ट आपको शेयर मार्केट से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारियां विस्तार से प्रदान कर सकती है। और सभी जानकारियों को जानने के बाद आपको शेयर मार्केट में निवेश करने में आसानी होगी। तो आइये सबसे पहले जान लेते हैं शेयर मार्केट है क्या?

share market in hindi

क्या है शेयर मार्केट ? (What is Share Market?)

शेयर मार्केट कंपनियों के लिए धन जुटाने का सबसे अधिक महत्वपूर्ण स्थान है, जहां पर उन्हें ऋण भी प्रदान किया जाता है और वित्तीय सहायता भी प्राप्त होती है। अर्थात यह एक ऐसा स्थान है जहां पर शेयर की खरीद व बिक्री की जाती है जिससे कंपनियों को आसानी से अपने व्यवसाय के विस्तार के लिए वित्तीय सहायता उपलब्ध हो जाती है। इसके अलावा कुछ ऐसे लोग जो कम निवेश में अधिक पैसा कमाने की लालसा में रहते हैं उनके लिए भी यह एक बहुत अच्छी जगह है। यदि आप कम उम्र में शेयर मार्केट में निवेश करते हैं और लंबे समय तक शेयर मार्केट में बने रहते हैं, तो आपको निवेश की गई राशि निर्धारित की गई दर के हिसाब से कहीं अधिक राशि के रूप में प्राप्त हो सकती हैं। खरीदे गए शेयर ऐसी परिस्थितियों में काम आते हैं जब आपको पैसों की बहुत ज्यादा आवश्यकता हो उसके आधार पर आप अपने निवेश की रणनीति की योजना बना सकते हैं।

शेयर खरीद कर आप कंपनी में पैसा लगाते हैं जैसे-जैसे कंपनी की ग्रोथ बढ़ती जाती है वैसे ही आपके निवेश किए गए शेयर की कीमत भी बढ़ती जाती है। इसी के विपरीत जैसे कंपनी को नुकसान का सामना करना पड़ता है तब आपके शेयर की कीमत भी गिर जाती है। बहुत से कारक ऐसे होते हैं जो शेयर की कीमत को प्रभावित करते हैं। परंतु शेयर मार्केट में अच्छा मुनाफा कमाने के लिए लंबे समय तक टिका रहना बहुत आवश्यक होता है।

शेयर बाजार के प्रकार (Share Market Types)

शेयर बाजारों को दो भागों में वर्गीकृत किया जाता है।

  1. प्राथमिक बाजार :- एक कंपनी या सरकार आईपीओ की प्रक्रिया द्वारा प्राथमिक बाजार के जरिए शेयर जारी करते है जिसके बदले में धन इकट्ठा किया जाता है। शेयर बाजार में यदि 200 शेयरों का आवंटन शेयर धारकों को किया जाता है तो वह सार्वजनिक आधार पर शेयर का वितरण माना जाता है और यदि 200 से कम शेयरों का आवंटन धारकों को किया जाता है तो वह निजी प्रणाली के अंतर्गत आता है। इस बाजार में किसी एक कंपनी को निश्चित राशि के शेयर जारी करने और उसके बदले धन जुटाने के लिए पंजीकृत किया जाता है। इस प्रक्रिया को स्टॉक एक्सचेंज में सूचीबद्ध होना भी कहा जाता है।
  2. द्वितीयक बाजार :- प्राथमिक बाजार में शेयरों की खरीदारी व बिक्री होने के बाद उन्हें द्वितीयक बाजार में लाया जाता है। जहां पर शेयर धारक अपने खरीदे हुए शेयर को आगे बेचकर निवेश से बाहर निकलने या शेयर के बदले धन राशि एकत्रित करने का मौका प्राप्त करते हैं। यह बाजार शेयरधारकों के लिए मौजूदा बाजार में शेयरों को उस कीमत पर बेचने की प्रकृति प्रदान करते हैं जिस कीमत पर खरीदने वाला भी सहमत हो। आमतौर पर एक शेयर धारक मध्यस्थों का सहारा अपने शेयर को उचित कीमत पर बेचने के लिए लेते हैं। वे मध्यस्थ इस पूरी प्रक्रिया को सरल और सुविधाजनक बना देते हैं। बाजार में कई तरह के मध्यस्थ मौजूद होते हैं जो अलग-अलग तरह के प्लान निवेशकों के सामने प्रस्तुत करते हैं।

शेयर बाजार में से शेयर कब खरीदें ? (When to Buy Shares in Share Market ?)

इस वित्तीय बाजार में शेयरों को खरीदने का एक निश्चित समय होता है परंतु अब यह बात समझ पाना बहुत मुश्किल होता है कि किस समय आपको शेयर खरीदने चाहिए और किस समय नहीं इस बात की पूरी जानकारी होने के बाद ही आप इसको पूरी तरह समझ सकते हैं। बाजार में आप किसी भी सामान को खरीदने से पहले जिस तरह जांच पड़ताल करते हैं ठीक उसी तरह आपको शेयर मार्केट में भी शेयर खरीदने से पहले पूरी जांच पड़ताल करनी होगी। निवेश बाजार में शेयर्स का क्या हाल-चाल है इसके बारे में पूरी जानकारी आपको न्यूज़पेपर और टीवी पर होने वाले टेलीकास्ट के जरिए मिल सकती है।

शेयर मार्केट में शेयर के रेट में कमी या बढ़ोतरी की पूरी जानकारी जानने के बाद ही आप शेयर मार्केट में इन्वेस्ट करने के बारे में सोचें। कई बार शेयर मार्केट में कुछ लोग धोखाधड़ी करते हैं और इन्वेस्ट करने वाली राशि को लेकर भाग जाते हैं। ऐसे में आपको बहुत ध्यान रखते हुए किसी भी निर्णय तक पहुंचने के लिए पूरी जांच पड़ताल की आवश्यकता होती है।

शेयर बाजार में निवेश कैसे करें ? (How to Invest in Share Market ?)

शेयर बाजार में निवेश करने की प्रक्रिया वैसे तो बहुत सरल है परंतु यदि आपके पास साधारण जमा खाता पहले से मौजूद है और आप शेयर बाजार में निवेश करना चाहते हैं तो इसके लिए आपके पास ट्रेडिंग या डीमेट अकाउंट होना आवश्यक होता है। इस प्रकार के खाते आपके शेयर के लेनदेन को आसान और सुविधाजनक बना देते हैं यह खाता आपकी बचत खाते से ही जुड़ा हुआ होता है। ये खाते क्या होते हैं और इनमे क्या अंतर होता है इस बारे में जानने से पहले आपको यह जान लेना चाहिए कि शेयर बाजार में आप किस प्रकार निवेश कर सकते हैं। निवेश की पूरी प्रक्रिया के बारे में निम्नलिखित चरणों को जानना बेहद जरूरी है।

  • पैन कार्ड या आधार कार्ड प्राप्त करें :- भारतीय बाजार में किसी भी कार्य को पूरा करने के लिए सबसे पहले आपके पास पैन कार्ड या आधार कार्ड मौजूद होना चाहिए। निवेश के लिए बाजार नियामक भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड के साथ जुड़ने औऱ खाता खोलते समय आपको अपने खाते की केवाईसी कराने की आवश्यकता होती है। इसके अलावा सरकार द्वारा डीमेट अकाउंट खोलने के लिए निर्धारित नियमों के अनुसार सब दस्तावेज़ो के साथ आपको खाते से जुड़ा एक कैंसिल चेक और साथ ही अपने खाते का 6 महीने का बैंक स्टेटमेंट जमा कराना आवश्यक होता है।
  • ब्रोकर से संपर्क करें :- शेयर बाजार की यदि आपको पूरी जानकारी नहीं है तो शेयर खरीदने के लिए सीधे शेयर मार्केट में ना जाएं। निवेश के लिए यदि आप किसी दलाल के माध्यम से प्रक्रिया पूरी करेंगे तो आप आसानी से शेयर मार्केट की सभी रणनीतियां समझ पाएंगे। मध्यस्थ या ब्रोकर स्टॉक एक्सचेंज में निवेश व्यापार करने के लिए सेबी द्वारा पंजीकृत या अधिकृत कंपनी या एजेंसी मौजूद होते हैं जो शेयर मार्केट में निवेश करने वाले व्यक्तियों की पूरी तरह से सहायता करते हैं। वे आपकी सहायता के बदले ब्रोकरेज शुल्क या ब्रोकरेज चार्ज लेते है।
  • डीमेट खाता खोलें :- जो आपने शेयर बाजार की पूरी प्रक्रिया को समझ लिया उसके बाद आपको एक डीमेट अकाउंट खोलना होगा, जिसमें आपके सभी खरीदे व बेचे जाने वाले शेयरों की पूरी विस्तृत जानकारी मौजूद होगी।
  • शेयर की खरीद बिक्री :- शेयर बाजार में शेयर की खरीद व बिक्री के बारे में पूरी जानकारी आपको ब्रोकर द्वारा दी जाती है। परंतु उसके लिए भी आपको निवेश का उचित समय व तरीका पता होना अनिवार्य है। आईए जान लेते हैं शेयर बाजार में निवेश के सही तरीके –
  1. शेयर बाजार में राशि निवेश करने से पहले बाजार की सभी परिस्थितियों को अच्छी तरह समझना बेहतर होता है।
  2. अपने लक्ष्य को निर्धारित करें और उसके अनुसार ही रणनीतियां बनाएं। उन शेयर के बारे में पता लगाएं जो निवेश के उद्देश्य से बेचे व खरीदे जा रहे हैं।
  3. बाजार में मौजूद रहते हुए सही समय का आकलन करना सीखें। कोशिश यही रखें कि शेयर को सबसे कम कीमत पर खरीदे और तब तक ना बेचे जब तक आपको उनकी बहुत अधिक आवश्यकता ना हो।
  4. व्यापार में नुकसान की भरपाई से बचें इसलिए हमेशा ब्रोकर के संपर्क में रहें और साथ ही उसके कार्य क्रॉस चेक करते रहे।
  5. सदैव अपने पोर्टफोलियो पर निगरानी रखें और एक ही जगह पर बने रहने की बजाय अपने स्टॉक का सबसे अच्छा और संभव अवसर अवश्य ढूंढते रहे ताकि आप जोखिम से भी बचे रहें।

शेयर मार्केट महत्वपूर्ण क्यों है ? (Why is the Share Market Important?)

किसी भी कम्पनी के विस्तार और विकास के लिए पूंजी महत्वपूर्ण होती है जिसके लिए कम्पनी शेयर मार्केट का सहारा लेती है। शेयर बाजार में बहुत सी कंपनियों द्वारा आईपीओ के माध्यम से शेयरधारकों और आम जनता के बीच शेयर जारी किए जाते हैं और उन शेयरों के बदले में कंपनी द्वारा फंड प्राप्त किया जाता है जिनका उपयोग वे अपनी कंपनी के विकास के लिए और अपनी कंपनी से जुड़े विभिन्न उद्देश्यों को पूरा करने के लिए करते हैं। इस पूरी प्रक्रिया के बाद शेयर जारी करने वाली प्रत्येक कंपनी के नाम आईपीओ के स्टॉक एक्सचेंज की सूची में शामिल कर लिए जाते है जिसके जरिए कोई भी कंपनी या कोई भी व्यक्ति कंपनी का निवेशक आसानी से बन सकता है इस प्रक्रिया के दौरान कंपनी की दृढ़ता को बनाए रखने में सहायता मिलती है। शेयर बाजार में निवेशक और व्यापारी अपनी जरूरतों के अनुसार उत्पाद का चयन करने में सक्षम होते हैं। यह एक ऐसा सरल प्लेटफार्म है जहां पर कोई भी आम व्यक्ति या व्यापारी अपने जीवन के लक्ष्यों को पूरा करने के लिए आसानी से शेयर धारक बन सकता है और अपनी मनचाही राशि निवेश कर सकता है। अपनी जरूरतों के हिसाब से और बाजार की तरलता के हिसाब से आप इन्हें किसी भी समय बेच व खरीद भी सकते हैं। इस बाजार में आसानी से लाभांश भी कमाया जा सकता है जिसके 3 तरीके निम्नलिखित हैं। आइए जानते हैं इनके बारे में विस्तार से –

  1. लाभांश :- लाभांश वह राशि है जो एक कंपनी द्वारा अपनी मेहनत से कमाई जाती है और इस कमाई हुई धनराशि को कंपनी के साथ जुड़े हुए सभी शेयरधारकों के बीच में नकदी के रूप में वितरित कर दिया जाता है।
  2. पूंजी वृद्धि :- आज के समय में कम साधनों से अधिक पैसे कमाने की होड़ लगी है जिसके चलते यदि कोई अच्छा स्थान ढूंढा जाए तो वह सबसे अच्छा स्थान शेयर बाजार है। जहां पर आपके मेहनत से कमाई गई पूंजी को कम समय में ही अधिक मात्रा में बढ़ाया व घटाया जा सकता है। आज के युवाओं के लिए कम समय में पैसा कमाने का सबसे अच्छा साधन निर्धारित राशि के रूप में इक्विटी में निवेश करना है। जहां आसानी से आप अपनी लगाई हुई पूंजी पर अच्छी वृद्धि प्राप्त कर सकते हैं। यदि आप एक व्यापारी हैं तो आप अपने निवेश के बदले एक अच्छी आय प्राप्त कर सकते हैं और अपने लाभांश को धन के रूप में कई हिस्सों में बांड और इक्विटी के रूप में निवेश कर सकते हैं।
  3. शेयर वापस खरीदना :- कभी-कभी कुछ परिस्थितियों की वजह से कंपनियों को अपने आवंटित किए गए शेयरों को वापस शेयरधारकों से खरीदने की आवश्यकता पड़ जाती है। ऐसे समय में शेयरधारकों को एक उचित मूल्य की प्राप्ति हो जाती है।

शेयर मार्केट में ध्यान रखने वाली जरूरी बातें (Share Market’s Some Important Points)

शेयर मार्केट में निवेश करने से पहले आपको शेयर मार्केट से जुड़े कुछ जरूरी नियम और जरूरी बातें जान लेना बेहद जरूरी हो जाता है :-

  1. सीखे तब आगे बढ़े :- किसी भी काम को बखूबी करने के लिए सबसे पहले उसको अच्छी तरह सीखना बेहद जरुरी होता है नहीं तो हम उस काम में असफल हो जाते हैं। शेयर मार्केट में प्रवेश करने से पहले आपको शेयर मार्केट के सभी नियम कायदे व कानून जान लेना बेहद जरूरी होता है।
  2. पूरी खोज बीन करे :- अक्सर देखा जाता है कि आप किसी भी चीज के बारे में खोज बीन करने से कतराते होंगे। परंतु निवेश के मामले में किसी भी प्रकार का जोखिम उठाना सही नहीं है क्योंकि यह आपकी मेहनत से कमाई हुई वह राशि है जिसे आप निवेश बाजार में शेयर खरीदने के लिए इस्तेमाल करने वाले हैं।
  3. खोजबीन करने के बाद योजना बनाएं :- पूरी तरह से सभी आंकड़े जुटाने के बाद आपको आगे किस तरह से काम करना है उसके लिए आपको पहले से ही प्लान करना बेहतर रहता है। क्योंकि योजनाबद्ध तरीके से चलने से आप कभी भी असफल नहीं होंगे।
  4. सभी आधार भूत जानकारियाँ प्राप्त करें :- एक अच्छा निवेशक बनने के लिए यह बेहद जरूरी है कि आपको शेयर बाजार से जुड़ी सभी आधार भूत जानकारियाँ विस्तार से मालूम होनी चाहिए।
  5. जोखिमों को समझे :- शेयर बाजार में कुछ ऐसे लोग होते हैं जिनके बारे में यदि आपको पूरी जानकारी ना हो तो आप नुकसान का सामना कर सकते हैं इसलिए शेयर बाजार में निवेश करने से पहले वहां से जुड़े सभी जोखिमों के बारे में आपको विस्तार से पता होना चाहिए। उन जोखिम से घबराकर आपको कभी भी जल्दबाजी में कोई फैसला नहीं लेना चाहिए।

Other links –

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *