रानू मंडल का जीवन परिचय

रानू मंडल का जीवन परिचय (Singer Ranu Mondal Biography in hindi)

“प्रतिभा और हुनर परिस्थिति और उम्र की मोहताज नहीं होती”, मशहूर गायिका रानू मंडल ने इस कथन को सच साबित कर दिखाया है । 59 साल की उम्र में अपनी कला के माध्यम से लोगों के दिलों को जीत लेने वाली रानू मंडल को आज के समय में करोड़ों लोगों के द्वारा पसंद किया जाने लगा है।  हर कोई आज उनकी आवाज़ का दीवाना बन चुका है। यही वजह है कि आज हर एक व्यक्ति रानू मंडल की जिंदगी से जुड़ी जानकारियों को हासिल करना चाहता है। इसलिए आज हम आपको इस पोस्ट के माध्यम से रानू मंडल की जिंदगी से जुड़ी हर एक बात बताएँगे।

ranu mandal biography in hindi

रानू मंडल का परिचय (Ranu Mondal Introduction)

परिचय बिंदु परिचय
पूरा नाम (Full Name) रानू मारिया मंडल
अन्य नाम (Other Name) रानू बॉबी
निक नाम (Nick Name) रणघाट की लता
पेशा (Profession) गायिका
शैली (Genre) मधुर गाने
जन्म (Birth) 5 नवंबर, 1960
उम्र (Age) 59 साल
जन्म स्थान (Birth Place) कार्तिक्पारा, कृष्णनगर, पश्चिम बंगाल
राष्ट्रीयता (Nationality) भारतीय
गृहनगर (Hometown) रणघट, पश्चिम बंगाल
जाति (Caste) ईसाई
खाने में पसंद (Food Habit) मांसाहारी
पसंद (Hobbies) गाना गाना
शैक्षिक योग्यता (Educational Qualification)    –
वैवाहिक स्थिति (Marital Status) विवाहित
पसंदीदा गायक (Favourite Singers) मोहम्मद रफ़ी, मुकेश, लता मंगेशकर
प्रेरणा स्त्रोत (Role Model) लता मंगेशकर
बालों का रंग (Hair Color) काला
आँखों का रंग (Eye Color) काला

रानू मंडल का शुरुवाती जीवन (Early Life)

रानू मंडल एक बॉलीवुड गायिका हैं जिनका जन्म पश्चिम बंगाल के कृष्णा नगर में हुआ था। जन्म के महज 6 महीने बाद ही अपने माता पिता को खो देने वाली रानू मंडल का बचपन राणाघाट में बीता। बॉलीवुड सिंगर बनने से पहले वह एक आम गरीब महिला थी, जो धन कमाने के लिए रेलवे स्टेशन पर बॉलीवुड गाने गाकर भीख मांगा करती थी। बचपन से ही बॉलीवुड गाने सुनने की शौकीन रानू मंडल मोहम्मद रफी, मुकेश और लता मंगेशकर के साथ-साथ कई अन्य मशहूर गायकों के गाने सुनना पसंद करती हैं। उनके इसी शौक ने उन्हें आज एक ऐसे मुकाम पर लाकर खड़ा कर दिया है जहां पर पूरी दुनिया उन्हें जान चुकी है।

 रानू मंडल के परिवार की जानकारी (Ranu Mondal Family Details)

ईसाई धर्म से संबंध रखने वाली रानू मंडल के पिता आदित्य कुमार फेरी लगाया करते थे, वही उनकी माता एक गृहणी थी। 19 साल की उम्र में उनकी शादी बबलू मंडल के साथ हुई थी, परंतु वर्ष 2009 में उनके पति बबलू का देहांत हो गया। पहले पति से उनकी एक बेटी और एक बेटा था। अपने पहले पति की मृत्यु के बाद रानू मंडल ने दूसरी शादी रचाई, जिससे उनकी एक बेटी हुई। जीवन में किसी ने भी उनका साथ नहीं दिया, इसलिए अपने जीवन यापन के लिए वह छोटे-मोटे काम किया करती और रेलवे स्टेशन पर गाना गाकर भीख मांगा करती थी। उनकी गरीबी को देखते हुए उनकी बेटी ने भी उनके भीख मांगने की वजह से उन्हें छोड़ दिया था।

पिता का नाम (Fathers Name) स्वर्गीय श्री आदित्य कुमार (फेरीवाले)
माता का नाम (Mothers Name)  –
पति का नाम (Husband Name) पहला पति : बब्लू मोंडल (मृत्यु)

दूसरा पति :    –

बेटे (Son) 2
बेटी (Daughter) 2 (एक का नाम एलिज़ाबेथ साठी रॉय)

कैसे रानू मंडल रातों रात स्टार बन गई?

रानू मंडल के करियर की शुरुआत छोटे-मोटे काम करने से हुई थी। मुंबई में अपने पति के साथ रहकर छोटे-मोटे काम करने के बाद उन्हें एक क्लब में गाने का मौका मिला। कुछ वक्त तक क्लब में गाना गाने का काम करने के बाद, जब उनके पति ने उन्हें गाने गाने से मना किया, तो वह अपने घर राणाघाट लौट आई। राणाघाट लौटने के कुछ समय बाद ही उनके पति की मृत्यु हो गई।

पति की मृत्यु के बाद उनका जीवन गरीबी में गुजरने लगा। अपना गुजर-बसर करने के लिए रानू मंडल ने रेलवे स्टेशन पर गाने गाना शुरू किया। स्टेशन पर गाना गाने वाली रानू मंडल की सुरीली आवाज को एक दिन एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर अतिंद्र चक्रवर्ती ने पहचाना और उनकी आवाज में एक गाने को रिकॉर्ड कर उसे सोशल मीडिया पर डाल दिया। सिर्फ एक छोटे से वीडियो ने रातों-रात रानू मंडल को पूरे देश में मशहूर कर दिया. उन्होंने उस वीडियो में एक प्यार का नगमा गाना अपनी आवाज में गाया, जिसे सुनकर आम लोग ही नहीं बल्कि सेलेब्रिटीज भी उनके कायल हो गए। अपनी इतनी प्यारी आवाज से मात्र एक रात के समय में उन्होंने दुनिया भर में अपना नाम फैला दिया।

रानू मंडल का करियर (Ranu Mandal Career)

 रानू मंडल का एक छोटा सा वीडियो सोशल मीडिया पर इस कदर वायरल हुआ कि उन्हें पल भर में सुपरस्टार बनने में देर नहीं लगी। वह वीडियो तो उनके सुरीले सफ़र की सिर्फ शुरुआत थी, बाद में उन्हें उनकी सुरीली आवाज के लिए हिमेश रेशमिया द्वारा  रियलिटी शो में आमंत्रित किया गया। जहां अपनी आवाज़ का दीवाना उन्होंने उस शो में बैठे हर इंसान को बना दिया और साथ ही वहां पर मौजूद जज लोगों ने भी उनके लिए तालियां बजाकर उनकी प्रशंसा की। इस शो के बाद उन्होंने बॉलीवुड सुपरस्टार और सिंगर हिमेश रेशमिया की अपकमिंग फिल्म “हैप्पी हार्डी और हीर” फिल्म के गाने की कुछ पंक्तियां अपनी आवाज में गाई। आम से खास बनने का सफर उनका बेहद उम्दा नजर आ रहा है। उनके द्वारा गाई गई गाने की कुछ पंक्तियां ही एक बार फिर से लोगों के बीच वायरल हो गई, जिसे लोगों के द्वारा काफी ज्यादा पसंद किया गया। इस गाने के बाद रानू मंडल को अलग-अलग म्यूजिक डायरेक्टर्स के द्वारा गाने गाने के ऑफर मिलने लगे।

कंट्रोवर्सी (Controversy)

  • रानू मंडल की छोटी बेटी जिसे रानू मंडल ने बहुत मुश्किल से पाल पोस कर बड़ा किया था, वह जब बड़ी हुई तो उसे अपनी मां की गरीबी रास नहीं आई जिसकी वजह से उनकी बेटी अपनी मां का साथ छोड़कर हमेशा के लिए उनसे दूर चली गई। परंतु जब रानू मंडल रातोरात स्टार बन गई और उनकी बेटी को अपनी मां के स्टार बनने की खबर का पता चला तो वह अपनी मां के पास वापस लौट आई। काफी लंबे समय के बाद अपनी मां के पास वापस आने वाली उनकी बेटी के व्यवहार की मीडिया और अन्य लोगों ने काफी आलोचना की। इन सबके बाद रानू मंडल की बेटी ने मीडिया के सामने यह बयान दिया कि वे इस बात से बिलकुल बेखबर थी कि उनकी मां राणाघाट स्टेशन पर गाना गाकर और भीख मांगकर अपनी दिनचर्या चलाती है।
  • रानू मंडल के स्टार बनने के बाद एक खबर यह भी आ थी कि सलमान खान ने उनकी गायकी से खुश होकर उन्हें लाखों का घर गिफ्ट में दिया है. यह न्यूज़ बहुत वायरल हुई थी, लेकिन कुछ समय बाद रानू मंडल जी के मेनेजर ने इस बात का पूर्ण खंडन किया, और कहा सलमान से रानू जी कभी नहीं मिली है.

रानू मंडल की अचीवमेंट (Achievements)

 रानू मंडल ने आज तक अपने जीवन में कड़े संघर्ष किए, जिसके बाद उन्हें अब ऐसी सफलता प्राप्त हुई है जिसे देख कर दुनिया की आँखें भी चकाचौंध हो गई है। उनके एक वायरल वीडियो ने उन्हें रातों रात पूरे दुनिया का स्टार बना दिया उनका खुद कहना है कि उन्हें इस जीवन में दूसरा जन्म मिला है। आज उनके जीवन की सबसे बड़ी सफलता यह है कि वह बॉलीवुड की एक बड़ी सिंगर बन चुकी है। बॉलीवुड में उनकी आवाज़ से उन्हें पहचाना जाने लगा है और उन्हें लता मंगेशकर की संज्ञा दी जाने लगी है। यह उनके जीवन की सबसे बड़ी अचीवमेंट है। यह देखना दिलचस्प होगा कि बॉलीवुड उन्हें किस तरह अपनाकर उनकी कला को ग्रहण करेगा.

रानू मंडल से जुड़े रोचक तथ्य (Unknown facts about Ranu Mandal)

  • रानू मंडल का जन्म पश्चिम बंगाल के एक गरीब परिवार में हुआ था।
  • जब रानू मंडल मुंबई के एक क्लब में गाने गाया करती थी तब लोग उन्हें “रानू बॉबी” के नाम से जानते थे।
  • रानू मंडल के पहले पति बबलू मंडल फिरोज खान के घर में रसोइए का काम किया करते थे।
  • वर्ष 2019 में 26 साल के एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर अतिंद्र चक्रवर्ती ने पहली बार रानू मंडल की आवाज को पहचाना और उनकी वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर डाल दिया जिसके बाद वह वीडियो लोगों के बीच काफी ज्यादा वायरल हुआ। इस वीडियो के वायरल होने के बाद ही रानू मंडल को उनकी पहचान मिली।
  • सबसे पहले रानू मंडल की सुरीली आवाज के वीडियो को पहली बार फेसबुक पेज “बरपेटा टाउन द पैलेस ऑफ पीस” नामक पेज पर अपलोड किया गया था। इस वीडियो का जलवा इतना था कि मात्र 24 घंटे के अंदर 5 मिलियन लोग इस वीडियो को देखकर रानू मंडल की आवाज को सुन चुके थे और उनके कायल हो गए थे।
  • रानू मंडल के बारे में जानकारियाँ साझा करते हुए अतिंद्र चक्रवर्ती ने ऐसा बताया कि जब वह अपने दोस्तों के साथ प्लेटफार्म नंबर 6 पर समय बिता रहे थे तभी उनकी कानों में रेडियो पर मोहम्मद रफी के द्वारा गाए गए एक गाने की आवाज सुनाई दी। जब वह नजदीक पहुंचे तो उन्होंने देखा कि एक महिला रेलवे प्लेटफार्म पर बैठकर अपनी सुरीली आवाज में गाने गुनगुना रही थी। जिसके बाद उन्होंने उस महिला से एक गाना सुनाने की अपील की और उन्होंने एक गाना हमें सुनाया। उनकी मधुर आवाज को सुनकर मैं आश्चर्यचकित रह गया।
  • रानू मंडल का पहला वीडियो सोशल मीडिया पर अपलोड होते ही लोगों ने उनकी तारीफ करनी शुरू कर दी और सामने से उनको खाना उपलब्ध कराने में सहयोग किया।
  • रानू मंडल की लोकप्रियता ने जिला प्रशासन का ध्यान भी अपनी ओर आकर्षित किया। जिसके बाद खंड विकास पदाधिकारी ने रानू मंडल को 14 अगस्त 2019 को कन्याश्री दिवस के मौके पर आमंत्रित किया और इस बात को सुनिश्चित किया कि रानू मंडल को हर संभव सहायता मिले।
  • रानू मंडल मशहूर गायिका लता मंगेशकर को अपना आदर्श मानती है।
  • लोगों के बीच लाइमलाइट में आने के बाद आज लोग उन्हें राणाघाट की लता मंगेशकर के तौर पर भी जानने लगे हैं।
  • रानू मंडल को पहली बार जब रियालिटी शो सुपरस्टार सिंगर में अतिथि के तौर पर निमंत्रित किया गया तब उसके बाद उनके जीवन से जुड़े कई सारे सवाल सामने आए। ऑनस्क्रीन रियलिटी शो के मंच पर शो के होस्ट जय भानुशाली ने उनसे एक सवाल पूछा जिसका जवाब सुनकर वहां बैठे सबकी आंखें नम हो गई। उन्होंने उनसे पूछा  कि “आपके रेलवे स्टेशन पर बैठकर इस तरह गाना गाने की क्या  वजह है। तब उन्होंने जवाब दिया कि उनके पास रहने के लिए कोई छत नहीं है। इसके साथ ही साथ जीविका चलाने का भी कोई दूसरा साधन नहीं है जिसकी वजह से वह स्टेशन पर ही गाना गाकर अपना जीवन यापन किया करती है।“ उनके मुताबिक जब कभी वह गाना गाती थी तब लोग उनके गाने को सुनकर उन्हें बिस्किट खाना या फिर पैसे दे दिया करते थे।
  • मीडिया में जिस तरह की खबरें फैलाई जा रही है उनके अनुसार ऐसा बताया गया है कि हिमेश रेशमिया जिन्होंने रानू मंडल को बॉलीवुड में आने का मौका दिया और एक सिंगर बनाने की ठान ली है उन्होंने उनके पहले गाने की पेशकश के रूप में उन्हें 6 से 7 लाख की राशि प्रदान की है।
  • एक इंटरव्यू के दौरान रानू मंडल ने लोगों के सामने इस बात को रखा था कि उनके वीडियो के वायरल हो जाने के बाद वह अपनी बेटी से मिल पाने में कामयाब हुई। इसके साथ ही साथ उन्होंने ऐसा भी कहा कि उन्हें दूसरी जिंदगी मिली है और वह इस जिंदगी को अच्छा बनाने की हर संभव कोशिश करेंगी।
  • रानू मंडल की कहानी अमेरिका के मशहूर ऑथर टेड विलियम्स की कहानी से मिलती-जुलती है। रानू मंडल की तरह ही टेड विलियम्स की आवाज ने भी लोगों ध्यान को अपनी ओर आकर्षित किया था।
  • रानू मंडल की आवाज को सुनकर जब उनकी तुलना लता मंगेशकर के साथ की गई तो उन्होंने उस बात पर जवाब देते हुए बस यही कहा कि अगर मेरे नाम और उनके काम को मिलाकर उन्हें कुछ कामयाबी मिलती है और उनके जीवन में उन्हें कोई खुशी मिलती है तो मुझे इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता बल्कि मैं खुद को इसके लिए खुशकिस्मत समझती हूं। परंतु इसके आगे बोलते हुए उन्होंने यह भी कहा कि किशोर कुमार, रफी साहब, मुकेश या फिर आशा भोसले  के गानों को अपनी आवाज में गाकर कोई भी कलाकार कुछ समय के लिए लोगों की ध्यान अपनी ओर आकर्षित कर नाम कमा सकता है परंतु वह ज्यादा समय तक नहीं टिकेगा।

Other links –

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *