सोशल मीडिया अकाउंट को हैक होने से कैसे बचायें | How to Prevent Social Media Account Hacking in Hindi

सोशल मीडिया अकाउंट को हैक होने से कैसे बचायें, (How to Prevent Social Media Account, Hacking in Hindi) (Protect from Hackers Attacks, App)   

आज के समय में बहुत बड़ी संख्या में लोग सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल कर रहे हैं और आज के समय में बहुत सारे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म बिल्कुल निशुल्क में उपलब्ध है. जो लोग सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल करना जानते हैं, अपने सोशल मीडिया अकाउंट को सुरक्षित रखने के विषय में भी जानकारी को अवश्य जाना चाहिए. आज के समय में बहुत सारे हैकर मौजूद है, जो आपके सोशल मीडिया अकाउंट को हैक कर सकते हैं और आपका सारा डाटा लीक कर सकते हैं. यदि आप अपने सोशल मीडिया अकाउंट को हैक होने से बचाना चाहते हैं, तो आज का हमारा यह लेख अवश्य पढ़ें.

protect your social media account in hindi

DODO DROP फाइल शेयरिंग एप्प का इस्तेमाल करके कैसे फाइल शेयर कर सकते हैं जानिए.

सोशल मीडिया अकाउंट को हैक होने से बचाने के तरीके

यहां पर कुछ ऐसे तरीके हम आज आपको बताने वाले हैं, जिसके जरिए आप अपने सोशल मीडिया अकाउंट को हैक होने से बचा सकते हैं. सोशल मीडिया अकाउंट को हैक होने से बचाने के इस प्रकार से निम्न तरीके बताए गए हैं.

सोशल मीडिया अकाउंट के लॉगिन पासवर्ड को स्ट्रांग बनाएं :-

जब हम किसी भी नए सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर अपना अकाउंट बनाए, तो सबसे पहले हमें अपने उस मीडिया प्लेटफॉर्म के अकाउंट में स्ट्रांग पासवर्ड को बनाना चाहिए. स्ट्रांग पासवर्ड बनाया हुआ कभी भी आसानी से हैक नहीं किया जा सकता है. स्ट्रांग पासवर्ड बनाने के दौरान हमें अल्फाबेट लेटर, न्यूमेरिकल लेटर और कुछ स्पेशल करैक्टर का भी इस्तेमाल करना चाहिए.अगर हम इन चीजों को ध्यान में रखकर अपना पासवर्ड बनाएंगे, तो हमारा पासवर्ड काफी स्ट्रांग बनेगा और आसानी से हैक नहीं होगा.

थोड़े समय के अंतराल में पासवर्ड अपडेट करते रहे :-

अक्सर हम बहुत सारे डिवाइस में अपने सोशल मीडिया अकाउंट को लॉगइन करके रखते हैं और उसका इस्तेमाल करते रहते हैं, परंतु एक बार स्ट्रांग पासवर्ड बनाने के बाद इसे ऐसे ही नहीं छोड़ देना चाहिए. हमें समय-समय पर अपने सभी प्रकार के सोशल मीडिया अकाउंट के पासवर्ड को बदलते रहना चाहिए, ताकि किसी भी अकाउंट में यदि वह लॉगिन हो तो वह आटोमेटिक पासवर्ड अपडेट होने की वजह से किसी अन्य व्यक्ति के द्वारा आसानी से एक्सेस ना किया जा सके. इस प्रकार से हम अपने सोशल मीडिया अकाउंट को हैक होने से बचा सकते हैं.

कोरा क्या है और इसका उपयोग कैसे कर सकते हैं, जानिए पूरी प्रक्रिया.

टू फैक्टर ऑथेंटिकेशन इनेबल करें :-

ज्यादातर सोशल मीडिया अकाउंट टू फैक्टर ऑथेंटिकेशन का फीचर देते हैं, इस फीचर के वजह से हमारा कोई भी व्यक्ति आसानी से सोशल मीडिया अकाउंट आसानी से हैक नहीं कर सकता. इस सिक्योरिटी फीचर को इनेबल करने से हम जब भी अपने अकाउंट में लॉगिन करेंगे, तब हमारे पंजीकृत मोबाइल नंबर पर लॉगइन करने के लिए वन टाइम पासवर्ड भेजा जाता है और तब जाकर हम अपने अकाउंट को वेरीफाई करने के बाद इस्तेमाल कर सकते हैं. इसीलिए हमें अपने सभी सोशल मीडिया अकाउंट में टू फैक्टर ऑथेंटिकेशन वाले फीचर को इनेबल करके रखना चाहिए.

सोशल मीडिया अकाउंट के लिए अलग ईमेल आईडी का इस्तेमाल करें :

अक्सर हम अपने पर्सनल में इस्तेमाल होने वाली ईमेल आईडी का उपयोग अपने सोशल मीडिया अकाउंट को बनाने में करते हैं, परंतु यह बिल्कुल भी सही नहीं है. पर्सनल में इस्तेमाल होने वाली ईमेल आईडी में हम अपने सभी दस्तावेज या फिर पर्सनल चीजों को सुरक्षित रखते हैं और यदि हम इसे अपने सोशल मीडिया अकाउंट को बनाने में इस्तेमाल करेंगे, तो जब हमारे सोशल मीडिया अकाउंट होगा, तब हमारे इस ईमेल आईडी को भी है किया जा सकता है और हमारा सारा प्राइवेट डाटा आसानी से हैकर के द्वारा लीक किया जा सकता है. इसीलिए हमें कभी भी सोशल मीडिया अकाउंट को बनाने के लिए एक अलग से ईमेल आईडी को बनाकर इस्तेमाल करना चाहिए वैसे भी ईमेल आईडी बिल्कुल निशुल्क में बनती है, तो ज्यादा मत सोचिए.

डिजिटल मार्केटिंग क्या है इससे आप करोड़ों में कमाई कैसे कर सकते हैं जानिए.

किसी भी सस्पिशंस लिंक पर क्लिक ना करें :-

आजकल हैकर बहुत ही स्मार्ट तरीके से लोगों के गैजेट और उनके सोशल मीडिया अकाउंट को हैक कर रहे हैं. सबसे चालाक है कर कुछ कोडिंग के द्वारा आपको एक ई-मेल पर या फिर मैसेज के माध्यम से या किसी अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के जरिए लिंक शेयर करते हैं. इस लिंक में वह ऐसी बातें लिखते हैं, जिसको आप क्लिक करने के लिए मजबूर हो जाते हैं.अब जब आप ऐसे लिंक पर क्लिक करते हैं, तो आपको बिना पता लगे आपका डिवाइस या फिर आपका सोशल मीडिया अकाउंट हैंग हो जाता है.जब तक आप को इस विषय पर अच्छे से जानकारी पता लगेगी, तब तक आपका सारा डाटा हैकर द्वारा चुरा लिया गया होगा, इसीलिए आपको ऐसे सस्पिशंस लिंक को बिल्कुल क्लिक नहीं करना है. एचटीटीपीएस जरिए बनाया गया लिंक विश्वसनीय होता है और आपको ऐसे ही लिंग का इस्तेमाल करना चाहिए.

रिमेंबर पासवर्ड का इस्तेमाल ना करें :-

अक्सर हम जब किसी भी ब्राउज़र में अपने किसी भी प्रकार के अकाउंट को लॉगइन करते हैं तब उस दौरान हमें यूजर नेम और पासवर्ड दर्ज करने के बाद सेव और नेवर का विकल्प दिखाई देता है, मतलब कि यह आपसे पूछता है, कि आपका पासवर्ड आपके लॉगइन के रिमेंबर में रखा जाए या फिर नहीं यदि आप सेव कर देते हैं, तो आसानी से कोई भी आपके ब्राउज़र को हैक करके आपके सभी प्रकार के अकाउंट को एक्सेस कर सकता है, क्योंकि ऑलरेडी आपने उस ब्राउज़र में अपने अकाउंट को लॉगइन किया हुआ है, तो ऑटोमेटिक सारा पासवर्ड इसमें सुरक्षित हो जाएगा, जब तक आप इसमें नेवर के विकल्प का इस्तेमाल नहीं करेंगे, तब तक इसीलिए हमें इस सिचुएशन में नेवर के विकल्प का ही इस्तेमाल करना चाहिए.

फेसबुक का अकाउंट बनाने एवं डिलीट करने का तरीका जानिए.

समय-समय पर ब्राउज़र के हिस्ट्री को डिलीट करते रहें :-

जब हमें किसी भी प्रकार की चीज की जानकारी चाहिए होती है, तब हम अपने गैजेट में मौजूद ब्राउज़र का इस्तेमाल करते हैं और फिर ब्राउज़र के सहारे ही सारा डाटा देख पाते हैं. इसके अतिरिक्त हम अपने सोशल अकाउंट को भी इस्तेमाल करने के लिए ब्राउज़र में ही इसका लॉगइन करते हैं. ब्राउज़र में हम जितने भी काम करेंगे वह सभी ऑटोमेटिक ब्राउज़र के हिस्ट्री में सेव होता रहता है और जब कोई हैकर हमारे ब्राउज़र को हैक कर लेगा, तब वह आसानी से हमारे सारे सर्च हिस्ट्री और लॉगइन डीटेल्स को देख सकता है.इसीलिए हमें समय-समय पर अपने ब्राउज़र के हिस्ट्री को डिलीट करते रहना चाहिए या फिर किसी भी सोशल मीडिया अकाउंट को एक्सेस करने के लिए सिक्योर और प्राइवेट फीचर के माध्यम से ब्राउज़र में लॉगइन करना चाहिए.

अलग-अलग सोशल मीडिया अकाउंट का अलग-अलग पासवर्ड बनाएं :

अक्सर हम जितने भी सोशल मीडिया अकाउंट इस्तेमाल करते हैं, उनका सेम पासवर्ड रखते हैं, जो कि यह बिल्कुल भी सही नहीं है. हमें जितने भी सोशल मीडिया अकाउंट बनाने हैं, उनका अलग-अलग पासवर्ड रखना चाहिए, ताकि कोई भी यदि सोशल मीडिया अकाउंट हैक होता है, तो दूसरा सोशल मीडिया अकाउंट हैक ना हो सके.अलग-अलग सोशल मीडिया अकाउंट का पासवर्ड रखने से हमारा कोई भी सोशल मीडिया अकाउंट आसानी से हैक नहीं हो सकता है.

गूगल क्या है एवं इसका इतिहास और विकास कैसे हुआ जानिए पूरी जानकारी.

एंटीवायरस का इस्तेमाल करें :-

यदि आप लैपटॉप या फिर डेक्सटॉप का इस्तेमाल करते हैं, तो आपको अपने कंप्यूटर में एंटीवायरस को अवश्य रखना चाहिए. एंटीवायरस हमारे सिस्टम को समय-समय पर वायरस जैसे खतरों से स्कैनिंग देता है और यदि कोई वायरस हमारे सिस्टम को इनफेक्टेड करता है, तो इसकी जानकारी वह हमें देगा और अपने आप एंटी वायरस वायरस से भी लड़ेगा. जब आपके डांटा को सुरक्षित रखने में आपकी सहायता करेगा.

लॉग आउट करें :-

अक्सर हम अपने डिवाइस में किसी भी प्रकार के सोशल मीडिया अकाउंट या फिर किसी अन्य अकाउंट को लोगिन करने के बाद उसे लॉगआउट नहीं करते हैं. ऐसे में कोई भी व्यक्ति बड़ी ही आसानी से हमारे अकाउंट को हैक कर सकता है. इसीलिए हमें समय-समय पर अपने सोशल मीडिया अकाउंट को लॉगआउट कर देना चाहिए और बार-बार लॉगिन नहीं रखना चाहिए.

जानिए गूगल ड्राइव क्या है, इसका उपयोग कैसे करते हैं, और कैसे इसमें फाइल सेव रहती है.

किसी भी थर्ड पार्टी एप्स को एक्सेस ना दें :-

अक्सर कई सारी थर्ड पार्टी एप्लीकेशन अपने प्लेटफार्म पर किसी अन्य सोशल मीडिया अकाउंट को लोगिन करने की अनुमति प्रदान करते हैं. इस प्रकार के थर्ड पार्टी एप्लीकेशन आप को बिना पता चले आपके सारे जानकारी को देखते हैं और उसका इस्तेमाल भी करते हैं, इसीलिए हमें किसी भी प्रकार के थर्ड पार्टी एप्लीकेशन में अपने किसी भी प्रकार के सोशल मीडिया अकाउंट को लॉगिन नहीं देना है या यूं कहें कि उनको एक्सेस नहीं प्रदान करना है.

लेटेस्ट वर्जन को इस्तेमाल करें :-

जितने भी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म मौजूद है और जितने भी हम सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के एप्लीकेशन को या फिर उनके अधिकारिक वेबसाइट को इस्तेमाल करते हैं, वे सभी सिक्योर होते हैं और एप्लीकेशन समय-समय पर अपडेट होते रहते हैं. इसीलिए हमें हमेशा लेटेस्ट वर्जन के सोशल मीडिया एप्लीकेशन को इस्तेमाल करना चाहिए और जब हमें कोई नया अपडेट मिले, तो हमें तुरंत ही अपने पुराने वर्जन को नया वर्जन में अपडेट कर देना चाहिए.

गूगल वर्चुअल विजिटिंग कार्ड क्या है : जानिए इसे बनवाने का आसान तरीका.

पब्लिक वाईफाई को इस्तेमाल ना करें :-

आज जमाना बहुत ही अपडेट हो गया है और लगभग सभी प्रकार के कार्य को करने के लिए इंटरनेट का ही सहारा लेना पड़ता है. लिहाजा इस दृष्टिकोण से आज हर पब्लिक प्लेस पर आपको वाईफाई मिल जाएगा. रेलवे स्टेशन, मेट्रो स्टेशन, लाइब्रेरी, चौक चौराहे और एयरपोर्ट जैसे पब्लिक प्लेस में बिल्कुल निशुल्क में वाईफाई को उपलब्ध करवाया जाता है. अक्सर फ्री के चक्कर में लोग अपने प्राइवेसी और सिक्योरिटी को नजरअंदाज कर देते हैं और इस वजह से वह फ्री के वाईफाई का इस्तेमाल करते हैं. फ्री के वाईफाई में कई लोग जुड़े होते हैं और सबका ip-address वहां पर एक साथ मौजूद होता है, जब कोई एक स्मार्ट है, कर उस वाईफाई से जुड़ता है तो वह किसी भी ip-address के जरिए आप के गैजेट को हैक कर सकता है. ऐसे जगहों पर कब आपका वाईफाई के जरिए गैजेट हैक जाएगा इसके बारे में आपको पता ही नहीं चलेगा, इसीलिए हमें कभी भी पब्लिक वाईफाई का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए.

साइबर कैफे के जगहों पर अपने अकाउंट को लॉगइन ना करें :-

साइबर कैफे जैसी जगहों पर बहुत सारे लोग अपने अलग-अलग कार्यों को करने के लिए एक ही सिस्टम को इस्तेमाल करते हैं. साइबर कैफे में इस्तेमाल होने वाले सिस्टम पता नहीं किस नेटवर्क के साथ कनेक्टेड होते हैं और न जाने कौन-कौन से लोग आपके किए गए कार्यों को देख सकते हैं, इस विषय पर किसी को विशेष रुप से या फिर यूं कहें जानकारी होती ही नहीं है. इसीलिए कभी भी हमें साइबर कैफे में अपने किसी भी प्रकार के सोशल अकाउंट को लॉगिन नहीं करना चाहिए,यदि आप किसी भी प्रकार के अपने सोशल मीडिया अकाउंट को साइबर कैफे में जाकर लॉगिन करते हैं, तो समझ लीजिए 100% आप के डाटा को लीक किए जाने की संभावनाएं हो जाती हैं.

गूगल मीट क्या है – जानिए कैसे इसमें वीडियो चैट के अलावा भी चीजें फ्री में मिलती है.

हम इन तरीकों के जरिए अपने सोशल मीडिया अकाउंट को हैकर द्वारा हैक होने से बचा सकते हैं और यह तरीके सभी ऐसे लीगल तरीके हैं, जो वास्तव में काम करते हैं. इसीलिए इन तरीकों को अपनाएं और अपने सोशल मीडिया अकाउंट को हैक होने से बचाएं.

FAQ

Q : क्या सोशल मीडिया अकाउंट भी हैक होते हैं ?

Ans : जी बिल्कुल सोशल मीडिया अकाउंट भी आज के समय में हैक किए जा रहे हैं.

Q : सोशल मीडिया अकाउंट हैक होने पर क्या होता है ?

Ans : सोशल मीडिया अकाउंट हैक होने पर आपका सभी प्रकार का डाटा लीक हो सकता है.

Q : क्या हम सोशल मीडिया अकाउंट को हैक होने से बचा सकते हैं ?

Ans : जी बिल्कुल आप अपने सोशल मीडिया अकाउंट को हैक होने से बचा सकते हैं.

Q : अपने सोशल मीडिया अकाउंट को हैक होने से बचाने के लिए क्या करें ?

Ans : सोशल मीडिया अकाउंट को हैक होने से बचाने के लिए ऊपर बताए गए सभी प्रकार के उपायों को पढ़ें.

Q : मेरा सोशल मीडिया अकाउंट हैक हो चुका है, तो मैं क्या करूं ?

Ans : सबसे पहले आप अपने सोशल मीडिया अकाउंट के पासवर्ड को बदले और फिर सभी प्रकार के डाटा को सुरक्षित करें एवं हो सके तो उसे वहां से तुरंत डिलीट कर दें.

अन्य पढ़ें –

Karnika
कर्णिका दीपावली की एडिटर हैं इनकी रूचि हिंदी भाषा में हैं| यह दीपावली के लिए बहुत से विषयों पर लिखती हैं | यह दीपावली की SEO एक्सपर्ट हैं,इनके प्रयासों के कारण दीपावली एक सफल हिंदी वेबसाइट बनी हैं

More on Deepawali

Similar articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here