Home जीवन परिचय सुनील छेत्री का जीवन परिचय। Sunil Chhetri Biography in Hindi

सुनील छेत्री [फुटबॉलर]का जीवन परिचय। Sunil Chhetri Biography in Hindi [नेटवर्थ]

0

सुनील छेत्री का जीवन परिचय [फुटबॉलर, जीवनी, जन्म तारीख, जाति, धर्म, हाइट, शिक्षा, पेशा, कोच, नेट वर्थ, मैच, संपत्ति, फुटबॉल करीर, पत्नी, माता, पिता, अवार्ड, उम्र] Sunil Chhetri Biography in Hindi [ date of birth, height, weight, caste, education, football career, football match, profession, net worth, coach, wife, family, awards, age]

भारत के सिकंदराबाद में पैदा हुए सुनील छेत्री जूनियर और सीनियर दोनों ही श्रेणी में इंडियन टीम के लिए खेल चुके हैं और आज के समय में यह भारतीय फुटबॉल टीम की कप्तानी को संभाल रहे हैं। साल 2008 में कंबोडिया के विरुद्ध खेले गए मैच में इन्होंने 2 गोल किए थे, जिसके बाद यह लाइमलाइट में आ गए थे। सुनील छेत्री की पर्सनल लाइफ के बारे में काफी लोग जानना चाहते हैं। इसलिए आइए सुनील छेत्री की जीवनी के बारे में जानते हैं।

Sunil Chhetri Biography

सुनील छेत्री का जीवन परिचय [Sunil Chhetri Biography in Hindi]

नाम:   सुनील छेत्री  
जन्म:  3 अगस्त 1984
जन्म स्थल:   सिकंदराबाद, भारत  
राष्ट्रीयता:     भारतीय
जातीयता:   भारतीय, नेपाली  
धर्म:     हिंदू
राशि:     सिंह
लंबाई:5 फुट 7 इंच  
वजन:64 किलो  
आंखों का रंग:गहरा भूरा  
बालों का रंग:  काला
निवास स्थान:   सिकंदराबाद, भारत  
स्कूल:     बहाई स्कूल, गंगटोक, सिक्किम
कॉलेज   आसुतोष कॉलेज, कोलकाता  
शिक्षा योग्यता    :ज्ञात नहीं  
पेशा:    भारतीय फुटबॉलर  
कोच:   सुब्रोतो भट्टाचार्य  
नेट वर्थ:$ 1 मिलियन

सुनील छेत्री का प्रारंभिक जीवन

एक नेपाली परिवार में साल 1984 में 3 अगस्त के दिन सुनील छेत्री का जन्म सिकंदराबाद में हुआ था। इनके पिताजी का नाम श्री के. बी छेत्री था जोकि भारतीय सेना में गोरखा रेजीमेंट के बहुत ही बहादुर जवान थे। इसके अलावा इनकी माता घर का काम करती है। सुनील छेत्री की बहन का नाम वन्दना क्षेत्री है।

सुनील छेत्री के पिताजी की नौकरी भारतीय सेना के गोरखा रेजीमेंट में थी। यही वजह है कि बार-बार उनका ट्रांसफर यहां से वहां होता रहता था, जिसकी वजह से सुनील छेत्री को अपने स्कूल की पढ़ाई करने का मौका इंडिया के अलग-अलग राज्यों में मिला।

सुनील छेत्री ने गंगटोक में स्थित बहाई स्कूल, दार्जिलिंग में मौजूद बेथानी और आरसीएस तथा कोलकाता के लोयला स्कूल और नई दिल्ली में मौजूद आर्मी पब्लिक स्कूल में अपनी पढ़ाई की है। 17 साल की उम्र में ही साल 2001 में सुनील छेत्री ने दिल्ली में फुटबॉल खेलना चालू कर दिया था। एक प्रकार से आप यह कह सकते हैं कि सुनील छेत्री ने सिर्फ 17 साल की उम्र में ही फुटबॉल के दांव पेच सीखना चालू कर दिए थे।

सुनील छेत्री की शिक्षा

 सुनील छेत्री ने अपनी स्कूल की पढ़ाई अलग-अलग जगह पर की है। इन्होंने ग्रेजुएशन की डिग्री हासिल करने के लिए आशुतोष कॉलेज में एडमिशन लिया। हालांकि प्राप्त जानकारी के अनुसार यह अपनी ग्रेजुएशन की डिग्री पूरी नहीं कर पाए थे क्योंकि ग्रेजुएशन की डिग्री पूरी करने के पहले ही इनका सिलेक्शन इंडियन फुटबॉल टीम में हो गया था।

उनकी एजुकेशन के बारे में हमें ज्यादा इंफॉर्मेशन नहीं प्राप्त हुई, क्योंकि इनके द्वारा कभी भी अपनी एजुकेशन के बारे में अधिक बातें नहीं की गई है। इसलिए हम आपको इनकी एजुकेशन के बारे में बता पाने में असमर्थ है।

सुनील छेत्री की फुटबॉल मैच देखने की अपील

फुटबॉल के प्रति भारतीय लोगों की मायूसी से काफी दुखी हो कर के एक बार सुनील छेत्री ने भारतीय लोगों से फुटबॉल मैच देखने का आग्रह किया था। दरअसल इंडिया और Chinese Taipei के बीच खेले गए मुकाबले में सुनील छेत्री ने हैट्रिक लगाई थी, जिसकी वजह से भारत 5-0 से विजई हो गया था परंतु इस मैच को देखने वाले दर्शकों की संख्या 2000 से भी कम थी, जिसकी वजह से फुटबॉल खेलने वाली दोनों टीम के खिलाड़ी काफी निराश हुए थे।।

इसके पश्चात भारत और केन्या के बीच मैच होना था। इस मैच के पहले ट्विटर पर सुनील छेत्री ने एक वीडियो पोस्ट किया था और उस वीडियो के जरिए उन्होंने यह संदेश दिया था कि आप चाहे हमें गाली दे, चाहे हमारी आलोचना करें परंतु कम से कम हमारा मैच देखने अवश्य आएं। सुनील छेत्री के द्वारा की गई इस अपील को विराट कोहली और सचिन तेंदुलकर जैसे खिलाड़ियों ने भी आगे बढ़ाया, जिसके पश्चात जब मैच चालू हुआ तो स्टेडियम में दर्शकों की भारी भीड़ आई।

सुनील छेत्री की कुल संपत्ति [Net worth]

भारतीय फुटबॉल टीम में शामिल होने के पश्चात सुनील छेत्री ने अपने अद्भुत प्रदर्शन से काफी कम समय में ही काफी संपत्ति अर्जित की। इसकी मुख्य वजह है इनके द्वारा फुटबॉल में दी गई परफॉर्मेंस। अपनी बेहतर परफॉर्मेंस की वजह से इन्हें कई इनाम प्राप्त हुए, साथ ही इन्होंने कई रिकॉर्ड भी बनाए। प्राप्त जानकारी के अनुसार भारतीय फुटबॉल टीम के खिलाड़ी सुनील छेत्री के पास वर्तमान के समय में 1 मिलियन डॉलर की संपत्ति है।

इसे अगर भारतीय रुपयों में देखा जाए तो यह 7500000 के आसपास में होती हैं। हालांकि कुछ लोगों का यह भी कहना है कि अगर सुनील छेत्री इंडियन क्रिकेट टीम के लिए खेलते तो आज इनकी संपत्ति अरबों में होती है, क्योंकि हमारे भारत देश में जितना महत्व क्रिकेट को दिया जाता है उतना महत्व फुटबॉल के खेल को नहीं दिया जाता है।

सुनील छेत्री का फुटबॉल कैरियर [Football Career]

जब 17 साल की उम्र सुनील छेत्री की थी, तभी उन्होंने फुटबॉल खेलना चालू कर दिया था। हालांकि तब यह डॉमेस्टिक लेवल पर फुटबॉल खेलते थे। इन्होंने डोमेस्टिक लेवल पर दिल्ली सिटी फुटबॉल क्लब के लिए फुटबॉल खेलना चालू किया। इसके साथ ही इन्होंने दूसरे टीमों के लिए फुटबॉल खेला।

अपनी शानदार परफॉर्मेंस की वजह से सुनील छेत्री लगातार लोगों की नजरों में आते जा रहे थे, साथ ही आगे बढ़ते जा रहे थे। इस प्रकार साल 2002 में सुनील छेत्री को मोहन बागान फुटबॉल क्लब की ओर से खेलने का मौका मिला, जो कि कोलकाता का फुटबॉल क्लब था।

इस प्रकार फुटबॉल खेलते खेलते साल 2005 में इन्हें इंडियन नेशनल फुटबॉल टीम का हिस्सा बनाया गया और इस प्रकार साल 2005 में 12 जून को इन्होंने इंडियन नेशनल फुटबॉल टीम की ओर से खेलते हुए पाकिस्तान के खिलाफ पहला गोल किया। यही वह साल था जब यह जेसीटी फुटबॉल क्लब में भी दिखाई दिए।

इस फुटबॉल क्लब के लिए इन्होंने 3 साल तक खेला। इसके बाद आगे बढ़ते हुए इन्होंने बेंगलुरु फुटबॉल क्लब, मुंबई सिटी फुटबॉल और ईस्ट बंगाल फुटबॉल क्लब जैसी टीम के लिए भी खेला। अभी के समय में सुनील छेत्री भारतीय फुटबॉल टीम की कप्तानी को संभाल रहे हैं।

सुनील छेत्री की पत्नी [Wife]

सुनील छेत्री की शादी इनके मेंटर सुब्रतौ भट्टाचार्य की बेटी से हुई है, जिनका नाम सोनम है। सोनम ने स्कॉटलैंड की एक यूनिवर्सिटी से बिजनेस मैनेजमेंट की डिग्री हासिल की है और डिग्री हासिल करने के पश्चात यह वापस कोलकाता आई, जहां पर इन्होंने सॉल्ट लेक एरिया में 2 होटल खोलें और वर्तमान के समय में यह अपना होटल का बिजनेस संभाल रही है। सुनील छेत्री और सोनम भट्टाचार्य की शादी साल 2017 में 4 दिसंबर के दिन पश्चिम बंगाल के कोलकाता शहर में संपन्न हुई थी।

सुनील छेत्री को प्राप्त अवार्ड [Award]

अखिल भारतीय फुटबॉल महासंघ प्लेयर ऑफ़ ईयर:2007, 2011, 2013, 2014, 2017 और 2018–19  
हीरो ऑफ द इंडियन सुपर लीग:   2017-2018
अर्जुन अवार्ड ( फुटबॉल ):2012
पद्म श्री अवार्ड:   2019

सुनील छेत्री की पसंद

पसंदीदा फुटबॉलर:लियोनेल मेसी
पसंदीदा अभिनेता:शाहरुख खान
पसंदीदा अभिनेत्री:कोंकणा सेन
पसंदीदा क्रिकेटर:सचिन तेंदुलकर

FAQ:

Q: सुनील छेत्री कौन है?

ANS: इंडियन फुटबॉल प्लेयर

Q: सुनील छेत्री ने अब तक कितने गोल किए हैं?

ANS: 51

Q: सुनील छेत्री की एज कितनी है?

ANS: 37

Q: सुनील छेत्री किस राज्य के है?

ANS: आंध्र प्रदेश

Q: सुनील छेत्री की नेटवर्थ कितनी है?

ANS: 1 मिलियन

अन्य पढ़ें –

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here