Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!

Tag Archives: hindi kavita

विवाह कविता बहना की बिदाई | Bahana Ki Bidai Wedding Kavita In Hindi

Bahana Ki Bidai Hindi Kavita..

Bahana Ki Bidai Wedding Kavita (Poem) In Hindi बहना की बिदाई हिंदी कविता | मेरी प्यारी बहना तेरी शादी की ख़ुशी बहुत हैं मुझे, पर तेरे जाने का गम  भी कुछ कम नहीं | तेरे बिना कोई बात याद ही नहीं | प्यार हो या लड़ाई हर पल तुझसे ही …

Read More »

हिंदी कविता : बेटी की पुकार

Daughter Poem In Hindi1

बेटी की पुकार हिंदी कविता | हमारे देश में एक बड़ी बुरी प्रथा हैं यहाँ शादी को जीवन का आधार माना जाता हैं | खास कर बेटियों को बचपन से शादी के लिए तैयार किया जाता हैं | उसे हर बात पर कहा जाता हैं ऐसा मत कर वैसा मत …

Read More »

गुरु पर कविता | Guru Poem in Hindi

Guru Hindi Kavita1

 Guru Poem in Hindi गुरु ज्ञान का पर्याय हैं. उसकी महिमा का क्या बखान करे ? जिसके जीवन में गुरु का आशीष नहीं उसका जीवन एक कड़वे फल की तरह हैं . गुरु का ज्ञान ही इंसान को इंसान बनाता हैं . सच्चा गुरु अपने शिष्य को व्यवहारिक जीवन से रूबरू …

Read More »

हिंदी कविता: औरत की आवाज़

Angry Woman Poem In Hindi

औरत की आवाज़ हिंदी कविता | यह एक औरत की आवाज़ हैं:- क्यूँ मैं सहती हूँ? क्यूँ मुझे खुद पर हुए अन्याय के लिए लड़ना चाहिए ? मेरे साथ किये गए जानवर से सुलूक के लिए मैं क्यूँ शर्मिंदा हूँ जबकि गुनाहगार को कोई शरम नहीं | जब उसे डर …

Read More »

नरक चतुर्दशी को छोटी दीपावली क्यों कहते है

Chhoti Diwali Hinitadi Kav

नरक चतुर्दशी को छोटी दीपावली क्यों कहते है और कैसे मानते है ( Why called Narak Chaturdashi or Choti Diwali Kavita in hindi) नरक चतुर्दशी को कई लोग छोटी दीपावली के नाम से भी जानते हैं और हर वर्ष नरक चतुर्दशी कार्तिक अमावस्या से एक दिन पूर्व आती है. इस दिन का हिंदू धर्म में …

Read More »