Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
ताज़ा खबर

टैन नंबर क्या है और उसके लिए आवेदन कैसे करें | What is TAN Number and how to apply for it in hindi

What is TAN Number and how to apply for TAN Number in hindi किसी भी बैंक में अगर हम आयकर विभाग में कर जमा करने जाते हैं तो जाने पर हमारा टैन, पैन और टिन के मध्य अंतर जैसे शब्दों से सामना होता है, जोकि एक साधारण से आदमी को समझना मुश्किल हो जाता है. टैक्स डिडक्शन एंड कलेक्शन एकाउंट नंबर को हम इसके छोटे रूप टैन के नाम से संबोधित करते है. इसको हिंदी में टैक्स कटौती खाता संख्या कहते है. टैन को भी पैन कार्ड की तरह आयकर विभाग द्वारा जारी किया जाता है, जो आयकर विभाग के माध्यम से 10 अंकों की अल्फान्यूमेरिक नम्बर हमे प्राप्त होते है. सभी लोग जोकि टीडीएस का रिटर्न, टीडीएस भुगतान और किसी भी तरह के टीडीएस से संबंधित जानकारी को आयकर विभाग से हासिल कर सकते है, और उन्हें अधिकार है कि वो अपना टैन नम्बर हासिल करे. जैसे की कोई सरकारी या गैर सरकारी कर्मचारी के वेतन पर टीडीएस कटता है, तो जिस कंपनी या संस्था द्वारा वह वेतन काटा जायेगा तो वह कहलायेगा डेदुक्टोर और जिस कर्मचारी का वेतन कटेगा वह कहलायेगा डेदुक्टी.

tan-number

टैन नंबर क्या है और उसके लिए आवेदन कैसे करें

What is TAN Number and how to apply for TAN Number in hindi

आयकर विभाग के अधिनियम 1961 के अनुभाग 203ए में उल्लेखित है कि सभी व्यक्ति जो टीडीएस का भुगतान कर रहे है, उन्हें टैन नम्बर रखना अनिवार्य है. अगर वो ऐसा नहीं करते है तो आयकर विभाग के द्वारा उन्हें 10,000 रूपये का जुर्माना भरना पड़ेगा और साथ ही उनको किसी भी बैंक के द्वारा टीडीएस का भुगतान नहीं होगा, जोकि उनकी परेशानी का सबब बन जायेगा.

टैन नंबर का महत्व (TAN Number importance)

टैन उन सभी के लिए आवश्यक बन जाता है जो अपनी आमदनी के स्रोत पर कर का भुगतान करते है, या ये उन सभी के लिए जरूरी है जो आयकर रिटर्न में कटौती कर दावा करने के लिए भुगतान करते है. इसके लिए आवेदन करने के लिए किसी भी तरह के दस्तावेज की आवश्यकता नहीं पड़ती है.                

टैन नंबर के लिए आवेदन करने का तरीका (How to apply for TAN Number)

टैन नम्बर को पाने के लिए ऑफ़ लाइन या ऑन लाइन दोनों तरीको को अपनाया जा सकता है. इसके आवेदन के लिए एक 62 रुपये का भुगतान क्रेडिट कार्ड, डिमांड ड्राफ्ट या चेक के तथा नेट बैंकिंग के माध्यम से किया जा सकता है.

ऑनलाइन आवेदन ( Apply for TAN Number Online)

  • ऑनलाइन टैन आवेदन करने के लिए पहले व्यक्ति को एनएसडीएल की वेबसाइट https://tin.tin.nsdl.com/tan/फॉर्म49B.html पर जा कर आवेदन संख्या 49बी को भरना पड़ता है. इसको जमा करने से पहले एक विवरण सूची स्क्रीन पर दिखेगी जोकि निम्न है-
  1. हस्ताक्षर के लिए स्थान,
  2. भुगतान का विवरण,
  3. 14 अंकों की आवेदन की स्वीकृति संख्या,
  4. आवेदक का नाम,
  5. आवेदन की स्थिति,
  6. आवेदक से संपर्क का ब्यौरा. जिसमे शामिल है आवेदक का पता, इ-मेल आई डी नम्बर और फ़ोन नम्बर.

इन सभी को ध्यान से देख कर भरना होता है.

  • भुगतान : अगर इसका भुगतान डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड या नेट बैंकिग के माध्यम से नहीं किया गया है, तो चेक या डिमांड ड्राफ्ट के साथ अपने हस्ताक्षर सहित एनएसडीएल को नेशनल सिक्योरिटीज डिपोजिटोरिज लिमिटेड में तीसरी मंजिल सप्फिरे चैम्बर्स टेलीफोन एक्सचेंज बैनर के नजदीक पुणे- 411045 के पते पर भेज सकते है या जा कर जमा कर सकते है.

ऑफ़लाइन आवेदन ( Apply for TAN Number Online)

  • टैन के आवेदन के फॉर्म को एक दुसरे तरीके से भी प्राप्त किया जा सकता है. इसको टैन के एफसी केन्द्रों से आवेदन करके और उसको जमा करके आवेदक 14 नंबर का आवेदन स्वीकृति की संख्या को प्राप्त कर सकता है. फिर आवेदन संख्या 49बी को ऑन लाइन के माध्यम से डाउनलोड कर सकते है, और इसका प्रिंट निकाल सकते है. इसको प्राप्त करने के लिए http://law.incometaxindia.gov.in/DITTaxmann//IncomeTaxRules/pdf/49B.PDF लिंक का इस्तेमाल किया जा सकता है.
  • इसके साथ ही अगर टैन नम्बर के सम्बन्ध में आपको किसी भी तरह की जानकारी हासिल करनी हो या इससे सम्बंधित अगर कोई भी सवाल मन में हो तो आप टीन सहायता केंद्र के नम्बर पर फोन कर सकते है. इन केन्द्रों को भारत भर में केंद्र सरकार द्वारा नियुक्त मध्यस्त एनएसडीएल द्वारा स्थापित किया गया है. सहायता केंद्र का नम्बर है 022-24994650 या tininfo@nsdl.co.in से संपर्क करके जानकारियों को एकत्रित कर सकते है. इसके अलावा टैन संख्या के नम्बर पर एनएसडीएल की फॉर्म संख्या 49बी में दिखाए गए पते से भी आप सूचना मांग सकते है.
  • जब आपके द्वारा आवेदन प्राप्त हो जाते है और सभी विवरण का सत्यापन हो जाता है, तो फिर उसको आयकर विभाग को भेज दिया जाता है. और वो विभाग एक अलग तरह की संख्या को आवंटित करता है.
  • फिर जो आवेदक होते है उन्हें एनएसडीएल के माध्यम से सूचित किया जा सकता है.    

टैन नम्बर की बनावट और इसका सत्यापन (TAN Number format)

टैन की बनावट इस प्रकार हैं कि इसमें इसके नम्बर एएनबीए99999बी निर्धारित रहते है, जिनमे पहले चार नम्बर अक्षर के रूप में दिये रहते है और उसके बाद पांच अंकीय रूप में दिये रहते है. फिर अंतिम वाला नम्बर भी अक्षर होता है. टैन में लिखे हुये प्रत्येक नम्बर एक विशिष्ट पहचान बताते हैं. जहाँ से टैन जारी किया जाता है वहाँ का, पहले तीन अक्षर शहर या राज्य के नाम का प्रतिनिधित्व करते है और चौथा जो अक्षर है वो नाम के पहले अक्षर को दर्शाता है.                                   

अन्य पढ़ें –

Ankita

Ankita

अंकिता दीपावली की डिजाईन, डेवलपमेंट और आर्टिकल के सर्च इंजन की विशेषग्य है| ये इस साईट की एडमिन है| इनको वेबसाइट ऑप्टिमाइज़ और कभी कभी आर्टिकल लिखना पसंद है|
Ankita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *