द ग्रेट मराठा ओल्ड दूरदर्शन धारावाहिक | The Great Maratha old Doordarshan Serial in Hindi

The Great Maratha old Doordarshan Serial in Hindi द ग्रेट मराठा संजय खान द्वारा निर्देशित और न्यूमेरो यूनो इंटरनेशनल लिमिटेड द्वारा तैयार एक भारतीय ऐताहासिक टीवी धारावाहिक था. इस धारावाहिक को दूरदर्शन के डीडी 1 पर 1994 में प्रसारित किया गया. यह सीरियल महादजी सिंधिया के जीवन पर आधारित था. कुल मिलाकर इसमें 47 एपिसोड थे. इसमें संगीत दिया था मोहम्मद जहूर खय्याम ने. टॉनी रोड ने गजब का छायांकन किया था.

द ग्रेट मराठा ओल्ड दूरदर्शन धारावाहिक कथा (The Great Maratha old Doordarshan Serial Story)

कहानी ग्वालियर के मराठा शासक महादजि सिंधिया के आसपास घूमती है. वे रानोजी राव के पुत्र थे. पानीपत के तृतीय युद्ध से इस कहानी का आरंभ होता है पानीपत की हार हिंदुस्तानी राजाओं को पराजय बोध और आत्महीनता से भर देती है. इन्होंने न केवल उस पराजय बोध से भारतीय राजाओं को बाहर निकाला बल्कि हिंदुस्तानी राजाओं के भीतर आत्मविश्वास को भी भरा. अंग्रेज भी इनसे सीधे तौर पर लोहा लेने से डरते थे. सिर्फ अंग्रेज ही नहीं बल्कि मुगल भी इन्ही के पास संरक्षण हेतु आते थे.

The Great Maratha

वारेन हेस्टिंग्स से त्रस्त जब शाहआलम अपने पिता का प्रतिशोध नहीं ले पाया था, खुद ही हताशा का शिकार हो रहा था. उसी समय बादशाह के विश्वस्त सिपाहसलार की मृत्यु से अंग्रेज, मुगल बादशाह को भय दिखा कर गद्दी हथिया लेना चाहते थे. आरंभ में महादजि ने स्यवं को राजनीतिक द्वंद से अलग रखा था और बाद में भी रखना चाह रहे थे, किन्तु फतेहपुर सीकरी में दोनों की मुलाकात से समीकरण एक बार फिर बदल गया था और सिंधिया, शाहआलम को बड़ी चतूराई के साथ ईस्ट इंडिया कंपनी के पंजे से बाहर निकालता है. उसके बाद से ही दिल्ली की सारी कूटनीति सिंधिया के हाथों में चली गई.  पेशवा की शक्ति विस्तार से लेकर दिल्ली की कूटनीति तक का उल्लेख इस धारावाहिक में किया गया है. इस धारावाहिक में अहमद शाह अब्दाली के आक्रमण के बारे में भी विस्तार से दिखाया गया है.

द ग्रेट मराठा समीक्षा (The Great Maratha Serial Review)

इस धारावाहिक में संजय खान ने काफी बड़ी पूँजी का निवेश किया था. नासिक में पूरा एक ऐताहिसिक सेट बना था. सेट की लागत काफी ज्यादा था. ऐताहासिक दृष्टिकोण से उस समय के पोशाक और परिवेश को बनाया गया था. पूरा का पूरा सिंधिया का शहर बसाया गया था. हालंकि धारावाहिक के कूछ भाग ग्वालियर फोर्ट में सूट किया गया था. धारावाहिक में इतिहास की पड़ताल नजर आती है, पर कई हिस्सों में इतिहास के साथ साथ छेड़खानी भी की गई है. कुल मिलाकर ऐताहासिक सीरियल के रूप में आलोचनात्मक रूप से इसकी प्रशंसा की गई. हालंकि ये धारावाहिक लोकप्रिय नहीं हो पाया. आम दर्शकों ने इसे ठीक से आत्मसात नहीं किया. जानकारों ने इसे बाकी इतिहासों की तुलना में इसे काफी बेहतर और प्रमाणिक माना. हालंकि मजीब के किरदार को लेकर थोड़ा विवाद भी हुआ था. संजय खान इस सिरीयल के असफलता के बाद काफी निराश हो गये थे.

कलाकार और भूमिका (cast and role)

भूमिकाकलाकार
दत्ताजी शिंदेमंगल ढिल्लों
महादजी सिंधियाशाहबाज खान
सदाशिव राव भाउपंकज धीर
नजीब उ दौलाइरफान खान
अहमद शाह अब्दालीबाब क्रिस्टो
शाह आलमरिषभ शुक्ला
जमुनाबाईकृतिका राने
इब्राहिम खान गार्दीमुकेश खन्ना
राबर्ट क्लाइवटाम अल्टर
रघुनाथ रावभूषण जीवन
मल्हार राव होल्करपरीक्षित साहनी
अहिल्या बाई होल्करमृणाल कुलकर्णी

द ग्रेट मराठा ओल्ड दूरदर्शन धारावाहिक से जुडी कुछ मुख्य जानकारी 

क्र..              बिंदु         मुख्य बातें
1.धारावाहिक का नामद ग्रेट मराठा
2.देशभारत
3.भाषाहिंदी
4.विषयऐतिहासिक
5.प्रोडक्शन कंपनीन्यूमेरो उनो इंटरनेशनल लिमिटेड
6.निर्देशकसंजय खान
7.अभिनीतशाहबाज़ खान, परीक्षित साहनी, फरीदा जलाल, टॉम आल्टर, इरफ़ान खान, मृणाल कुलकर्णी, कार्तिक राणे, मुकेश खन्ना
8.निर्मातासंजय खान
9.कहानी लेखकसंजय खान, मोहफिज़ ह्य्दर, रियोटी सरन शर्मा, मनोहर डी. मल्गोंकर
10.संगीतकारमोहम्मद ज़हर ख़य्याम
11.सीजन1
12.कुल एपिसोड47
13.प्रकाशनसन 1994 में दूरदर्शन पर
14.संपादकसुशील देशपांडे, ज़हीर अल्लाउदीन

अन्य पुराने सीरियल के बारे में पढ़े:

 

Updated: February 21, 2017 — 3:11 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *