Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
ताज़ा खबर

उत्तर प्रदेश किसान फसल ऋण मोचन कर्ज माफ़ी योजना | UP Kisan Fasal Rin Mochan Yojana Details in hindi

उत्तर प्रदेश किसान फसल ऋण मोचन कर्ज माफ़ी योजना 2018 UP Kisan Fasal Rin Mochan Yojana Details in hindi {सूची}

देश में किसान कृषि पर निर्भर करते हैं. अधिकतर किसानों की आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं होती हैं. उन्हें फसलों की अच्छी देखभाल के लिए सरकार से ऋण लेना पड़ता हैं. किन्तु वे समय पर इसका भुगतान भी नहीं कर पाते, जिससे उन्हें कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है. किसानों की इन परेशानियों को कम करने और किसानों को खुश करने के लिए उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी ने ‘किसान ऋण मोचन योजना’  योजना की शुरुआत की है. इस योजना के तहत राज्य के किसानों का ऋण माफ़ किया जाता है. ऐसा माना जा रहा है कि इस योजना के तहत 86 लाख किसानों को लाभ प्राप्त होगा. 

किसान फसल ऋण मोचन योजना

1. योजना का नाम उत्तरप्रदेश फसल ऋण मोचन योजना
2. योजना का लांच 9 जुलाई, 2017
3. योजना की शुरुआत यूपी मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ द्वारा
4. योजना की देखरेख उत्तरप्रदेश राज्य सरकार द्वारा
6. योजना के लाभार्थी उत्तरप्रदेश के किसान
7. पुरानी योजना किसान कर्ज़ माफ़ी योजना उत्तरप्रदेश
8. अधिकारिक वेबसाइट https://upkisankarjrahat.upsdc.gov.in/

 योजना के तहत लाभ (Benefits Under The Scheme)

  • किसानों को राहत :- इस योजना के योग्य किसानों को राहत प्रदान करने के लिए उत्तरप्रदेश की सरकार ने उनके कृषि के लिए लिए गये ऋण में छूट देना का फैसला किया है. इसका लाभ उठाने के लिए किसान खुद को इस योजना के तहत रजिस्टर्ड कर सकते हैं.
  • किसानों की कुल संख्या :- इस योजना के अनुसार उत्तरप्रदेश राज्य के कुल 86 लाख उन किसानों को लाभ पहुँचाया जाना है, जिन्होंने सरकार से अपनी फसलों की अच्छी देखभाल के लिए ऋण लिया था.
  • ऋण माफ़ी :- किसानों द्वारा सरकार से लिए गये कुल ऋण में से सरकार द्वारा 75 % तक का भुगतान किया जायेगा और बचे हुए 25 % का भुगतान बैंक द्वारा किया जायेगा. अतः किसानों का 1 लाख रूपये तक का ऋण माफ़ किया जायेगा.
  • दोबारा ऋण लेने के योग्य :- जब किसानों का पिछला कर्ज माफ़ होगा, तो उनके बंद पड़े हुए खाते फिर से सक्रिय हो जायेंगे, और वे दोबारा ऋण लेने के लिए सक्षम हो सकेंगे. और वे अपनी कृषि की देखभाल अच्छे से कर पाएंगे.

किसान फसल ऋण मोचन योजना के लिए योग्यता (Kisan Fasal Rin Mochan Yojana Eligibility)

सामान्य किसानों के लिए :-

  • इस योजना में केवल वे किसान पात्र हैं, जिन्होंने 31 मार्च 2016 से पहले ऋण लिया हो. उसके बाद ऋण लेने वाले किसान इस योजना का हिस्सा नहीं बन सकते हैं.
  • इस योजना का लाभ उठाने के लिए यह सबसे आवश्यक है, कि किसानों के पास 2 हेक्टेयर से अधिक की कृषि क्षेत्र भूमि नहीं होनी चाहिए.
  • यदि किसी किसान ने एक ही क्षेत्र की एक ही फसल के लिए दो अलग – अलग बैंकों से ऋण लिया है, तो वे किसान इस योजना में शामिल होने के लिए योग्य नहीं हैं.
  • इस योजना में यदि किसी किसान ने खुद के सहायता समूह से या अन्य किसी से ऋण लिया है, तो उन्हें इस योजना में शामिल होने की अनुमति है.
  • इसके अलावा यदि किसी किसान ने को-ऑपरेटिव बैंक या उत्तरप्रदेश को-ऑपरेटिव भूमि विकास बैंक से किसी भी प्रकार के ऋण के लिए आवेदन किया था, तो उन्हें भी इस योजना का लाभ प्रदान किया जायेगा.

कुछ अन्य पात्रता मापदंड :–

  • इसके अलावा सबसे जरूरी यह है कि किसी भी किसान द्वारा लिये गये ऋण की जाँच भी की जाएगी, कि उन्होंने इसका कोई दुरूपयोग तो नहीं किया. अतः किसानों द्वारा ऋण की राशि का उपयोग कृषि के लिए ही किया जाना आवश्यक है.

एनपीए खाता धारक किसानों के लिए :-

  • इस योजना में उत्तरप्रदेश में रहने वाले किसानों को लाभ प्रदान किया जाना है. और साथ ही उन्होंने यूपी के किसी बैंक से ऋण लिया हुआ हो. केवल वे ही इस योजना के पात्र हैं.
  • वे किसान जो किसी सीमांत या छोटे समूह से संबंध रखते हैं, उन्हें ही इस योजना में आवेदन करने की अनुमति है.
  • किसी विशेष किसान का खाता एनपीए सेक्शन के तहत भारत के रिज़र्व बैंक द्वारा केटेगराइस्ड किया जाना चाहिए.
  • इसके अलावा किसानों का एनपीए खाता 31 मार्च 2016 के पहले घोषित किया जाना चाहिए. तभी किसानों के खाते में एनपीए खाते की 25 % राशि जोड़ दी जाएगी.

आवश्यक दस्तावेज़ (Required Documents)

फसल ऋण मोचन योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए किसी आदमी को निम्नलिखित दस्तावेज़ तैयार रखने होंगे.

  1. किसान के पास आधार कार्ड का होना अनिवार्य है.
  2. किसान के पास लैंड पेपर (ज़मीन के दस्तावेज़) होने अनिवार्य हैं.
  3. किसान का एक बैंक अकाउंट होना आवश्यक है.
  4. किसान के पास आधार संख्या का होना बहुत ज़रूरी है.

किसान फसल ऋण मोचन योजना के लिए कैसे आवेदन दें (Apply for Kisan Fasal Rin Mochan Yojana)

  • सभी योग्य उम्मीदवारों को उत्तरप्रदेश किसान ऋण मोचन योजना की अधिकारिक वेबसाइट https://www.upkisankarjrahat.upsdc.gov.in/index.html पर जाना होगा.
  • यदि आवेदक पहले से ही इस वेबसाइट पर रजिस्टर्ड है, तो वह सीधे अपना यूजर आईडी और पासवर्ड डालकर लोगिन बटन पर क्लिक कर सकता है.
  • यदि वह पहली बार इसमें रजिस्ट्रेशन कर रहा है तो उन्हें पहले यहाँ अकाउंट बनाना होगा. इसमें उन्हें अपनी सभी जानकारी देनी होगी. यह पूरा हो जाने के बाद आवेदक ऋण माफ़ी के लिए रजिस्ट्रेशन फॉर्म भर सकते हैं.
  • इस ऋण माफ़ी रजिस्ट्रेशन फॉर्म में सभी आवश्यक जानकारी जैसे नाम, उम्र, संपर्क जानकारी, बैंक खाता, आधार नंबर और जमीन एवं ऋण की जानकारी आदि भरना होगा.
  • सभी जानकारी भरने और उसे सत्यापित करने के बाद आप सबमिट बटन पर क्लिक करें. जैसी ही आप अपना फॉर्म सबमिट करेंगे, विभाग द्वारा आगे की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी.

किसान फसल ऋण मोचन योजना के लिए आधार कार्ड की आवश्यकता (Aadhar Card for Kisan Rin Mochan Yojana)

इस योजना का लाभ केवल उन किसानों को प्राप्त हो सकेगा, जिनके पास आधार कार्ड हैं, और आधार कार्ड को बैंक खाते से लिंक होना चाहिए. सभी जिलों के डीएम ने इसके लिए छोटे छोटे कैंप लगाने के लिए आदेश दिए हैं, ताकि उन सभी किसानों का मुफ्त आधार कार्ड बनाया जा सके, जिनके आधार कार्ड नहीं है. ऐसा करने से अधिक से अधिक किसानो को इस योजना का लाभ प्राप्त हो सकेगा.

किसान फसल ऋण मोचन योजना के लिए आवश्यक नंबर (Kisan Rin Mochan Yojana Important Numbers)

इस योजना के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए इन नंबर पर फोन करें.

  • नोडल अधिकारी, जिला कृषि ऑफिसर M.no. – 9235209436
  • जिला लीड मेनेजर M.no. – 9412626279

Track loan status –

जिन किसानों ने इस योजना के लिए आवेदन किया है, वे उसकी स्तिथि को जाने के लिए यहाँ क्लिक करें.

ऑनलाइन शिकायत दर्ज How to compliant (Track Complaint status)

योजना के अंतर्गत किसान को अगर किसी तरह की कोई शिकायत है, तो वो पोर्टल में जाकर इसके लिए शिकायत दर्ज करा सकते है. फ़िलहाल शिकायत दर्ज करने की आखिरी तारीख 15 जून थी, जो अब समाप्त हो चुकी है. अगले फेज के लिए इसकी फिर से तारीख आएगी। जिन्होंने इसमें शिकायत दर्ज करवाई है, वो इसकी स्तिथि जानने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Update

12/9/2018

योजना के अंतर्गत जिन्होंने ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से शिकायत की थी, उसमें से लगभग 12 हजार लोगों के कर्ज माफ़ हो चुके है. अब सरकार ने 7000 के लगभग किसानों की लिस्ट बनाई है, जिनकी सत्यापन की प्रक्रिया चल रही है. जल्दी ही इन किसानों को भी योजना का लाभ मिल जायेगा

अन्य पढ़ें –

Ankita

Ankita

अंकिता दीपावली की डिजाईन, डेवलपमेंट और आर्टिकल के सर्च इंजन की विशेषग्य है| ये इस साईट की एडमिन है| इनको वेबसाइट ऑप्टिमाइज़ और कभी कभी आर्टिकल लिखना पसंद है|
Ankita

3 comments

  1. Sir Jo 21/5/2018 Ko Kishan karja potal open honi th website open nhi ho the h sir m kya kru

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *