वंदे भारत मिशन Phase 3: जानिए कैसे सरकार लाएगी विदेशों में फंसे भारतीयों को, क्या यह खतरनाक होगा

वंदे भारत मिशन- एयर इंडिया उड़ानों का विवरण चेक करें शेड्यूल किराया पात्रता और बुकिंग नियम [Vande Bharat Mission in hindi, Online Registration Form, Fares, Eligibility, Booking Rules, Link, flight schedule]

कोविड-19 की महामारी की वजह से तालाबंदी लगाने का कदम सरकार द्वारा उठाया गया। जिसके बाद हजारों लोग देश के विभिन्न राज्यों में तो फंस गए थे लेकिन कुछ विदेशों में भी फंस गए हैं। राज्यों के लोगों को उनके घर पहुंचाने का काम सरकार द्वारा बहुत सुचारु रुप से किया जा रहा है। परंतु अब बारी उनकी है जो विदेशों में भारतीय नागरिक फंसे हुए हैं। उन भारतीय नागरिकों को वापस विदेश से अपने देश लाने के लिए मोदी सरकार के प्रमुख मिशन वंदे मातरम मिशन के तहत जल्द ही आरंभ किया जाना है। नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप पुरी ने एक आंकड़ों के अनुसार बताया है कि भारत के लगभग 12000 नागरिक विदेशों में फंसे हुए हैं। वहीं 200000 से भी ज्यादा लोग ऐसे हैं जो भारत में फंसे हुए हैं और विदेश जाने की इच्छा रखते हैं। जिनके लिए अब भारतीय सरकार के द्वारा महत्वपूर्ण कदम उठाया जा रहा है।

अगर आप भारत के अन्दर ही अन्य राज्य में फंस गए हैं तो दी गई लिंक पर क्लिक करे आपको घर जाने की पूरी जानकारी मिलेगी . 

Vande Bharat Mission In Hindi

वन्दे भारत मिशन अंतिम तिथी 

उन भारतीयों को भारत में लाने के लिए मई से उड़ाने आरंभ कर दी गई हैं। इस योजना के अंतर्गत कई उड़ानों के जरिए विदेशी नागरिकों को भारत से बाहर और भारतीय नागरिकों को विदेशों से भारत लाया जाएगा।

यह उड़ाने 12 देशों के लिए भरी जाएंगी। भारतीय नागरिकों को वापस भारत लाने के लिए लगभग 64 उड़ानों का संचालन किया जाएगा। अब एयर इंडिया द्वारा दूसरे देशों में फंसे हुए भारतीय नागरिकों के लिए टिकट बुकिंग का काउंटर खोल दिया गया है। भारत के लोग जो यूएस, यूके और सिंगापुर से भारत आने के लिए उड़ान भरना चाहते हैं उनके लिए टिकट बुक की जा रही हैं। आइए अब जान लेते हैं इस प्रक्रिया के दौरान किन नियमों और निर्देशों की घोषणा सरकार द्वारा की गई है।

नामवन्दे भारत मिशन
द्वारा लॉन्च किया गयाभारत सरकार
पर लॉन्च किया गया मई 2020
लाभार्थियोंभारत के निवासी विदेश में या गैर-निवासी भारत में फंस गए
उद्देश्ययात्रा की सुविधा
सरकारी वेबसाइटmea.gov.in

कोरोना वायरस से बचने के लिए घर बैठे बढ़ाएं इम्युनिटी, आयुष मंत्रालय द्वारा ने जारी की गाइडलाइन यहाँ क्लिक करे और पूरी जानकारी पढ़े 

वन्दे भारत मिशन पात्रता  और अन्य नियम

  • इस योजना के तहत सबसे पहले उन लोगों को प्राथमिकता दी जाएगी जो प्रवासी श्रमिक अथवा मजदूर है। जो विदेशों में जाकर व्यवसाय के लिए वहां पर रहते हैं और उनके वीजा की अवधि भी समाप्त होने वाली है। ऐसे लोगों को सबसे पहले भारतीय उड़ान के जरिए भारत वापस लाया जाएगा।
  • इनके अतिरिक्त कुछ ऐसे व्यक्ति जो मेडिकल इमरजेंसी का सामना कर रहे हैं साथ ही यदि कोई गर्भवती महिला है अथवा कुछ बुजुर्ग व्यक्ति या छात्र जो वापस भारत लौटने की इच्छा रखते हैं उन लोगों को प्राथमिकता दी जाएगी।
  • यदि किसी व्यक्ति के परिवार के किसी सदस्य की मृत्यु हो गई है अथवा मेडिकल इमरजेंसी में फंसा हुआ है तो ऐसे व्यक्तियों को भी सबसे पहली प्राथमिकता दी जाएगी।
  • भारतीय नागरिक जिस देश में फंसे हुए हैं उन्हें एम ई ए द्वारा निर्धारित दिशा निर्देशों के अनुसार खुद को पंजीकृत करना होगा और बताना होगा कि वह कहां पर किस परिस्थिति में फंसे हुए हैं।
  • जो यात्री वापस भारत लौटना चाहते हैं उन्हें भारत लौटने के लिए स्वयं ही अपने खर्च का वहन करना होगा।
  • बोर्डिंग से पहले यात्रियों से पहले ही इस बात की पुष्टि कर ली जाएगी कि वह अपने देश भारत लौटने के बाद खुद को 14 दिन के लिए क्वॉरेंटाइन अवश्य करेंगे।
  • इस योजना के तहत जहाज में बैठने से पहले MEA स्वास्थ्य प्रोटोकॉल के अनुसार प्रत्येक यात्री की थर्मल स्क्रीनिंग अवश्य की जाएगी। जो लोग थर्मल स्क्रीनिंग में पास हो जाएंगे केवल उन्हीं को यात्रा करने की अनुमति दी जाएगी।
  • फंसे हुए भारतीय लोगों को यात्रा में प्रवेश करने से पहले उनके फोन में आरोग्य सेतु एप डाउनलोड करने के लिए कहा जाएगा।
  • MEA द्वारा यात्रियों के यात्रा का समय दिन और स्थान उन्हें दो दिन पहले ही सूचित कर दिया जाएगा ताकि वह अपनी तैयारी पहले से ही कर सके।

अगर प्रधानमंत्री से शिकायत करना चाहते हैं तो ऑनलाइन प्रक्रिया दी गई हैं जानने के लिए यहाँ क्लिक करे

भारत में फंसे व्यक्तियों के लिए जो विदेश यात्रा करना चाहते हैं वन्दे भारत मिशन के तहत पात्रता नियम 

  • इस योजना के तहत केवल उन्हीं लोगों को यात्रा की अनुमति दी जाएगी जो विदेशों के रहने वाले हैं। इस बात की पुष्टि की जाएगी कि उनके पास उस देश का कम से कम 1 वर्ष की अवधि का वीजा या ग्रीन कार्ड अथवा ओसीआई कार्ड मौजूद हो।
  • कोई चिकित्सक आपातकालीन स्थिति अथवा परिवार में किसी व्यक्ति की मृत्यु के मामले को ध्यान में रखते हुए भी जिन व्यक्तियों के पास 6 महीने वाला वीजा मौजूद है उन लोगों को भी इस योजना के तहत यात्रा करने की अनुमति प्रदान की जाती है।
  • यदि कोई व्यक्ति दूसरे देश में जाने का इच्छुक है तो सबसे पहले MoCA द्वारा इस बात की पुष्टि की जाएगी कि उन व्यक्तियों के प्रवेश को लेकर गंतव्य देश में अनुमति प्राप्त है अथवा नहीं। इसके अलावा गंतव्य देश यात्रा करने से पहले उन व्यक्तियों पर कोई शर्त भी लागू कर सकता है जिन्हें उन व्यक्तियों को यात्रा करने से पहले ही पूरी करनी आवश्यक है।
  • दूसरे देश में यात्रियों को भेजने से पहले भी उनकी पूरी तरह से थर्मल स्क्रीनिंग की जाएगी उसके बाद ही उन्हें जहाज में बैठने की अनुमति प्रदान की जाएगी। यात्रा के दौरान लगने वाली लागत केवल यात्री द्वारा ही वहन की जाएगी।

इतिहास की सबसे बड़ी महामंदी होने का सबसे बड़ा कारण क्या था जिसे ग्रेट डीपप्रेसन कहा गया जानने के लिए क्लिक करे .

वंदे भारत योजना के लिए आवेदन प्रक्रिया

  • सबसे पहले सरकार द्वारा घोषणा के दौरान जारी की गई वेबसाइट www.airindia.in/rllandingpage.htm पर प्रवासियों को अपनी ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के लिए जाना होगा।
  • उसके बाद वेबसाइट खुलते ही आप होम पेज पर पहुंच जाएंगे जिस पर आपको अपना मोबाइल नंबर और ईमेल आईडी सही तरीके से भरनी होगी।
  • आवेदन के समय कुछ आवश्यक दस्तावेज भी वहां पर लगाने होंगे इसलिए फॉर्म को पूरा भरने के बाद अपने आवश्यक दस्तावेज वेबसाइट पर अवश्य अपलोड करें।
  • जब आप अपनी पूरी जानकारी सही तरीके से फॉर्म में डाल दें तब सबमिट के बटन पर क्लिक कर दें ताकि आपका पंजीकृत सफलतापूर्वक हो जाए।
  • पंजीकरण पूरा होने के बाद आप चाहें तो अपने फॉर्म का प्रिंट आउट भी निकलवा सकते हैं।

इस योजना में नौसेना भी अपना योगदान प्रदान कर रही है मालद्वीप और मामले में फंसे हुए भारतीयों को निकालने का काम नौसेना के जवानों द्वारा किया जा रहा है।

कोरोना वायरस से बचाव व सही जानकारी के लिए सरकार ने जारी किये टोल फ्री नंबर, जानने के लिए क्लिक करे .

क्या होगा एयर इंडिया की फ्लाइट का किराया

  1. 8 मई को जब मुंबई से लंदन के लिए एक फ्लाइट ने उड़ान भरा था तब उस फ्लाइट का सबसे सस्ता किराया 62,960 रुपये था। जबकि बिजनेस क्लास का किराया 1,75,922 रुपये था। वहीं यदि फर्स्ट क्लास की बात की जाए तो फर्स्ट क्लास का किराया 2,30,018 रुपये था।
  2. 8 मई को उड़ान भरने वाली दिल्ली से सैन फ्रांसिस्को की फ्लाइट में मिडिल क्लास का चार्ज 1,04,155 रुपये था। वही बिजनेस क्लास की बात करें तो उसका किराया 3,03,553 रुपये था और फर्स्ट क्लास के लिए यात्रियों को 4,01,553 रुपये का भुगतान करना पड़ा।
  3. यदि कोई यात्री इस योजना के तहत भारत देश से प्रस्थान करके अपने देश वापस जाना चाहता है तो वह अपनी फ्लाइट के टिकट बुक करा सकते हैं। इसके अतिरिक्त जो व्यक्ति विदेश में फंस गए हैं और अपने देश भारत वापस आना चाहते हैं वह भी इस योजना के तहत फ्लाइट के टिकट बुक करा कर वापस अपने देश आ सकते हैं।
वन्दे भारत मिशन फेज 3 कब तक चलेगा?

30 जून

अगर कोई फ्लाइट से किसी दुसरे प्रदेश में पहुँचता है तो क्या फिर वो दूसरी कनेक्टिंग फ्लाइट लेकर अपने राज्य में जा सकता है?

नहीं, सरकार की गाइडलाइन अनुसार आप कनेक्टिंग फ्लाइट नहीं ले सकते, किसी भी हालत में विदेश से आये यात्री को, डोमेस्टिक फ्लाइट में सवार यात्रियों के साथ यात्रा करने नहीं दिया जायेगा. हर प्रदेश की अलग अलग गाइडलाइन है, आपको उसके अनुसार ही आगे यात्रा करने मिलेगी.

दिल्ली पहुँचने के बाद कितने दिन क्वारंटाइन रहना होगा?

दिल्ली सरकार की गाइडलाइन अनुसार यात्री को कोविड 19 टेस्टिंग के बाद, 7 दिन तक क्वारंटाइन रहना होगा. अगर वो ठीक रहते है तो उसके अगले 7 दिन उन्हें होम क्वारंटाइन रहना अनिवार्य है.

दिल्ली में क्वारंटाइन में रहने के लिए क्या कुछ पैसे लगते है?

वैसे सरकार की तरफ से जो क्वारंटाइन सेंटर बनाये गए है, उधर यह सुविधा मुफ्त है. लेकिन अगर आप कुछ चुने हुए होटल में रहना चाहते है तो उसके लिए चार्ज किया जायेगा.

मुंबई पहुँचने के बाद क्वारंटाइन गाइडलाइन क्या है?

महाराष्ट्र सरकार ने अपनी गाइडलाइन में बताया है कि विदेश से आये यात्रियों को एअरपोर्ट में टेस्टिंग के बाद 14 दिन होम क्वारंटाइन रहना होगा.

अन्य पढ़े

  1. एमएसएमई क्या है
  2. सुरक्षा स्टोर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कैसे करें 
  3. भारतीय संस्कृति में नमस्ते का अर्थ क्या है
  4. यूट्यूब और उससे पैसे कमाने का तरीका 

Ankita

अंकिता दीपावली की डिजाईन, डेवलपमेंट और आर्टिकल के सर्च इंजन की विशेषग्य है| ये इस साईट की एडमिन है| इनको वेबसाइट ऑप्टिमाइज़ और कभी कभी आर्टिकल लिखना पसंद है|
Ankita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *