Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!

वेब होस्टिंग क्या है?

वेब होस्टिंग क्या है, सर्विस, प्रकार (What is Web Hosting in Hindi Definition, Services, Types, Companies, Websites, Free, How does it works )

दोस्तों आज का समय इन्टरनेट का समय है जहाँ करोड़ो वेबसाइट होती है. लेकिन क्या आप जानते हैं इन सभी वेबसाइट को चलाने के लिए बहुत सी चीजें होती हैं. जैसे वेब होस्टिंग. अब यह क्या है और कैसे होती है. इसके कितने प्रकार है, यह सब कुछ हम आपको इस लेख के माध्यम से बताने जा रहे हैं –

Web Hosting in Hindi

वेब होस्टिंग क्या हैं? (What is Web Hosting?)

वेब होस्टिंग एक ऐसी सर्विस हैं जो किसी भी ऑर्गेनाइजेशन और व्यक्ति को इन्टरनेट पर वेब-पेज पोस्ट करने की अनुमति देती हैं और इन्टरनेट पर देखे जाने वाली वेबसाइट या वेब-पेज के लिए टेक्नोलॉजी और सर्विस उपलब्ध करवाती हैं. वेबसाइट को उस पर होस्ट या स्टोर किया जाता जोकि स्पेशल कंप्यूटर होते हैं और जिसे हम सर्वर भी कहते हैं.

वेब होस्टिंग कैसे काम करती है? (How does Web Hosting Work)

इन्टरनेट का उपयोग करने वाले व्यक्ति यानि यूजर जब वेबसाइट देखना चाहते हैं तो उन्हें ब्राउजर में डोमेन या वेबसाइट एड्रेस टाइप करना होता हैं. उनका कंप्यूटर यूजर के सर्वर से कनेक्ट हो जाता हैं और यूजर का वेबपेज उन तक ब्राउजर के माध्यम से पहुँच जाता हैं. ज्यादातर होस्टिंग कम्पनी चाहती हैं कि उनके साथ होस्ट करने के लिए आपके पास अपना डोमेन हो, यदि आपके पास डोमेन नहीं है तो होस्टिंग कम्पनी इसे खरीदने में मदद भी करती है.

वेबहोस्टिंग सर्विस के प्रकार (Types of Web Hosting Services)

आपकी वेबसाइट को होस्ट करने के लिए कई तरह की वेब होस्टिंग सर्विस उपलब्ध हैं. वेब होस्टिंग सर्विस के लिए साइनअप करने से पहले ये समझना बेहद जरूरी हैं कि आपको किस तरह की वेबसाइट की आवश्यकता हैं, किस तरह के सर्वर या बिजनेस की जरूरत हैं, आपका बजट क्या हैं और वेब होस्ट कितने ऑफर दे रहे हैं. वेब होस्टिंग सर्विस के मुख्य प्रकार निम्न हैं:-

  • वेबसाइट बिल्डर्स (Website Builders): वेबसाइट बिल्डर सर्विस होस्टिंग सर्विस का ऐसा टाइप हैं जो कि उन बिगिनर की मदद करता हैं जो वेबसाइट होस्ट करना चाहते हैं, लेकिन उनके पास टेक्निकल स्किल और जानकारी नहीं हैं. वेबसाइट बिल्डर सर्विस आपको ऑनलाइन ब्राउज़र बेस्ड इंटरफेस के साथ आपकी वेबसाइट बनाने की सुविधा देती हैं, साथ ही बिना किसी एडिशनल सेटअप के आपको वेबसाइट होस्ट करने का मौका देती हैं.
  • शेयर्ड होस्टिंग (Shared Hosting): शेयर्ड होस्टिंग एनवायरमेंट में आप और अन्य वेबसाइट के मालिक एक ही सर्वर को शेयर कर सकते हैं. इस सर्वर में ही फिजिकल सर्वर और सॉफ्टवेयर एप्लीकेशन भी उपलब्ध होती हैं. शेयर्ड होस्टिंग सर्विस एफोर्डेबल हैं क्योंकि सर्वर को ऑपरेट करने के लिए राशि को आपके और अन्य ओनर के मध्य बाँट देती हैं. हालंकि इसके कुछ घाटे भी हैं जिससे ये स्लो होती हैं.
  • डेडिकेटेड होस्टिंग (Dedicated Hosting): डेडिकेटेड होस्टिंग एन्वायरमेंट में आपको वेब सर्वर खुद ही चलाना होगा. ये आपके प्रदर्शन को फ़ास्ट करेगा, क्योंकि आपके पास सर्वर के सारे रिसोर्स होंगे और किसी भी वेबसाइट ओनर के साथ शेयरिंग नही होगी. हालांकि इसका ये भी मतलब हैं कि आप ही सर्वर के लिए पूरी तरह से जिम्मेदार होंगे. ये उस वेबसाइट के लिए एक अच्छा चुनाव हैं जिसमे सिस्टम रिसोर्स की ज्यादा आवश्यकता होती हैं या फिर ज्यादा स्क्रूटनी की जरूरत होती हैं.
  • कोलोकेटेड होस्टिंग (Collocated Hosting): इस होस्टिंग में आपको अपना सर्वर खरीदना होगा और वेबहोस्ट की सुविधा भी लेनी होगी. आप ही सर्वर के लिए जिम्मेदार होंगे, इस होस्टिंग सर्वर का एक ही एडवांटेज हैं कि आपका वेबसर्वर पर पूरा कंट्रोल होगा. आप कोई भी स्क्रिप्ट या अपने जरूरत की एप्लीकेशन को इनस्टॉल कर सकते हैं.

वेब होस्टिंग कहाँ से खरीदें ?

बहुत सी ऐसी कम्पनीज हैं जो वेब होस्टिंग प्रदान करती हैं. ऐसे में यदि आपके ज्यादातर ग्राहक भारत से ही है तो आपको भारत की ही किसी कंपनी से वेब होस्टिंग खरीदना चाहिए. क्योंकि यदि आप कही बाहर की कंपनी से वेब होस्टिंग खरीदते हैं, तो उसका सर्वर आपके देश से दूर होगा जिसके कारण आपकी वेबसाइट को एक्सेस करने में समय लगेगा. यदि आप अपने देश में ही वेब होस्टिंग बेचने वाली कंपनी से संपर्क करते हैं तो इसके लिए आपको क्रेडिट कार्ड की भी आवश्यकता नहीं होगी बल्कि आप आसानी से इसे एटीम कार्ड या फिर इन्टरनेट बैंकिंग के माध्यम से खरीद सकते हैं, और जब आपने एक बार वेब होस्टिंग खरीद ली उसके बाद आप अपने डोमेन नेम के साथ उसे एक्सेस कर सकते हैं. आपको हम यहां पर कुछ ऐसी वेबसाइट के नाम बता रहे हैं जो आपको अच्छी सेवा के साथ ही लाभ भी प्रदान करेगी. ये वेबहोस्टिंग कंपनी हैं –

  • होस्टगैटर इंडिया (Hostgator India)
  • गोडाडी (Godaddy)
  • ब्लूहोस्ट (BlueHost)
  • बिगरॉक (Big Rock)

कैसे उपयुक्त वेब होस्टिंग पैकेज का चयन करे?

बाजार में बहुत सारे वेब होस्टिंग के विकल्प मौजूद हैं आप अपनी जरुरत के अनुसार वेब होस्टिंग का चयन कर सकते हैं. किन्तु वेब होस्टिंग पैकेज खरीदते समय आपको यह कैसे पता होगा कि कौन सा आपके लिए उपयुक्त हैं तो इसके लिए कुछ जानकारियां आपको पता होना आवश्यक है जोकि इस प्रकार हैं –

  • डिस्क स्पेस :- जिस तरह से कंप्यूटर में लगभग 500 जीबी या उससे अधिक स्पेस होती हैं ठीक उसी तरह से वेब होस्टिंग में जो स्पेस होती हैं उसे हम डिस्क स्पेस कहते है अर्थात यह वेब होस्टिंग की स्टोरेज क्षमता होती हैं. आप ऐसे डिस्क स्पेस वाला वेब होस्टिंग खरीदने के बारे में सोचें जिससे आपको डिस्क के पूरा भर जाने का खतरा न हो, इसके लिए बेहतर होगा कि आप अनलिमिटेड डिस्क स्पेस वाले वेब होस्टिंग का चयन करें.
  • बैंडविड्थ :- बैंडविड्थ वह होती हैं जोकि यह दर्शाती हैं कि आपकी वेबसाइट में एक सेकंड के अंदर कितना डेटा एक्सेस हुआ है. इसे आप इस तरह से समझ सकते हैं कि जब भी कोई यूजर आपकी वेबसाइट पर एक्सेस करता हैं, तो आपका सर्वर कुछ डेटा का उपयोग करता हैं और उसे जानकारी देता हैं. ऐसे में यदि आपकी वेबसाइट की बैंडविड्थ कम है और इसमें विजिट करने वालों की संख्या भी ज्यादा हैं, तो ऐसे स्थिति में आपकी वेबसाइट के डाउन होने का खतरा रहता हैं. इसके लिए आपको ऐसा वेब होस्टिंग खरीदना चाहिए, जिससे आपकी वेबसाइट की बैंडविड्थ ज्यादा हो.
  • अपटाइम :- उदहारण के लिए यदि आपकी वेबसाइट 18 घंटे ऑनलाइन रहती हैं यानि यदि यह यूजर के लिए 18 घंटे उपलब्ध हैं, तो उसे हम उसका अपटाइम कहेंगे. दरअसल किसी कारणवश आपकी वेबसाइट कई बार खुल नहीं पाती है, तो उसे हम उस वेबसाइट का डाउनटाइम कहते हैं. आपको वेब होस्टिंग खरीदते समय यह ध्यान रखना होगा कि आपकी वेबसाइट आपके ग्राहकों को 24 घंटे उपलब्ध रहने की गारंटी दे. इसका मतलब यह हैं कि आपकी वेबिस्ते का अपटाइम ज्यादा होना चाहिए.
  • ग्राहक सेवा :- कोई भी वेब होस्टिंग कंपनी हो वह अपने ग्राहकों को 24*7 सेवा प्रदान करती हैं. लेकिन ऐसा बहुत कम होता हैं कि हर वेब होस्टिंग कंपनी 24 घंटे अपने ग्राहकों को सेवा दें. अतः ऐसी वेब होस्टिंग कंपनी जोकि आपको अधिक से अधिक समय तक ग्राहक सेवा प्रदान करें उसका आप अपनी वेबसाइट के लिए चयन करें.

ये सभी बातों को ध्यान में रखते हुए ही आप वेब होस्टिंग खरीदें, जिससे आपकी वेबसाइट अच्छे से चले और आप किसी भी प्रकार के जोखिम से बच सकें.

विविध प्रकार के वेब होस्टिंग ऑप्शन उपलब्ध हैं, जिनमें से ये जानना कि कौनसा आपके बिजनेस के लिए उपयुक्त हैं, इसके लिए आपको ब्लॉग, इकोनोमिक पोर्टल, नयी वेबसाइट इत्यादि के बारे में जानना जरूरी हैं. आपको वेब-होस्टिंग प्रोवाईडर पार्टनर के बारे में भी जानना बेहद जरुरी हैं, इसके लिए अपने पार्टनर के अपटाइम को और उनकी गारंटी प्रतिशत के अलावा लोकेशन को देखने से भी निर्णय लेने में आसानी रहती हैं. कंपनी की साख को समझने के लिए इसके ग्राहकों की संख्या, ऑनलाइन रिव्यू, टेस्टीमोनियल, ईमेल, बैकअप सर्विस के बारे में जानने से भी वेब होस्टिंग पैकेज के चयन को आसान किया जा सकता हैं.

होस्टिंग प्रोवाईडर की महत्वपूर्ण विशेषताएं (Some Important Features of Hosting Provider)

  • होस्टिंग के लिए यूजर को अपने नाम के डोमेन के प्रोवाईडर की आवश्यकता होती हैं (जैसे yourwebsite.com), और आपकी होस्टिंग कंपनी द्वारा ईमेल अकाउंट को फीचर किया जाता हैं, आप अपना डोमेन ईमेल अकाउंट (जैसे yourname@yourwebsite.com) भी बना सकते हैं.
  • यदि आप अपने वेब सर्वर पर किसी फाइल को अपलोड करना चाहते हैं तो इसके लिए आप एफटीपी एड्रेस का उपयोग कर आप अपने लोकल कंप्यूटर से यह कर सकते हैं. यदि आप अपना एचटीएमएल फ़ाइल का उपयोग करते हुए वेबसाइट बनाते हैं, तो आप अपनी वेबसाइट को इन्टनेट के जरिये अपने कंप्यूटर से एफटीपी की सहायता से फ़ाइल भी ट्रान्सफर कर सकते हैं.
  • वर्डप्रेस एक ऑनलाइन वेबसाइट क्रियेशन टूल हैं. ये पावरफुल ब्लोगिंग और वेबसाइट कंटेंट मैनेजमेंट सिस्टम हैं जो कि वेबसाइट बनाने में और उसे मैनेज करने में सरल एवं सुगम हैं. वर्डप्रेस इंटरनेट पर वेबसाइट को 25% पॉवर करते हैं. ज्यादातर होस्टिंग प्रोवाइडर ये बतायेंगे कि उनके प्लान वर्डप्रेस के कम्पेटिबल हैं या नहीं. वर्डप्रेस वेबसाइट के लिए बहुत ही सिम्पल रिक्वायरमेंट होती हैं जिनमे पीएचपी वर्जन 7 या ज्यादा (PHP version 7 or greater), मायएसक्यूएल वर्जन 5.6 या ज्यादा (MySQL version 5.6 or greater) शामिल हैं.
  • यदि आप अपनी वेबसाइट को https://www.website.com/ के साथ होस्ट करना चाहते हैं या बनाना चाहते हैं और साथ ही साईट बिल्डर को ड्रैग या ड्राप करना चाहते हैं, तो आपको कस्टम डोमेन, ईमेल एड्रेस और वेब होस्टिंग सब कुछ एक सबस्क्रिपशन में प्राप्त करना होगा.
  • यदि आप अपनी वेबसाईट कोडिंग या वर्डप्रेस जैसे सीएमएस टूल की सहायता से बनाना चाहते हैं, तो आप इन वेबहोस्टिंग प्रोवाईडर का उपयोग कर सकते हैं जिनमें डॉटइजी (Doteasy) लिक्विड वेब (Liquid web) रैकस्पेस (Rackspace) अच्छे फीचर वाली सर्विस प्रोवाइडर हैं.

वेब होस्टिंग सर्विस से कैसे ऑनलाइन बिजनेस के फायदे प्राप्त किये जा सकते हैं

अपनी वेबसाइट को ऑनलाइन पब्लिश करने के लिए आपकी वेबसाइट को वेब होस्टिंग सर्विस की आवश्यकता होती हैं. हालांकि वेब होस्ट के बिजनेस के मालिक को वेब होस्टिंग सर्विस से भी ज्यादा फायदा होता हैं, जैसे वेब होस्टिंग फर्म एम्प्लोय और टैक्नीशियन रखती हैं जिससे ये सुनिश्चित किया जा सके कि ग्राहक की साईट 24/7 चलती रहे, साथ ही जब वेबसाइट ओनर को कोई समस्या हो जैसे स्क्रिप्ट डेब्यूटिंग में, ईमेल भेजने या प्राप्त करने में, डोमेन नेम को रिन्यू करने में तो उसकी सहायता की जा सके. प्रोफेशनल वेब होस्टिंग सर्विस बिजनेस ऑनर को कम समस्याओं के साथ अच्छे अनुभव का मौका देता हैं जिससे कि वो ज्यादा समय और एफर्ट अपने बिजनेस में लगा सके.

उक्त सभी बातों को ध्यान में रखने के अलावा यूजर को स्टोरेज स्पेस, बैंडविड्थ (Bandwidth), कोस्ट के साथ ही सर्वर के रूट कंट्रोल के बारे में भी जान लेना चाहिए, क्योंकि वेब होस्टिंग में ये भी महत्वपूर्ण कारक हैं.

अन्य पढ़ें –

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *