ताज़ा खबर

युवा आजीविका लोन सब्सिडी योजना हिमाचल प्रदेश 2018 | HP Yuva Aajeevika Loan Subsidy Scheme 2018 in Hindi

युवा आजीविका लोन सब्सिडी योजना हिमाचल प्रदेश 2018 (Himachal Pradesh Yuva Aajeevika Loan Subsidy Scheme  in Hindi) [Application Form, Process, Eligibility Criteria, Documents]

देश में युवाओं को रोजगार के अवसर प्रदान करने के लिए सरकार कई प्रयास कर रही हैं. ऐसा ही एक प्रयास हिमाचल प्रदेश की राज्य सरकार ने भी किया हैं. इसके तहत स्वरोजगार के लिए एक योजना की शुरुआत की गई है, जिसका नाम “युवा आजीविका योजना” हैं. इस योजना के अनुसार राज्य सरकार उन इच्छुक युवा आवेदकों को, जो खुद का व्यापार शुरू करना चाहते हैं क्रेडिट प्रदान करेगी ताकि वे अपना व्यापार शुरू कर सकें. इस योजना में दिए जाने वाले लोन सब्सिडी और योजना के बारे में जानकारी इस प्रकार हैं.

Yuva Aajeevika Yojana in Himachal Pradesh     

युवा आजीविका लोन सब्सिडी योजना के लांच की जानकारी (Yuva Aajeevika Scheme Launched Details)

क्र. म. योजना की जानकारी बिंदु (Scheme Information Points) योजना की जानकारी (Scheme Information)
1. योजना का नाम (Scheme Name) युवा आजीविका योजना
2. योजना का लांच (Scheme Launched In) हिमाचल प्रदेश
3. योजना की शुरुआत (Scheme Launched By) हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर द्वारा
4. योजना की घोषणा (Announcement Date) 9 जुलाई, 2018
5. योजना के लाभार्थियों का टारगेट (Target Beneficiaries) बेरोजगार युवा
6. बजट मंजूरी (Budget Sanction) 75 करोड़ रूपये

युवा आजीविका योजना की विशेषताएँ (Yuva Aajeevika Scheme Features)

इस योजना की प्रमुख्य विशेषताएँ कुछ इस प्रकार हैं –

  • कुल क्रेडिट सीमा (लोन राशि) :- इस योजना के ड्राफ्ट में यह उल्लेख किया गया है कि सभी उम्मीदवार जिसने इस योजना में एनरोल किया है, उन्हें अपना व्यापार शुरू करने के लिए 30 लाख रुपये दिए जायेंगे.
  • ब्याज पर सब्सिडी :- वे सभी उम्मीदवार को राज्य अथॉरिटी से वित्तीय सहायता प्राप्त कर रहे हैं, उन्हें ब्याज दर पर सब्सिडी भी प्रदान की जाएगी. ब्याज पर दी जाने वाली सब्सिडी 5 % होगी.
  • कार्यकाल :- राज्य सरकार लगातार कुल 3 सालों तक ब्याज दर पर सब्सिडी प्रदान करना जारी रखेगी.   
  • बेरोजगार युवाओं की सहायता :- राज्य में ऐसे युवाओं की एक बड़ी संख्या मौजूद है, जिनके पास रोजगार नहीं है. यहाँ तक कि यदि कोई युवा अपना खुद का व्यापार शुरू करना चाहते हैं तो उनके लिए पूँजी की कमी एक परेशानी बन गई है. इस क्रेडिट प्रोजेक्ट के साथ, राज्य सरकार क्रेडिट आधार पर कैपिटल प्रदान करेगी, ताकि वे सभी युवा अपना खुद का वेंचर शुरू कर सकें.
  • रोजगार के अवसर पैदा करना :– अधिक लोगों द्वारा अपना खुद का व्यापार शुरू करने के रूप में वे लोग दूसरों के लिए भी रोजगार के पर्याप्त अवसर उत्पन्न करने के लिए सक्षम होंगे. इस प्रकार यह योजना इनडायरेक्टली हिमाचल प्रदेश में बेरोजगारी के खतरे को रोकने के लिए महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगी.
  • स्वरोजगार के लिए प्रोत्साहन :– इस प्रोजेक्ट के क्रियान्वयन के साथ, राज्य सरकार उन लोगों को जो खुद का व्यापार शुरू करना चाहते हैं, पर्याप्त प्रोत्साहन प्रदान करना चाहती है. यह राज्य में स्वरोजगार की संख्या को बढ़ाएगा.
  • शहरी और ग्रामीण दोनों निवासियों के लिए :– इस योजना में आवेदकों के बीच इस आधार पर कोई भेदभाव नहीं है कि वे कहाँ रहते हैं और कहाँ से व्यापार संचालित कर रहे हैं. इसका मतलब कोई भी युवा जो शहरी या ग्रामीण किसी भी क्षेत्र का हो, इस योजना के लिए आवेदन करने में सक्षम हैं.
  • राज्य कर्तव्य में कमी :- इस योजना के अलावा, राज्य सरकार ने यह भी घोषणा की कि यदि कोई आवेदक को अपना व्यापार शुरू करने के लिए जमीन खरीदने की आवश्यकता है तो उन्हें केवल 3 % स्टाम्प ड्यूटी का भुगतान करना होगा. पहले यह 6 % था.
  • महिलाओं के लिए उपहार :– अंत में राज्य सरकार ने इस योजना के तहत यह घोषणा भी की कि कुल 25 % महिला आवेदक इस योजना के लिए लोन प्राप्त कर सकती हैं. उन्हें उपहार भी दिया जायेगा. यह उपहार राशि 30 % होगी.
  • अन्य प्रोत्साहन :- कोई भी लाभार्थी अपने स्वयं के व्यवसाय शुरू करने के लिए बैंकों से आसानी से लोन ले सकता है. यह लोन योजना युवाओं को रिटेलर, दूकान के मालिक, खुद का ढाबा खोलने, रेस्तौरेंट, टूर ऑपरेटर, एडवेंचर पर्यटन और पारंपरिक शिल्प कार्य शुरू करने के लिए प्रोत्साहित करेगी.

युवा आजीविका योजना के लिए पात्रता मापदंड (Yuva Aajeevika Scheme Eligibility Criteria)

हिमाचल प्रदेश की राज्य सरकार ने युवा आजीविका लोन सब्सिडी योजना का लाभ उठाने वाले युवाओं के लिए कुछ पात्रता मापदंड और आयु सीमा निर्धारित की हैं जोकि इस प्रकार है –

  • आवासीय मापदंड :- हिमाचल प्रदेश की राज्य सरकार इस योजना के क्रियान्वयन के लिए सभी वित्तीय आवश्यकताओं को पूरा करेगी, इसके लिए इस योजना में केवल वे ही युवा आवेदन कर सकेंगे जो हिमाचल प्रदेश में स्थाई रूप से निवास करते हो.
  • आयु सीमा :- इस योजना के अधिकारिक घोषणा में यह साफ – साफ उल्लेख किया गया है कि इस योजना में पात्र होने वाले आवेदकों की आयु सीमा 18 से 35 वर्ष के बीच होनी चाहिए.
  • आय की स्थिति :- केवल वे बेरोजगार युवा जिनके पास आय का कोई स्थिर स्त्रोत नहीं है वे इस क्रेडिट योजना के लिए आवेदन करने के पात्र हैं.
  • जाति और धर्म की कोई सीमा नहीं है :- वे सभी युवा उम्मीदवार जो किसी भी जाति से, इकॉनोमिक समूह से या वित्तीय बैकग्राउंड से संबंध रखते हो. इस योजना के लिए सक्षम हैं.
  • व्यापार चुनने के लिए कोई सीमा नहीं है :- इस योजना में मिलने वाले पैसे से आप किसी भी प्रकार का व्यापार शुरू कर सकते हैं. किन्तु यह राज्य के अंदर ही संचालित होना चाहिए.

युवा आजीविका योजना के लिए दस्तावेज (Yuva Aajeevika Scheme Documents)

इस योजना के लिए लगने वाले दस्तावेज निम्न हैं –

  • आवासीय प्रमाण :- आवासीय मापदंड में होने के लिए सभी आवेदकों को उनका कानूनी आवासीय प्रमाण पत्र का देना परम आवश्यक है, जोकि हिमाचल प्रदेश के उनके वास्तविक आवासीय होने का प्रमाण हाईलाइट करता है.
  • आयु का प्रमाण :- दी हुई आयु सीमा में होने के साथ ही आवेदकों को अपना आयु का प्रमाण देना भी आवश्यक है.
  • बेरोजगारी का प्रमाण :- इस योजना का क्रियान्वयन उन युवाओं में सुधार लाने के लिए हैं जिनके पास रोजगार नहीं हैं. उन सभी आवेदकों को एक आधिकारिक डिक्लेरेशन जमा करना होगा कि वे किसी भी ऐसी नौकरी से नहीं जुड़े हैं जो उन्हें स्थिर वेतन दे रहा है.   

युवा आजीविका योजना में लोन के लिए आवेदन करने का तरीका (Yuva Aajeevika Scheme Application Form And Procedure)

यह एक नई योजना जोकि अभी लांच की गई है. हालाँकि यह उल्लेखनीय हैं कि हिमाचल प्रदेश के पंचायती राज विभाग के पास पहले से ही इसके क्रियान्वयन और आवेदन से सम्बंधित दिशानिर्देशों का चार्ट उपलब्ध है. इसे फाइनल हरी झंडी के लिए राज्य सरकार के पास भेजा गया है. एक बार यह पूरा हो जाने के बाद, सम्बंधित विभाग इसके लिए आवेदन करने की प्रक्रिया और रोल आउट तारीख की घोषणा करेगा.  

यदि यह योजना सफल हो जाती है तो राज्य सरकार राज्य की ओवरआल स्थिति को अपलिफ्ट करेगी. यह क्रेडिट योजना यह सन्देश देना चाहती है कि राज्य अपने प्रयासों के लिए तैयार हैं. राज्य सरकार युवाओं को कम ब्याज दर प्रदान करेगी, जोकि उनके द्वारा उठाये गये पहला कदम की आवश्यकताओं का समर्थन करेगी. 

अन्य पढ़े

  1. बुराड़ी काण्ड क्या हैं ?
  2. जीरो बजट प्राकृतिक खेती क्या है?
  3. मुख्यमंत्री सरल बिजली बिल योजना मध्य प्रदेश 
  4. लोकसभा इंटर्नशिप प्रोग्राम -2018 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *