क्रिसमस डे इतिहास शायरी एवम कहानी

क्रिसमस डे इतिहास, शायरी एवम कहानी ( Christmas day History Tree Shayari Speech In Hindi)

दुनियाँ में जितने भी त्यौहार मनाये जाते हैं, उनका मकसद केवल प्रेम हैं. एकता को बनाये रखने के लिए ही त्यौहार शुरू किये गये, लेकिन आज हम सभी वास्तविक्ता से बहुत दूर आपसी बैर में एकता को खत्म कर रहे हैं.

क्रिसमस डे  दूनियाँ में सर्वाधिक मनाये जाने वाले त्यौहारों में से एक हैं. यह ईसाई धर्म का विशेष फेस्टिवल हैं. इस दिन गॉड ईसा मसीह का जन्म हुआ था. इस फेस्टिवल को क्रिश्चियन समुदाय के लोग पुरे उत्साह से मनाते हैं. इस दिन पुरे वर्ल्ड में छुट्टी होती हैं. सभी त्यौहार प्रेम और आपसी समझ को बढ़ावा देने के लिए मनाये जाते हैं. इनमे क्रिसमस डे का भी यही उद्देश्य हैं. खासतौर पर बच्चों में प्रेम और ईश्वर के प्रति आस्था बनाये रखने के लिए इस दिन कई प्रकार के आयोजन किये जाते हैं.

Christmas day

कब मनाया जाता हैं क्रिसमस डे (Christmas Day 2021 Date)

यह दिन 25 दिसम्बर के दिन मनाया जाता हैं. इसे बड़ा दिन कहा जाता हैं. माना जाता हैं इस दिन ईसा मसीहा का जन्म हुआ था, जो कि क्रिश्चियन समुदाय के भगवान कहे जाते हैं. क्रिसमस 12 दिनों तक मनाया जाता है, इस प्रकार यह 6 जनवरी तक चलता हैं.

सभी धर्म प्रेम का पाठ सिखाते हैं, इस त्यौहार का भी यही मकसद हैं, यह भी मनुष्य में प्यार और विश्वास को बनाये रखने का संदेश देता है.

क्रिसमस के 12 दिन के फेस्टिवल को क्रिसमस टाइड के नाम से जाना जाता हैं. इन दिनों सभी एक दुसरे को गिफ्ट्स, फ्लावर्स, कार्ड्स आदि देते हैं. साथ ही इन दिनों क्रिसमस के सॉंग गाये जाते हैं और कई देशो में इस दिन सांता की प्रथा का अनुसरण किया जाता हैं.

छोटे बच्चे सांता क्लॉज़ से नये-नये गिफ्ट की विश करते हैं और इस दिन सांता उनकी इच्छा पूरी करते हैं.

क्रिसमस की कहानी (Christmas Day Story)

क्रिसमस का दिन जीजस क्रिस्ट का जन्म दिवस माना जाता हैं. इसके बारे में तथ्य बाइबिल में लिखे गए हैं. इनके बारे में कई कहानियाँ कही जाती हैं. तथ्य के अनुसार कहा जाता हैं इनके जन्म के समय गॉड ने मनुष्य को यह संकेत दिए थे कि उनकी रक्षा और उन्हें ज्ञान देने के लिए ईश्वर का एक अंश मसीहा के रूप में आप सभी के बीच जन्म लेने वाला हैं.

जीजस को ही मसीहा कहा जाता हैं, इनकी माँ का नाम मेरी और पिता का नाम जोसेफ था. जब इनका जन्म होने वाला था, तब इनके माता पिता की शादी नहीं हुई थी, इनके पिता एक कारपेंटर थे. इनके जन्म के समय गॉड ने इनके माता पिता को इनके दिव्य होने का संदेशा एक परी के जरिये भिजवाया था और बहुत से ज्ञानी महात्मा लोगो को भी इस बात का पता था, कि ईश्वर का अंश जन्म लेने वाला हैं. इनके जन्म के समय इनके माता पिता एक जंगली इलाके में फंस गये थे, वही कई जानवरों के बीच जीजस का जन्म हुआ था, जिसे देखने कई महान बुद्धिमान लोग आये थे. कहा जाता हैं वह दिन क्रिसमस था.

क्रिसमस ट्री इतिहास  (Christmas Tree Celebration History)

क्रिसमस डे सेलिब्रेशन में सबसे ज्यादा महत्व क्रिसमस ट्री का होता है, इसके पीछे भी एक पौराणिक कथा कही जाती है, कि कैसे इस दिन ट्री को सजाया जाने लगा.

क्रिसमस के दिन सदाबहार वृक्ष को सजाकर सेलिब्रेशन किया जाता हैं यह परम्परा जर्मनी से शुरू हुई, जिसमे एक बीमार बच्चे को खुश करने के लिए उसके पिता ने सदाबहार वृक्ष को सुंदर तैयार करके उसे गिफ्ट दिया.

इसके अलावा यह भी कहा जाता है कि जब जीजस का जन्म हुआ, तब ख़ुशी व्यक्त करने के लिए सभी देवताओं ने सदाबहार वृक्ष को सजाया तब ही से इस वृक्ष को क्रिसमस ट्री का प्रतीक समझा जाने लगा और यह परंपरा प्रचलित हो गई.

कैसे मानते हैं क्रिसमस डे  (Christmas Day Celebration)

  • यह फेस्टिवल क्रिसमस के कई दिनों पहले शुरू हो जाता है, जिसमे क्रिश्चियन जाति के लोग अथवा जो इसे मानते हैं. वे सभी इन दिनों बाइबिल पढ़ते हैं, मैडिटेशन करते हैं और अपने धर्म के अनुसार फ़ास्ट अथवा उपवास भी करते हैं.
  • क्रिसमस में यीशु के जन्म का सेलिब्रेशन के साथ- साथ दुनियाँ में शांति का संदेश भी देता हैं. यीशु शांति और सदाचार का प्रतीक माने जाते हैं, इन दिनों उनके जीवन संबंधी कहानियाँ पढ़ी एवम सुनाई जाती हैं, जिससे मनुष्य में शांति, दया, सदाचार एवम प्यार का भाव उत्पन्न हो सके.
  • इन दिनों में सभी अपने घर एवम आसपास के सभी स्थानों को साफ़ करते हैं, उन्हें सजाते हैं. कई अच्छे-अच्छे व्यन्जन बनाते हैं. अपनों के लिए गिफ्ट्स लाते हैं, कार्ड्स बनाते हैं. और एक दुसरे से मिलकर उन्हें कार्ड्स, गिफ्ट्स एवम कई पकवान देते हैं.
  • इन दिनों चर्च में प्रेयर की जाती हैं, मैडिटेशन करते हैं, सॉंग गाये जाते हैं, कैंडल जलाकर सेलिब्रेशन किया जाता हैं.
  • यीशु के जन्म का सेलिब्रेशन किया जाता हैं, खासतौर पर चर्च में जश्न मनाया जाता हैं.

Christmas Day Shayari (क्रिसमस डे शायरी)

खत्म हुआ इंतजार फिर आएगी सदाबहार क्रिसमस का लाये हैं हम संदेश

सभी मनाये क्रिसमस देश विदेश

========

सुंदर सजाया क्रिसमस ट्री घर में बनाया केक और पेस्ट्री कब बजेगी घड़ी में बारा

हम जायेंगे मोहल्ला सारा

==========

टीम टीम करते तारे
आसमान में छा गये सारे
कहते हैं वो जोर-जोर से
क्रिसमस मनाओ जोर शोर से

==========

सुंदर सजायेंगे ट्री इस बार चलो जल्दी करो मेरे यार आयेगा सांता क्लॉज़ इस बार

मांगो तौहफा और ढेर सारा प्यार

==========

आया हैं आया क्रिसमस का त्यौहार चलो मनाये जमकर इस बार देते हैं आपको ढेर सारी बधाई

खत्म करो आज सारी लड़ाई

==========

त्यौहार प्रेम और दया का भाव सिखाता हैं इसे जितना मनाते हैं उतना ही अपनों के करीब आते हैं. त्यौहार किसी भी धर्म का हो प्रेम का पाठ ही सिखाता हैं. इसलिए हमें सभी त्यौहार दिल से मनाना चाहिये.

अन्य पढ़े

Karnika
कर्णिका दीपावली की एडिटर हैं इनकी रूचि हिंदी भाषा में हैं| यह दीपावली के लिए बहुत से विषयों पर लिखती हैं | यह दीपावली की SEO एक्सपर्ट हैं,इनके प्रयासों के कारण दीपावली एक सफल हिंदी वेबसाइट बनी हैं

More on Deepawali

Similar articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here