Cracked Software क्या है | Cracked Software Download Advantage Disadvantage in Hindi

Cracked Software क्या है, क्रैक सॉफ्टवेयर, फायदे, नुकसान, डाउनलोड (Cracked Software, Download, Advantage, Disadvantage, Websites, Online, Safe, in Hindi)

आज का समय काफी ज्यादा डिजिटल है और सभी प्रकार के कामों को कंप्यूटर की सहायता से किया जाता है और कंप्यूटर बिना सॉफ्टवेयर के एक कचरे के समान होता है।कंप्यूटर में काम करने के लिए हमें अनेकों प्रकार के सॉफ्टवेयर चाहिए होते हैं और वे सभी सॉफ्टवेयर काफी महंगे होते हैं, जो हर कोई आसानी से खरीद नहीं सकता है। ऐसे काम के सॉफ्टवेयर को इस्तेमाल करने के लिए हमें कुछ जुगाड़ करना पड़ता है और हम जरूरी सॉफ्टवेयर को इस्तेमाल करने के लिए उसे क्रैक करते हैं और फिर उसका इस्तेमाल करते हैं, इसके वजह से यह फ्री में उपलब्ध हो जाता है। आइए इस लेख में जानते हैं,क्रैक सॉफ्टवेयर क्या है और इसे कहां से डाउनलोड कर सकते हैं।

हाथरस रेप केस के बारे में पूरी जानकारी, जानने के लिए क्लिक करे

क्रैक्ड सॉफ्टवेयर क्या है [Cracked Software kya hain ]


दोस्तों जब कोई भी डेवलपर मोबाइल या फिर लैपटॉप के लिए किसी भी प्रकार का सॉफ्टवेयर बनाता है और उस सॉफ्टवेयर में जब कोई अन्य डेवलपर्स किसी भी प्रकार का बदलाव करके उसे फ्री में इस्तेमाल करने के लिए रीडिजाइन कर देता है, तो हम इसे क्रैक्ड सॉफ्टवेयर कहते हैं। आज ऑनलाइन बाजार में आप बहुत सारे अनेकों प्रकार के कंप्यूटर या मोबाइल फोन के लिए क्रैक्ड सॉफ्टवेयर डाउनलोड कर सकते हैं।

क्रैक्ड सॉफ्टवेयर कहां से डाउनलोड करें [ Cracked Software Download Sites]

दोस्तों आज आप बड़े आसानी तरीके से इंटरनेट का इस्तेमाल करके अपने इस्तेमाल लायक किसी भी प्रकार का सॉफ्टवेयर डाउनलोड कर सकते हैं और ऐसे सॉफ्टवेयर को डाउनलोड करने के लिए हजारों वेबसाइट आपको मिल जाएंगे।

चलिए जानते हैं

कुछ क्रैक्ड सॉफ्टवेयर डाउनलोडिंग वेबसाइट के बारे में जो इस प्रकार से नीचे निम्नलिखित है।

  • Techno360
  • Download.hr
  • Mostiwant
  • Malwaretips
  • Tickcoupon giveaway
  • Topwaresale
  • Giveawayofthe day
  • Sharewareonsale
  • Giveaway radar

ब्लैक लाइव्स मैटर क्या है , इस बारे में जानने के लिए क्लिक करे .

क्रैक सॉफ्टवेयर डाउनलोड करने के फायदे [Cracked Software Benefits]

क्रैक्ड सॉफ्टवेयर के जरिए हर एक इंसान अपने जरूरत के हिसाब से किसी भी सॉफ्टवेयर को बिल्कुल फ्री ऑफ कॉस्ट इस्तेमाल कर सकता है।

आइए जानते हैं, क्रैक सॉफ्टवेयर इस्तेमाल करने के फायदे के बारे में जो इस प्रकार से निम्नलिखित हैं।

शेयर करना आसान

आप क्रैक्ड सॉफ्टवेयर को अपने इस्तेमाल के साथ-साथ किसी अन्य व्यक्ति को भी इसे इस्तेमाल करने के लिए शेयर कर सकते हैं और वह भी अपने जरूरत को इसे आसानी से इस्तेमाल कर सकेगा।

आसान डाउनलोड

यदि आपके पास इंटरनेट का अनुभव है और आप किसी भी पैड सॉफ्टवेयर को फ्री में इस्तेमाल करना चाहते हैं, तो आप इंटरनेट का इस्तेमाल करके क्रैक सॉफ्टवेयर चंद सेकंड में डाउनलोड कर सकते हैं।

कभी भी इस्तेमाल करने की आजादी

आप ऐसे सॉफ्टवेयर को डाउनलोड करके अपने सुविधा और जरूरत के अनुसार इस्तेमाल कर सकते हैं, इसके लिए आपको किसी भी प्रकार के डेवलपर या फिर कंपनी से सब्सक्रिप्शन या फिर पैड सॉफ्टवेयर को डाउनलोड करने की आवश्यकता नहीं पड़ती हैं।

चंपारण सत्याग्रह आंदोलन क्या था , इस बारे में जानने के लिए यहाँ क्लिक करे

क्रैक सॉफ्टवेयर के नुकसान [Cracked Software Disadvantage]

जिस प्रकार से किसी भी चीज के अपने फायदे होते हैं, उसी प्रकार से उस चीज के अपने नुकसान भी होते हैं। आइए जानते हैं, क्रैक सॉफ्टवेयर के नुकसान।

अपग्रेड नहीं मिलता

जब हम किसी भी प्रकार के सॉफ्टवेयर को क्रैक वर्जन में इस्तेमाल करते हैं, तो हमें उस सॉफ्टवेयर का कोई भी नया अपडेट का नोटिफिकेशन नहीं मिलता और हम उसे अपडेट नहीं कर सकते हम उसे के पुराने वर्जन को ही इस्तेमाल कर सकते हैं।

गैर कानूनी काम

दोस्तों जब कोई भी व्यक्ति अपनी मेहनत और अपने परिश्रम पर काम करके किसी भी प्रकार का कोई सॉफ्टवेयर डिजाइन करेगा और आप उसे क्रैक करके फ्री में लोगों के लिए उपलब्ध करवा देंगे तो यह एक प्रकार से कानूनन अपराध ही तो कह लाएगा। ऐसे में उस सॉफ्टवेयर का ओनर या कंपनी का मालिक यदि चाहे तो वह आपके ऊपर कानूनी कार्रवाई करवा सकता है।

किसी भी प्रकार का समस्या का सपोर्ट नहीं

यदि हम किसी भी प्रकार के सॉफ्टवेयर को क्रैक्ड वर्जन में इस्तेमाल करते हैं और उसमें किसी भी प्रकार की समस्या आती है, तो ऐसे में हम उस कंपनी के साथ संपर्क करके किसी भी प्रकार का सपोर्ट नहीं प्राप्त कर सकते हैं।

सुरक्षित नहीं

जब हम किसी भी प्रकार की क्रैक्ड सॉफ्टवेयर को इस्तेमाल करते हैं, तो उसका वास्तविक सरवर से कनेक्शन टूट जाता है और उस सॉफ्टवेयर से संबंधित सारे सुरक्षा हट जाती है।और ऐसे में यदि हम किसी भी प्रकार का सॉफ्टवेयर इस्तेमाल करेंगे तो हमारा सिस्टम सुरक्षित नहीं रहेगा।

वैधता की गारंटी नहीं

क्रैक वर्जन का सॉफ्टवेयर आपका साथ कब तक देगा इसकी कोई भी गारंटी नहीं होती और यह कभी भी बंद हो सकता है या इसमें समस्या पैदा हो सकती है।

क्रैश समस्या

क्रैक किए हुए सॉफ्टवेयर में अक्सर बार-बार क्रेशिंग की समस्या होती है, सॉफ्टवेयर चलते-चलते अचानक से बंद हो जाता है या फिर उसमें किसी भी प्रकार का अचानक से येरर आने लगता है।

महिलाओं के लिए घरेलू बिजनेस आइडिया, इस जानकारी के लिए दी गई लिंक पर क्लिक करे .

क्रैक सॉफ्टवेयर को इस्तेमाल करना सही है या फिर गलत

दोस्तों जब कोई भी डेवलपर सिस्टम में इस्तेमाल होने के लिए किसी भी प्रकार का सॉफ्टवेयर डिजाइन करता है, तो ऐसे में उसका समय और बहुत ज्यादा पैसा खर्च हुआ होता है। किसी के लिए सॉफ्टवेयर डेवलपर अपने सॉफ्टवेयर की एक प्राइस फिक्स करते हैं और फिर वह बाजार में इसे इस्तेमाल करने के लिए एक फिक्स कीमत पर बेचते हैं। ऐसे में जब कोई नया डेवलपर ओरिजिनल डेवलपर के बनाए गए सॉफ्टवेयर को क्रैक करके उसे अन्य लोगों के साथ इस्तेमाल करने के लिए साझा कर देता है, तो मेन सॉफ्टवेयर डेवलपर को इसकी वजह से काफी ज्यादा नुकसान झेलना पड़ता है और ऐसे में वह बहुत ही ज्यादा मानसिक तनाव से जूझने लगता है। इसलिए हमारी दृष्टि से कौन से यह बिल्कुल भी सही नहीं, परंतु जो व्यक्ति काम करना चाहता है और वह इस सॉफ्टवेयर को इस्तेमाल करने के लिए वास्तविक पैसे नहीं चुका पाता है, तो उसके लिए यह भी बिल्कुल सही होता है, मतलब एक तरह से देखा जाए, तो यह एक प्रकार से सही है और दूसरी तरफ से बिल्कुल गलत।

FAQ

Q : क्रैक सॉफ्टवेयर का क्या मतलब है ?

Ans : किसी सॉफ्टवेयर के किसी फीचर को हटाने या फिर उसे डिसेबल करके उसे संशोधित करना क्रैक सॉफ्टवेयर होता है.

Q : क्या क्रैक सॉफ्टवेयर उपयोग करना सुरक्षित है ?

Ans : यह निर्भर करना है कि क्रैक सॉफ्टवेयर कैसे ऑपरेट हो रहा है.

Q : क्या क्रैक सॉफ्टवेयर या खाता कानूनी रूप से सही है ?

Ans : जी नहीं.

Q : क्रैक सॉफ्टवेयर के क्या फायदे है ?

Ans : शेयर करने में आसान, डाउनलोड करने में आसान एवं कभी भी इस्तेमाल किया जा सकता है.

Q : क्रैक सॉफ्टवेयर के उपयोग से क्या नुकसान है ?

Ans : अपग्रेड नहीं होगा, वैधता की गारंटी नहीं मिलती एवं गैर कानूनी होता है.

अन्य पढ़ें –

Karnika

कर्णिका दीपावली की एडिटर हैं इनकी रूचि हिंदी भाषा में हैं| यह दीपावली के लिए बहुत से विषयों पर लिखती हैं |यह दीपावली की SEO एक्सपर्ट हैं,इनके प्रयासों के कारण दीपावली एक सफल हिंदी वेबसाइट बनी हैं
Karnika

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *