कॉमन सर्विस सेंटर कैसे खोले | CSC Centre Online Registration in hindi

कॉमन सर्विस सेंटर कैसे खोले 2020 (शुरू करने की प्रक्रिया, ऑनलाइन आवेदन पंजीकरण, रजिस्ट्रेशन, वेबसाइट, सीएससी डिजिटल सेवा, हेल्पलाइन नंबर, एप्लीकेशन स्टेटस, प्रमाणपत्र) (CSC Online new Registration in hindi, Status, csc centre kaise khole)

केंद्र सरकार द्वारा प्रतिदिन लोगों की भलाई के लिए कोई ना कोई नई योजना लागू की जाती है। परंतु कुछ योजनाएं ऐसी होती हैं जो गरीब लोगों तक पहुंच नहीं पाती है क्योंकि उन्हें इतनी समझ नहीं होती है कि वह इस योजना में कैसे स्वयं का पंजीकरण कर सकते हैं। उन्हीं की मदद के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में कॉमन सर्विस सेंटर खोले जाते हैं जिन्हें डिजिटल सेंटर के नाम से भी जाना जाता है। आज हम आपको बताएंगे कि किस प्रकार आप कॉमन सर्विस सेंटर के जरिए आसानी से ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले व्यक्ति घर बैठे ही एक प्रति माह एक उचित आमदनी प्राप्त कर सकते हैं। आइए जान लेते हैं संपूर्ण विस्तृत प्रक्रिया:-

csc-common-service-center-online-registration-kaise-khole-hindi

सीएससी क्या है?

कॉमन सर्विस सेंटर आरंभ करने से पहले आपको यह समझ लेना होगा कि कॉमन सर्विस सेंटर आखिर होता क्या है? दरअसल डिजिटल सेवा को चलाने वाला एक केंद्र कॉमन सर्विस सेंटर कहलाता है। मुख्य रूप से कॉमन सर्विस सेंटर भारतीय नागरिकों तक सरकार द्वारा दी जाने वाली सुविधाओं को पहुंचाने का एक जरिया है जिनमें मुख्य रूप से कृषि, स्वास्थ्य, मनोरंजन, शिक्षा, बैंकिंग और वित्तीय सेवाओं के साथ-साथ उपयोगिता भुगतान के साथ कई सारी योजनाएं भी शामिल की जाती हैं। आईए जान लेते हैं इन सर्विस सेंटर का उद्देश्य होता क्या है?

ग्रामीण युवा सिर्फ 10 हज़ार रुपये की लागत में शुरू करें मुनाफे के ये बिज़नेस, होगी बंपर कमाई यहाँ पढ़ें

कॉमन सर्विस सेंटर का उद्देश्य

देश भले ही डिजिटल बन गया है परंतु आज के समय में भी ऐसे बहुत से लोग हैं जो इंटरनेट से जुड़े काम नहीं कर पाते हैं। केवल इसी कारण से वह सरकार द्वारा प्रदान सेवाओं का उचित लाभ नहीं प्राप्त कर पाते हैं। उनकी सहायता के लिए ही ऐसे कॉमन सर्विस सेंटर खोले जाते हैं जो उन्हें उनकी आवश्यकता के अनुसार सहायता करते हैं और उसके बदले कुछ फीस भी लेते हैं। कॉमन सर्विस सेंटर का मुख्य उद्देश्य यही है कि कम फीस में भी उन्हें सरकारी और निजी क्षेत्र के साथ-साथ सामाजिक क्षेत्र से प्राप्त सभी सेवाओं की जानकारी प्रदान करते हुए उनकी सहायता करना है।

कैसे करवा सकते हैं जन सेवा केंद्र खोलने के लिए पंजीकरण?

सरकार द्वारा कॉमन सर्विस सेंटर में पंजीकरण की प्रक्रिया पूरी तरह से ऑनलाइन रखी गई है। आवेदन करता व्यक्ति के पास उसका रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर और एक ईमेल आईडी होने आवश्यक है। आइए सरकार के दिशा निर्देशों के अनुसार पंजीकरण की प्रक्रिया को जान लेते हैं:-

  • सबसे पहले आवेदन कर्ता व्यक्ति को कॉमन सर्विस सेंटर के लिए सरकार द्वारा जारी किया गया अपना फॉर्म भरने के लिए आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया के लिए होम पेज पर दिए गए न्यू वीएलई रजिस्ट्रेशन या अप्लाई बटन पर आवेदन कर्ता व्यक्ति को क्लिक करना होगा।
  • आवेदन कर्ता को आवश्यक विवरण जैसे आवेदक का नाम, आधार कार्ड की संख्या नंबर, प्रमाणीकरण प्रकार और साथ ही कैप्चा कोड दिया होता है जिसे वहां पर भरना आवश्यक होता है।
  • प्रमाणीकरण समाप्त होने के बाद आवेदक को कुछ निम्नलिखित टैब जैसे किओस्क, व्यक्तिगत, आवासीय, बैंकिंग, दस्तावेज और वहां पर मौजूद इंफ्रास्ट्रक्चर विवरण के अनुसार सभी विवरण भरने की आवश्यकता होती है।
  • अपने पैन कार्ड की कॉपी स्कैन करने के बाद वहां पर लगानी होती है। वर्तमान फोटो भी वहां पर अपलोड करनी होगी।
  • इंफ्रास्ट्रक्चर विवरण को भी सटीक तरीके से आवेदन कर्ता को भरना आवश्यक है।
  • अंत में आपको अपने आवेदन पत्र की पूरी तरह से समीक्षा करनी होगी ताकि आप किसी प्रकार की त्रुटि की वजह से अपना आवेदन ना खो दे।
  • उसके बाद आप अपने आवेदन पत्र की पुष्टि करने के बाद उसे सबमिट कर सकते हैं।
  • जब प्रक्रिया पूरी होने के बाद आप अपना आवेदन पत्र जमा करा देते हैं तब आपको आपके रजिस्टर ईमेल आईडी पर एक मेल आता है जिसमें आपके पंजीकरण की पुष्टि हो जाती है।

महिलाओं के लिए घरेलु बिजनेस आईडिया, घर बैठे कम सकती है लाखों, यहाँ पढ़ें

पंजीकरण के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • पंजीकरण के लिए सबसे पहले आपका आयु प्रमाण पत्र होना चाहिए क्योंकि इस योजना में पंजीकरण के लिए 18 वर्ष से अधिक आयु होनी आवश्यक है।
  • आपका आधार कार्ड नम्बर योजना के अंतर्गत आपको दर्ज कराना होता है।
  • पेन कार्ड के साथ-साथ आपको अपनी ईमेल आईडी भी आवेदन के समय दर्ज कराने आवश्यक है।
  • आपके बैंक खाते का संपूर्ण विवरण और साथ ही बैंक में रजिस्टर्ड नंबर वहां पर दर्ज कराना आवश्यक है।
  • पासपोर्ट साइज फोटो भी अवश्य लगाएं।
  • न्यूनतम दसवीं कक्षा की मार्कशीट भी आवेदन के समय आवश्यक है इसके अलावा यदि आपने कोई उच्च शिक्षा प्राप्त की है तो उसके दस्तावेज भी ही लगाने आवश्यक है।
  • आपके आवासीय पते का प्रमाण पत्र भी आवेदन के समय जरूरी है।
  • जहां पर आप कॉमन सर्विस सेंटर खोलना चाहते हैं वहां की तस्वीर भी वहां पर लगानी होती है।

आवश्यकताएं और योग्यता

सरकार द्वारा कॉमन सर्विस सेंटर खोलने के लिए कुछ दिशानिर्देश और आवश्यकताएं भी जारी की गई है जो निम्नलिखित हैं उनके अनुसार ही कोई व्यक्ति अपना सीएससी सेंटर खोल सकता है:-

  • सबसे पहले जो व्यक्ति कॉमन सर्विस सेंटर खोलना चाहता है उसकी आयु 18 वर्ष होनी चाहिए और साथ ही वह कम से कम 10 वीं पास होना चाहिए।
  • इसके अलावा वह जिस राज्य में रहता है वहां की लोकल भाषा के साथ-साथ उसे अंग्रेजी भाषा और कंप्यूटर का मूल ज्ञान भी होना चाहिए।
  • इस योजना में पंजीकरण प्राप्त के लिए आवेदन कर्ता के पास आधार कार्ड होना अनिवार्य है। यदि आवेदन कर्ता के पास आधार कार्ड मौजूद नहीं हैं तो तुरंत उसे अपना आधार कार्ड बनवा लेना चाहिए।

लॉकडाउन के बाद अधिक मुनाफा कमाने वाले 10 बेहतरीन व्यापार अपना कर कमायें लाखो, यहाँ पढ़ें

VLE क्या होता है?

VLE वह प्रमुख हित धारक होता है जो ग्रामीण क्षेत्र में अपना खुद का सीएसपी सेंटर चलाता है।

सीएससी सेंटर खोलने के लिए लगने वाला खर्च

पंजीकरण के दौरान तो वैसे आपको किसी भी प्रकार की राशि का भुगतान नहीं करना पड़ता है परंतु उसमें सामान जुटाने के लिए आपको लगभग 1.50 लाख रुपए तक की लागत लग सकते हैं। सीएससी सेंटर आरंभ करने के लिए आपको निम्नलिखित वस्तुओं की आवश्यकता होती है:-

  • कॉमन सर्विस सेंटर में कम से कम दो कंप्यूटर तो अवश्य होने चाहिए जिसमें 500GB हार्ड डिस्क के साथ-साथ 1GB रैम भी मौजूद हो।
  • इसके अलावा कंप्यूटर के साथ-साथ सीडी और डीवीडी ड्राइव भी आपके पास होना चाहिए।
  • कानूनी लाइसेंस के साथ विंडोज एक्सपी सर्विस पैक 2 या इससे बेहतर ऑपरेटिंग सिस्टम होना चाहिए।
  • प्रिंट आउट निकालने के लिए प्रिंटर भी होना चाहिए जिसमें कलरफुल और वाइट और ब्लैक कलर का प्रिंटआउट निकाला जा सके।
  • आवेदकों की फोटो खींचने के लिए भी आपके पास बैक कैमरा अथवा डिजिटल कैमरा मौजूद होना चाहिए।
  • दस्तावेजों से जुड़ा डाटा स्टोर और ट्रांसफर करने के लिए पेनड्राइव की भी आवश्यकता होती है।
  • आपके डिवाइस में कम से कम 4 घंटे की बैटरी बैकअप अवश्य होनी चाहिए।
  • दस्तावेज स्कैन करके अपलोड करने के लिए स्केनर भी आपके पास होना चाहिए।
  • यह सभी काम इंटरनेट के बिना नहीं हो सकता है इसलिए 128kbps का इंटरनेट स्पीड आपके पास मौजूद होना चाहिए।

स्वदेशी बिज़नस आइडियाज अपनाकर शुरू करें खुद का व्यवसाय, जानने के लिए यहाँ क्लिक करें

कॉमन सर्विस सेंटर के जरिए प्रदान की जाने वाली सुविधाएं

ऐसी बहुत सी सुविधाएं देश में मौजूद हैं जो नागरिकों को सरकार की तरफ से प्रदान की जाती हैं ताकि उनकी समस्याओं को दूर किया जा सके। कुछ निम्नलिखित सुविधाएं हैं जिनके लिए कोई भी नागरिक कॉमन सर्विस सेंटर में जाकर सहायता प्राप्त कर सकते हैं ताकि उनका काम शीघ्रता से हो जाए।

  • बीमा सेवाओं से जुड़ी किसी भी समस्या का समाधान पाने के लिए कोई भी व्यक्ति कॉमन सर्विस सेंटर पर जा सकता है।
  • यदि कोई व्यक्ति अपना पासपोर्ट बनवाना चाहता है उसके लिए उसे बहुत सी समस्याओं से जूझना पड़ता है इसके हल के लिए वे कॉमन सर्विस सेंटर पर जाकर वहां पर मौजूद अधिकारी से सहायता ले सकते हैं।
  • एलआईसी से जुड़े दस्तावेज अथवा जानकारी प्राप्त करने के लिए भी कॉमन सर्विस सेंटर बहुत फायदेमंद होते हैं।
  • एसबीआई और पेंशन सेवाओं से जुड़ी जानकारी प्रदान करने का काम भी कॉमन सर्विस सेंटर द्वारा किया जाता है।
  • यदि किसी नागरिक का बैंक से जुड़ा कोई काम है तो उसका हल निकालने का काम भी कॉमन सर्विस सेंटर वाले अधिकारी द्वारा किया जाता है।
  • आधार कार्ड जो आज के समय में भारतीय नागरिकों की पहचान है उससे जुड़ी कोई भी समस्या के लिए भी आप कॉमन सर्विस सेंटर जा सकते हैं।
  • एलईडी एमएसयू के साथ-साथ कौशल विकास से जुड़ी सेवाएं प्राप्त करने के लिए भी आप कॉमन सर्विस सेंटर जा सकते हैं।
  • जिस समय देश में चुनाव होते हैं उस समय भी लोग अपनी पहचान पत्र के लिए बहुत जगह चक्कर काटते हैं ऐसे में कॉमन सर्विस सेंटर उनके लिए एक आसान तरीका है।
  • बिजली बिल भुगतान के साथ-साथ पानी अथवा और किसी भी प्रकार के बिल के भुगतान के लिए भी कॉमन सर्विस सेंटर आपके सहायक होते हैं।
  • यदि आपको कहीं जाने के लिए अपनी रेलवे टिकट बुक करानी है और आपको उसका तरीका नहीं पता तो उसके लिए भी आप कॉमन सर्विस सेंटर जा सकते हैं।
  • शिक्षा से जुड़ी कोई भी समस्या का हल निकालने के लिए आपको कॉमन सर्विस सेंटर बहुत सहायक होते हैं।
  • स्वास्थ्य देखभाल सेवाओं में किसी भी प्रकार की जानकारी के लिए आप कॉमन सर्विस सेंटर में जाकर अपनी समस्या के बारे में बता सकते हैं।
  • यदि कोई नई सेवा सरकार द्वारा जारी की गई है तो उसके बारे में जानकारी भी आपको कॉमन सर्विस सेंटर के जरिए प्राप्त हो जाती है।
  • यदि किसी व्यक्ति को अपना जाति प्रमाण पत्र अथवा निवास प्रमाण पत्र बनवाने में कोई समस्या आती है तो वह भी कॉमन सर्विस सेंटर जाकर अपना यह काम करवा सकते हैं।

महिलाएं व्यवसाय शुरू करना चाहती हैं,इन लोन योजनाओं का लाभ ले सकती हैं जानने के लिए यहाँ पढ़ें

पैसे कैसे कमायें (How to earn money)

ऊपर दी गई सभी प्रकार की प्रक्रियाओं को करने के लिए कॉमन सर्विस सेंटर में बैठा व्यक्ति कुछ फीस चार्ज करता है। और यही उसकी आमदनी भी होती है। अनुमानित आंकड़ों के अनुसार देखा जाए तो एक सीएससी सेंटर खोलने वाला व्यक्ति आराम से 20 हजार से अधिक आमदनी प्रत्येक माह प्राप्त कर सकता है। एक टाइम लागत लगा देने के बाद यह आजीवन ऐसा काम है जिसने कभी भी उतार-चढ़ाव नहीं आता है और साथ ही कोई नुकसान का भी भय नहीं रहता है। सरकार की अनुमति के साथ यह उन जगहों पर खोला जा सकता है जहां पर इंटरनेट और डिजिटल सेवाएं मौजूद नहीं है जैसे कि ग्रामीण क्षेत्र।

सीएससी एप्लीकेशन स्टेटस चेक

यदि आप अपने कॉमन सर्विस सेंटर के लिए आवेदन भर चुके हैं और उसके बाद उस आवेदन फॉर्म की स्थिति जानना चाहते हैं तो आपके पास आवेदन पत्र का एप्लीकेशन नंबर अवश्य होना चाहिए।  प्रक्रिया के तहत निम्नलिखित चरणों का पालन करके आप अपने आवेदन पत्र की स्थिति जान सकते हैं:-

  • सबसे पहले आपको सीएससी एप्लीकेशन नंबर को लेकर आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • आधिकारिक वेबसाइट पर क्लिक करते ही वहां पर आपको  सीएससी स्टेटस चेक का विकल्प दिखाई देगा जिस पर आप को क्लिक करना होगा।
  • उसके बाद आपको सीएससी एप्लीकेशन नंबर वहां पर भरना होगा जहां पर सीएससी एप्लीकेशन नंबर का विकल्प दिया हो।
  • यदि आपका नंबर सही है तो इंटर करने के बाद आपको कैप्चा कोड दिखाई देगा। उस कैप्चा कोड को आप को दिए गए विकल्प में भरना होगा उसके बाद आप सबमिट का बटन दबा सकते हैं।
  • आपके आवेदन पत्र की पूरी स्थिति खुलकर आपके सामने आ जाएगी।
  • अपने आवेदन पत्र की स्थिति को देखकर आप किसी भी प्रकार की कार्यवाही को अंजाम दे सकते हैं जैसे यदि आपका कोई कागज अपलोड करने के लिए मांगा गया है तो उसे आप दोबारा सीएससी रजिस्ट्रेशन पोर्टल पर जाकर वहां पर अप्लाई करके अपना दस्तावेज जमा करके उसे दोबारा से अपना आवेदन पत्र जमा कर सकते हैं।

याद रहे आपके आवेदन में एक छोटी सी कमी आपको इस प्रक्रिया से आवेदन के समय आपका आवेदन पत्र रद्द करवा सकती है।

कम खर्च मे नये बिज़नस की शुरवात करने के लिए कुछ आइडिया यहाँ पढ़ें

यदि आपके पास सीएससी एप्लीकेशन नंबर है ही नहीं तो आपको ऐसी स्थिति में क्या करना चाहिए?

सीएससी एप्लीकेशन नंबर आपके पास ना होने की स्थिति में आपको अपनी रजिस्टर्ड ईमेल आईडी को खोजना होगा। जिसे आपने आवेदन के समय इस्तेमाल की थी। आवेदन के समय आपको एक मेल भी प्राप्त होता है और उस मेल में आपको आसानी से अपना सीएससी एप्लीकेशन नंबर प्राप्त हो जाएगा।  वह मेल आपको digitalseva.csc से प्राप्त होगा।  उस नंबर को प्राप्त करते ही आप अपने सीएससी फॉर्म की स्थिति जांच सकते हैं।

कॉमन सर्विस सेंटर एक आम इंसान भी आसानी से खोल सकता है।  आज के समय में हर काम इंटरनेट के जरिए ही होते हैं ऐसे में यदि आपको इंटरनेट से जुड़ी जानकारी प्राप्त है और आप आसानी से कंप्यूटर चलाना भी जानते हैं तो आप एक कॉमन सर्विस सेंटर के मालिक आराम से बन सकते हैं। कॉमन सर्विस सेंटर खोलने के बाद जहां आप आमदनी भी प्राप्त करेंगे वहीं ऐसे लोगों की सेवा भी कर पाएंगे जो अधिक प्रशिक्षित नहीं है।

FAQ –

Q: सीएससी क्या है?

Ans: कॉमन सर्विस सेंटर भारत सरकार द्वारा देश में डिजिटल सेवा देने के उद्देश्य से शुरू किया गया एक ऑनलाइन सेवा है.

Q: कॉमन सर्विस सेंटर को हिंदी में क्या कहते हैं?

Ans: Common Service Centre यानि की सामान्य जन सेवा केंद्र .

Q: सीएससी का फुल फॉर्म क्या है?

Ans: Common Service Centre 

Q: सीएससी योजना क्या है?

Ans: इस योजना के अंतर्गत देश के हर कोने में डिजिटल सेवा देने के लिए सेण्टर खोले जा रहे है. सरकार की सभी योजना का आवेदन ऑनलाइन यहाँ किया जा सकता है.

Q: जनसेवा केंद्र कैसे खोले?

Ans: इसकी आधिकारिक साईट में जाकर आप ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कर सकते है.

Q: CSC में आवेदन के लिए कितना शुल्क देना पड़ता है?

Ans: यह निशुल्क सेवा है.

Other links –

pavan

Director at AK Online Services Pvt Ltd
मेरा नाम पवन अग्रवाल हैं और मैं मध्यप्रदेश के छोटे से शहर Gadarwara का रहने वाला हूँ । मैंने Maulana Azad National Institute of Technology [MNIT Bhopal] से इंजीन्यरिंग किया हैं । मैंने अपनी सबसे पहली जॉब Tata Consultancy Services से शुरू की मुझे आज भी अपनी पहली जॉब से बहुत प्यार हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *