हेलोवीन दिवस का इतिहास व कहानी

हेलोवीन क्या है ? हेलोवीन दिवस का इतिहास व कहानी ( Halloween kya hai? Day, History and Story In Hindi)

हेलोवीन दिवस ईसाईयों का एक त्यौहार होता है, जोकि अक्टूबर के आखिरी रविवार को मनाया जाता है. अलग – अलग धर्मों के त्यौहार अलग – अलग प्रकार के होते है जैसे हिन्दुओं में होली, राखी, दशहरा एवं दिवाली, राष्ट्रीय त्यौहार के रूप में स्वतंत्रता दिवस, गणतंत्र दिवस आदि और भी कई त्यौहार मनाये जाते है, इस्लाम में ईद – उल – फितर, बकरीद, मुहर्रम आदि और सिख में वैसाखी, गुरुनानक जयंती आदि उसी प्रकार ईसाईयों में भी कई प्रकार के त्यौहार मनाये जाते है जैसे क्रिसमस, गुडफ्राइडे और इस्टर और उन्हीं का एक त्यौहार हेलोवीन दिवस भी है. इस त्यौहार को ज्यादातार अमेरिका, इंग्लैंड व यूरोपीय देशों के लोग मनाते है, लेकिन इस त्यौहार की शुरुआत आयरलैंड एवं स्कॉटलैंड से हुई है.

halloween-day-history

हेलोवीन दिवस की कुछ जानकारी निन्म तालिका में दी गई है-

क्र..   जानकारी बिंदुजानकारी
1.नाम
  • हेलोवीन
  • आल हेलोवीन
  • आल हल्लोव्स ईव
  • आल सैंट्स ईव
2.प्रेक्षित (Observed by)पश्चिमी ईसाई एवं दुनिया भर के कई गैर – ईसाई द्वारा
3.महत्वआल हल्लोटाइड का पहला दिन
4.मनाने का तरीकाट्रिक और ट्रेटिंग खेल, पोशाकों का उत्सव, हिलने वाले लैंटर्न बनाना, लाइट बॉनफायर्स, भविष्यवाणी, एप्पल बोबिंग, भूत प्रेत का आकर्षण आदि
5.दिनांकअक्टूबर महीने के आखिरी दिन (31 अक्टूबर 2018)

हेलोवीन दिवस को आल हेलोस इवनिंग, आलहेलोवीन, आल हेलोस ईव और आल सैंट्स ईव भी कहा जाता है. यह दिन सेल्टिक कैलेंडर का आखिरी दिन होता है. इसलिए सेल्टिक लोगों के बीच यह नए वर्ष की शुरुआत के रूप में मनाया जाता है. विभिन्न लोग जिसे हम अब “सेल्ट्स (celts)” के रूप में देखते है पहले पूरे यूरोप में रहते थे, लेकिन समय के साथ आज आयलैंड, स्कॉटलैंड, वेल्स, ब्रिटनी और कॉर्नवाल आदि क्षेत्रों में निवास करने के लिए जाने जाते है. 

हेलोवीन दिवस 2021 में कब  है? (Halloween Day 2021 Date)

हेलोवीन दिवस हर साल अक्टूबर महीने के आखिरी दिन मनाया जाता है. इस साल 2019 मे हेलोवीन डे 31 अक्टूबर 2021, बुधवार को मनाया जायेगा.

हेलोवीन दिवस का इतिहास  (Halloween Day History In Hindi) –

इतिहास के अनुसार लगभग 2000 या उससे अधिक साल पहले प्रसिद्ध धार्मिक त्यौहार आल सेट्स डे पूरे उत्तरीय यूरोप के देशों में 1 नवम्बर को मनाया जाता था. लेकिन कुछ और सूत्रों के अनुसार हेलोवीन का इतिहास प्राचीन सेल्टिक त्योहार जिसे सम्हैन कहा जाता है से संबंध रखता था. इस दिन गैलिक परम्पराओं को मानने वाले लोग इस त्यौहार को मनाते है और यह फ़सल के मौसम का आखिरी दिन होता है और इस दिन से ठंड के मौसम की शुरूआत होती है. वे इस बात पर बहुत ज्यादा भरोसा करते है कि इस निर्धारित दिन पर मरे हुए लोगों की आत्माएँ उठती है और धरती पर प्रकट हो कर जीवित आत्माओं के लिए परेशानी पैदा करती हैं. इन बुरी आत्माओं से डर भगाने के लिए लोग राक्षस जैसे कपड़े पहनते हैं. इसके अलावा अलाव जलाया जाता है और मरे हुए जानवरों की हड्डियाँ उसमें फेंक दी जाती है. कहा जाता है कि आधुनिक इरिश, वेल्श और स्कॉट्स के लोग उनकी गैलिक भाषाओँ के रूप में सेल्टिक लोगों के वंशज हैं.

इसे आल सैंट्स डे भी कहा जाता है जोकि 1 नवंबर को मनाया जाता है जोकि मूर्तिपूजकों (pagans) के परिवर्तन के लिए ईसाईयों द्वारा बनाया गया था. आल सैंट्स डे से पहले आल हेलोस ईव की शाम होती है. जोकि अब हेलोवीन ईव के नाम से जाना जाता है. इस उत्सव में मूर्तियों की पूजा की जाती थी, लेकिन कुछ पोप्स ने इसे दुसरे ईसाई धर्म के साथ मिलाने की कोशिश की, और नतीजा यह निकला कि आल सेंटस डे और हेलोवीन डे एक ही दिन मनाया जाने लगा.

हेलोवीन मनाने का तरीका (How to celebrate Halloween day) –

हेलोवीन दिवस लोग कई परम्पराओं और रीती रिवाजों से मनाते है –

  • ट्रिक और ट्रेटिंग
  • विविध वेशभूषा
  • जैक ओ –लैंटर्न बना कर
  • खेल और दूसरी गतिविधियाँ
  • तरह-तरह का खाना बनाकर
  • ट्रिक और ट्रेटिंग

यह हेलोवीन दिवस मनाने का बहुत ही साधारण तरीका है, जिसमे कुछ लोग  डरावने कपड़े पहनते हैं, और लोगों के घर – घर जा कर कुछ कैंडी उपहार में देते हैं. इस दिन बच्चे कद्दू (Pumpkin) जैसे आकार का बैग लेकर घर – घर जाते हैं और वे घर के मालिक से पूछते है कि ट्रिक या ट्रीट? इसके दौरान कुछ लोग भूत बनकर डराते है तो कुछ कैंडीज बांटते हैं और खुशियाँ मनाते हैं.

  • विविध वेशभूषा (Halloween Day Theme)

इस दिन लोग अलग – अलग प्रकार की वेश भूषाएं धारण करते है जोकि इस त्यौहार की संस्कृति के अनुसार होती है. इस दिन लोगों के कपड़े दानव, शैतान, भूत, पिशाच, ग्रीम रीपर, मोंस्टर, ममी, कंकाल, वैम्पायर, करामाती, वेयरवोल्फ और चुडैलों आदि जैसे होते है. और लोग इस तरह के कपड़े पहनकर दूसरों को डराते है. 

  • जैक ओ लैंटर्न बना कर

इरिश लोककथाओं के अनुसार हेलोवीन पर जैक ओ –लैंटर्न का निर्माण करने का रिवाज होता है. लोग खोखले कद्दू में आँख, नाक और मुंह की नक्काशी करते है फिर इसके अंदर मोमबत्ती रखते है, और अपना चेहरा डरावना बना लेते है. इसके बाद इस नक्काशीदार कद्दू को एकत्र कर दफना दिया जाता है.

  • खेल और दूसरी गतिविधियाँ

इस दिन लोग हेलोवीन दिवस की पार्टी में बहुत से खेल खेलते हैं जिसमे से सबसे ज्यादा खेला जाने वाला खेल डंकिंग या एप्पल बोबिंग है जिसे स्कॉटलैंड में डूकिंग कहा जाता है. जिसमें सेब को एक टब या पानी के बड़े बेसिन में तैराते है और फिर प्रतिभागियों को अपने दांतों से इसे निकालना होता है. इसके अलावा भी बहुत से खेल खेले जाते है. हेलोवीन पर कुछ परम्परागत गतिविधियाँ भी होती हैं जैसे भविष्यवाणी. इस गतिविधि के अनुसार और अपने भविष्य के पति या पत्नी के बारे में पता लगाने के लिए एक लम्बी सी पट्टी में सेब बनाते है इसके बाद इसके छिलके को किसी एक के कंधे पर टॉस करके गिराते हैं. यदि छिलका जमीन पर किसी अक्षर के आकार में गिरता है तो कहते है कि यह उसके साथी के नाम का पहला अक्षर है.

यह एक अलग प्रकार की गतिविधि है, जोकि कुंवारी लड़कियां खेलती है. इसके अलावा और भी कई प्रकार के खेल व गतिविधियाँ खेली जाती है, जिनमे से एक में उनका मानना है कि जब एक अँधेरे कमरे में बहुत देर तक टकटकी लगाये शीशे के सामने बैठते है तब उनका विश्वास है कि शीशे में उनके भविष्य में होने वाले साथी का चेहरा दिखाई देता है.

  • खाना (Halloween Day Food) –

हेलोवीन दिवस पर अलग – अलग जगह के लोग अलग – अलग प्रकार के व्यंजन बना कर पार्टी मनाते हैं जिनमे से कुछ इस प्रकार हैं-

क्र. .      खाना               जगह
1.बर्मब्रैकआयरलैंड
2.बॉनफायर टॉफीग्रेट ब्रिटेन
3.कैंडी एप्पल / टॉफ़ी एप्पलग्रेट ब्रिटेन और आयरलैंड
4.कैंडी एप्पल, कैंडी कॉर्न और कैंडी कद्दूउत्तरीय अमेरिका
5.मंकी नट्सस्कॉटलैंड और आयरलैंड
6.कैरामेल एपल्स, कैरामेल कॉर्न, कोलकैनन(colcannon)आयरलैंड

इसके अलावा हेलोवीन थीम के आकार की कैंडी, हेलोवीन केक, नोवेल्टी कैंडी का आकार जैसे खोपड़ी, कद्दू, चमगादड़ और कीड़े आदि, कद्दू, कद्दू पाई, कद्दू ब्रेड, पॉपकॉर्न, पौंड केक, कद्दू की प्यूरी के साथ भरा हुआ रामेकिन्स, भुने हुए कद्दू के बीज एवं स्वीट कॉर्न और आत्माओं के केक आदि. ये सारे प्रकार के व्यंजन भी हेलोवीन दिवस पर खाए जाते है.

इसके आलावा आज के समय में हेलोवीन दिवस को लोग फन के रूप में मनाते है पहले के समय में इस दिन मरे हुए लोगों की मूर्तियों की पूजा की जाती थी, किन्तु आज के समय में लोग बहुत सी खेल और गतिविधियां कर इस त्यौहार को मनाते हैं.  

अन्य पढ़े:

Ankita
अंकिता दीपावली की डिजाईन, डेवलपमेंट और आर्टिकल के सर्च इंजन की विशेषग्य है| ये इस साईट की एडमिन है| इनको वेबसाइट ऑप्टिमाइज़ और कभी कभी आर्टिकल लिखना पसंद है|

More on Deepawali

Similar articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here