ताज़ा खबर

आईपीएल का इतिहास, विजेता टीम व उनके मालिकों की जानकारी | Indian Premier League History, Facts, Winners Teams List In Hindi

आईपीएल का इतिहास, विजेता टीम व उनके मालिकों की जानकारी (Indian Premier League History, Facts, Winners Teams List In Hindi) | IPL Winners and Runners List of All Seasons

आईपीएल क्या है (Indian Premier League)

आईपीएल (इंडियन प्रीमियर लीग) एक टी 20 लीग है, जो की हर वर्ष हमारे देश में होता है और इस लीग में भारत सहित अन्य देशों के प्लेयर्स भी भाग लेते हैं. क्रिकेट के इस लीग में हिस्सा लेने वाली टीमें भारतीय शहरों या राज्यों को रिप्रेजेंट करती हैं. इन टीमों के बीच मैच खेले जाते हैं और अंत में जो टीम विजय रहती है उस इनाम दिया जाता है.

Indian Premier League IPL | आई पी एल

 

आईपीएल की शुरुआत (Indian Premier League History)

बीसीसीआई (बोर्ड ऑफ कंट्रोल फॉर क्रिकेट इन इंइिया) ने इंडियन प्रीमियर लीग को स्टार्ट करने की घोषणा साल 2007 में की थी और इस घोषणा के एक साल बाद ही इस लीग को शुरू कर दिया गया था.

साल 2008 में बेची गई फ्रेंचाइजी (Indian Premier League Franchise)

इस लीग की घोषणा करने के कुछ महीनों बाद इस लीग की टीमों की फ्रेंचाइजी को बेचा गया था. टीम की फ्रेंचाइजी लेने के लिए लगी ऑक्शन में जिनके द्वारा अधिक बोली लगाई गई थी, उन लोगों को टीमों की फ्रेंचाइजी मिल गई थी. इस तरह से बैंगलोर, चेन्नई, दिल्ली, हैदराबाद, जयपुर, कोलकाता, मोहाली और मुंबई टीमों को उनके मालिक मिले थे.

आईपीएल से जुड़ी जानकारी

कब हुई आईपीएल की घोषणा 13 सितंबर, 2007
आईपीएल की फुल फॉर्म इंडियन प्रीमियर लीग
किसके की अधीन हुई शुरुआत बीसीसीआई
कब खेला गया था पहला सीजन 2008
अब तक खेले गए सीजन 10 और 11 वां चल रहा है
किस महीने खेला जाता है ये लीग अप्रैल से मई तक
लीग में हिस्सा लेने वाली कुल टीमें आठ
एक टीम में कितने होते हैं खिलाड़ी 11
मिलने वाली इनाम राशि 20 करोड़ रुपए
आईपीएल की आधिकारिक वेबसाइट https://www.iplt20.com/ 

आईपीएल में हिस्सा लेने वाली टीमें (IPL Teams)

  • इस लीग में इस वक्त कुल आठ टीमें हिस्सा ले रही हैं और इन आठ टीमों को हमारे देश के कारोबारी और अभिनेताओँ द्वारा खरीदा गया है.
  • जब पहली बार आईपीएल शुरू हुआ था, तो उस वक्त भी इसमें कुल आठ टीमों ने हिस्सा लिया था. लेकिन अब इन आठ टीमों में से कुछ टीमों की जगह नई टीमों ने ले ली है.

साल 2018 में इंडियन प्रीमियर लीग में भाग लेने वाली टीम और उनसे जुड़ी जानकारी

1.दिल्ली डेयरडेविल्स टीम की जानकारी

टीम का नाम दिल्ली डेयरडेविल्स
टीम का कप्तान श्रेयस अय्यर
किस साल में किया डेब्यू 2008
घरेलू मैदान फिरोज शाह कोटला ग्राउंड
कितनी बार जीता ये लीग एक बार भी नहीं
किस राज्य या शहर से है टीम दिल्ली
आधिकारिक वेबसाइट https://www.delhidaredevils.com/ 
  1. कोलकाता नाइट राइडर्स टीम की जानकारी
टीम का नाम कोलकाता नाइट राइडर्स
टीम का कप्तान दिनेश कार्तिक
किस साल में किया डेब्यू 2008
घरेलू मैदान ईडन गार्डन
कितनी बार जीता ये लीग दो बार (2012, 2014)
किस राज्य या शहर से है टीम कोलकाता, पश्चिम बंगाल
आधिकारिक वेबसाइट http://www.kkr.in/ 
  1. चेन्नई सुपर किंग्स टीम की जानकारी
टीम का नाम चेन्नई सुपर किंग्स
टीम का कप्तान महेंद्र सिंह धोनी
किस साल में किया टीम ने डेब्यू 2008
घरेलू मैदान एम. ए चिदंबरम स्टेडियम / महाराष्ट्र क्रिकेट एसोसिएशन स्टेडियम
कितनी बार जीता ये लीग दो बार (2010, 2011)
किस राज्य या शहर से है टीम चेन्नई
आधिकारिक वेबसाइट http://www.chennaisuperkings.com/CSK_WEB/index.html 
  1. रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर टीम के बारे में जानकारी
टीम का नाम रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर
टीम का कप्तान विराट कोहली
किस साल किया डेब्यू 2008
घरेलू मैदान एम चिन्नास्वामी स्टेडियम
कितनी बार जीता ये लीग एक बार भी नहीं
किस राज्य या शहर से है टीम बैंगलोर, कर्नाटक
आधिकारिक वेबसाइट https://www.royalchallengers.com/ 
  1. मुंबई इंडियंस के बारे में जानकारी
टीम का नाम मुंबई इंडियंस
टीम का कप्तान रोहित शर्मा
किस साल में किया डेब्यू 2008
घरेलू मैदान वानखेड़े स्टेडियम
कितनी बार जीता ये लीग तीन बार, 2013, 2015 और 2017
किस राज्य या शहर से है टीम मुंबई, महाराष्ट्र
आधिरिक वेबसाइट http://www.mumbaiindians.com/ 
  1. राजस्थान रॉयल्स टीम के बारे में जानकारी
टीम का नाम राजस्थान रॉयल्स
टीम का कप्तान अजिंक्य रहाणे
किस साल किया डेब्यू 2008
घरेलू मैदान सवाई मानसिंह स्टेडियम
कितनी बार जीता ये लीग एक बार, 2008
किस राज्य या शहर से है टीम जयपुर, राजस्थान
आधिकारिक वेबसाइट http://www.rajasthanroyals.com/ 
  1. सनराइजर्स हैदराबाद टीम के बारे में जानकारी
टीम का नाम सनराइजर्स हैदराबाद
टीम का कप्तान केन विलियमसन
किस साल किया डेब्यू 2013
घरेलू मैदान राजीव गांधी अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम
कितनी बार जीता ये लीग एक बार
किस साल जीता लीग साल 2016
किस राज्य या शहर से है टीम हैदराबाद, तेलंगाना
आधिकारिक वेबसाइट www.sunrisershyderabad.in 
  1. किंग्स इलेवन पंजाब टीम की जानकारी
टीम का नाम किंग्स इलेवन पंजाब
टीम का कप्तान रविचंद्रन अश्विन
किस साल में किया डेब्यू 2008
घरेलू मैदान पीसीए स्टेडियम / होलकर स्टेडियम
कितनी बार जीता ये लीग 0
किस साल जीता लीग 0
किस राज्य या शहर से है टीम मोहाली, पंजाब
आधिकारिक वेबसाइट https://www.kxip.in/ 

 

आईपीएल की टीमों के मालिकों और ब्रांड वैल्यू की जानकारी (Information About Owners And Brand Value Of IPL Teams-)

संख्या  टीम की जानकारी
1 टीम का नाम-  मुंबई इंडियंस 

टीम की ब्रांड वैल्यू- 106 मिलियन 

टीम के मालिक- रिलायंस इंडस्ट्रीज

 

2

 टीम का नाम-  कोलकाता नाइट राइडर्स 

टीम की ब्रांड वैल्यू-  99 मिलियन 

टीम के मालिक- जय मेहता और शाहरुख खान

 

3

 टीम का नाम-  चेन्नई सुपर किंग्स 

टीम की ब्रांड वैल्यू 

टीम के मालिक- चेन्नई सुपर किंग्स क्रिकेट लिमिटेड

 

4

 टीम का नाम-  रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर 

टीम की ब्रांड वैल्यू-  88 मिलियन 

टीम के मालिक- यूनाइटेड स्पिरिट्स

 

5

 टीम का नाम-  दिल्ली डेयरडेविल्स 

टीम की ब्रांड वैल्यू-  44 मिलियन 

टीम के मालिक-  जीएमआर समूह (GMR Group) और जेएसडब्ल्यू समूह (JSW Group)

 

6

 टीम का नाम-  दिल्ली डेयरडेविल्स 

टीम की ब्रांड वैल्यू-  41 मिलियन 

टीम के मालिक-  केपीएच ड्रीम क्रिकेट प्राइवेट लिमिटेड, प्रीति जिंटा, नेस वाडिया, मोहित बर्मन, ओबेरॉय समूह, करण पॉल

 

7

 टीम का नाम-  राजस्थान रॉयल्स 

टीम की ब्रांड वैल्यू-   

टीम के मालिक-  मनोज बदले (Manoj Badale)

 

8

 टीम का नाम-  सनराइजर्स हैदराबाद 

टीम की ब्रांड वैल्यू-  56 मिलियन 

टीम के मालिक-  सूर्य समूह

आईपीएल मैच का फॉर्मेट (Format)

  • आईपीएल में भाग लेने वाली हर टीम को दूसरी टीम के साथ दो मुकाबले खेलने होते हैं और इन मुकाबलों के बाद जो टीम टॉप चार नंबर पर आती हैं. वो प्लेऑफ्स के लिए क्वालिवफ कर जाती हैं.
  • प्लेऑफ्स में टॉप नबंर पर आई दो टीमों के बीच फाइनल में जगह बनाने के लिए मुकाबला होता है और जो टीम इस मुकाबले को जीत जाती है वो फाइनल में अपनी जगह बना लेती है.
  • जबकि हारी गई टीम को फाइनल में जगह बनाने के लिए एक और मौका मिलता है और ये टीम दूसरा क्वालीफायर, तीसरे और चौथे नंबर की टीमों के बीच हुए मुकाबले में जीती गई टीम के साथ खेलती है. और जो टीम दूसरा क्वालीफायर जीत जाती है, वो फाइनल मुकाबला खेलती है.
  • इसलिए आईपीएल की हर टीम टॉप दो में आने की कोशिश करती हैं, ताकि अगर वो हार भी जाए तो उसको फाइनल में जगह बनाने के लिए दूसरा मौका मिल सके.

आईपीएल में होने वाली नीलामी

कोई भी टीम की फ्रेंचाइजी तीन तरह से प्लेयर्स को हासिल कर सकती हैं, जिनमें से एक जरिए ऑक्शन का है, दूसरा ट्रेडिंग विंडो (एक टीम दूसरी टीम के साथ खिलाड़ियों को एक्सचेंज करती है) का है और तीसरा अनुपलब्ध खिलाड़ियों के लिए प्रतिस्थापन पर हस्ताक्षर (signing replacements for unavailable players) है.

नीलामी की प्रक्रिया (Auction Process)

  • आईपीएल में हर साल ऑक्शन होती है. इस ऑक्शन में हर फ्रेंचाइजी टीम के मालिक हिस्सा लेते हैं और अपने मनपसंद प्लेयर्स को हासिल करने के लिए बोली लगाते हैं.
  • हर प्लेयर्स के लिए एक बेस प्राइज तय किया जाता है और इस बेस प्राइज के ऊपर की बोली फ्रेंचाइजी द्वारा लगाई जाती है. जो फ्रेंचाइजी अधिक मूल्य की बोली लगाती है उसे वो खिलाड़ी मिल जाता है.
  • हर फ्रेंचाइजी अपने 3 प्लेयर्स को रिटेन यानी ऑक्शन से पहले ही खरीद सकती है और फ्रेंचाइजी के पास ‘राइट टू मैच’ को इस्तेमाल करने की भी ताकत होती है.

कैसे किए जाते हैं खिलाड़ी रिटेन (Retain)

कोई भी फ्रेंचाइजी ऑक्सन शुरू होने से पहले अपनी टीम के अधिकतम तीन प्लेयर्स को अपनी टीम में बनाए रख सकती है और ऐसा करने से ऑक्सन के दौरान रिटेन किए गए खिलाड़ियों की नीलामी नहीं लगती है.

क्यों किया जाचा है रिटेन इस्तेमाल

अपनी टीम के सबसे महत्वपूर्ण खिलाड़ियों को अपनी टीम का हिस्सा बनाए रखने के लिए इसका इस्तेमाल किया जाता है. हालाकिं ये फ्रेंचाइजी पर निर्भर होता है कि वो अपने किसी खिलाड़ी को रिटेन करना चाहती है कि नहीं.

रिटेन किए गए खिलाड़ियों की कीमत (Price)

तीन प्लेयर्स को रिटेन करने की कीमत

फ्रेंचाइजी अपने तीन प्लेयर्स को बरकरार रखता है, तो उन प्लेयर्स के लिए उन्होंने क्रमशः कीमत देनी पड़ती है. पहले खिलाड़ी के लिए 15 करोड़ रुपये, दूसरे खिलाड़ी के लिए 11 करोड़ रुपये और तीसरे खिलाड़ी के लिए 7 करोड़ रुपये. इस तरह से ऑक्सन के लिए तय की गई राशि में से उस फ्रेंचाइजी के 33 कोरड़ रुपए कम हो जाते हैं.

दो प्लेयर्स को रिटेन करने की कीमत

यदि फ्रेंचाइजी अपने दो प्लेयर्स को रिटेन करती है, तो उन प्लेयर्स के लिए उन्होंने क्रमशः कीमत देनी पड़ती है. पहले खिलाड़ी के लिए 12.5 करोड़ रुपये और दूसरे खिलाड़ी के लिए 8.5 करोड़ रुपये और इस तरह से ऑक्सन के लिए तय की गई राशि में से उस फ्रेंचाइजी के 21 कोरड़ रुपए कम हो जाते हैं.

एक प्लेयर्स को रिटेन करने की कीमत

अगर फ्रेंचाइजी अपने एक प्लेयर्स को रिटेन करती है तो उस प्लेयर्स के लिए उन्होंने 12.5 करोड़ रुपये देने पड़ते है. जिसके बाद ये राशि ऑक्सन के लिए तय किए गई राशि में से काट ली जाती है.

क्या होता है राइट टू मैच  (What is Right To Match card)

राइट टू मैच एक प्रकार का अधिकार होता है, जिसकी मदद से कोई सी भी फ्रेंचाइजी अपने टीम के बिके हुए प्लेयर्स को हासिल कर सकती है. उदाहरण के तौर पर अगर कोई फ्रेंचाइजी अपने किसी प्लेयर्स को रिटेन नहीं करती है और उस प्लेयर्स को कोई अन्य फ्रेंचाइजी खरीद लेती है. तो उस प्लेयर्स को वापस से अपनी टीम का हिस्सा बनाने के लिए फ्रेंचाइजी, ऑक्शन की प्रक्रिया खत्म होने के बाद इस कार्ड की मदद से उसे हासिल कर सकती. जिसके बाद वो प्लेयर वापस से अपनी पुरानी फ्रेंचाइजी के पास चला जाता है. प्लेयर की फ्रेंचाइजी टीम को उसको अपनी टीम में शामिल करने के लिए उतने ही पैसे देने होते हैं, जितनी राशि में उसे दूसरी फ्रेंचाइजी द्वारा खरीदा जाता है.

राइट टू मैच से जुड़े नियम (Right To Match card Rules)

  • कोई फ्रेंचाइजी अपने 3 प्लेयर्स को रिटेन करती है, तो नियमों के अनुसार वो केवल दो बार ‘राइट टू मैच’ कार्ड यूज कर सकती है.
  • अगर फ्रेंचाइजी द्वारा अपनी टीम के दो या एक प्लेयर्स बरकरार रखे जाते हैं तो नियमों के तहत वो तीन इस कार्ड का यूज कर सकती है.

इंडियन प्रीमियर लीग के अभी तक के हुए सीजन (Indian Premier League Seasons)

इस लीग के अभी तक 10 सीजन पूरे हो चुके हैं जबकि 11 वां सीजन अभी चल रहा है और पिछले 10 सीजनों के विजेता टीमों के नाम इस प्रकार हैं

इंडियन प्रीमियर लीग की विजेता टीम (Indian Premier League (IPL) Winner Team List)

संख्या सीजन विजेता टीम विजेता टीम के कप्तान द्वितीय विजेता प्लेयर ऑफ़ ऑफ सीरीज
1 2008 राजस्थान रॉयल्स शेन वॉर्न चेन्नई सुपर किंग्स शेन वाटसन
2 2009 डेक्कन चार्जर्स एडम गिलक्रिस्ट रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर एडम गिलक्रिस्ट
3 2010 चेन्नई सुपर किंग्स महेंद्र सिंह धोनी मुंबई इंडियंस सचिन तेंदुलकर
4 2011 चेन्नई सुपर किंग्स महेंद्र सिंह धोनी रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर क्रिस गेल
5 2012 कोलकाता नाइट राइडर्स गौतम गंभीर चेन्नई सुपर किंग्स सुनील नारायण
6 2013 मुंबई इंडियंस रोहित शर्मा चेन्नई सुपर किंग्स शेन वाटसन
7 2014 कोलकाता नाइट राइडर्स गौतम गंभीर किंग्स इलेवन पंजाब ग्लेन मैक्सवेल
8 2015 मुंबई इंडियंस रोहित शर्मा चेन्नई सुपर किंग्स आंद्रे रसेल
9 2016 सनराइजर्स हैदराबाद डेविड वार्नर रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर विराट कोहली
10 2017 मुंबई इंडियंस रोहित शर्मा राइजिंग पुणे सुपरजायंट बेन स्टोक्स
11 2018

 आईपीएल के तहत दिए जाने वाले अवार्ड ( IPL Awards)

आईपीएल के हर सीजन में कई तरह के अवार्ड भी प्लेयर्स को दिए जाते हैं और इन्हीं अवार्ड में से दो अवार्ड ऑरेंज और पर्पल कैप है. ऑरेंज कैप बल्लेबाजों के लिए बनाई गई है और पर्पल कैप गेंदबाजों के लिए.

किसको दी जाती हैं ऑरेंज कप (Orange Cap)

आईपीएल के सीजन में जो बल्लेबाज सबसे अधिक रन बनाते हैं ये कैप उसके पास चली जाती है और इस तरह से फाइनल मैच होते होते ये कैप उस बल्लेबाज के पास होती है जिसने मौजूद सीजन में सबसे अधिक रन बनाए हों.

ऑरेंज कैप के विजेताओं के नाम (Orange Cap Winner)

सीजन कप का विजेता खिलाड़ी किस टीम का खिलाड़ी कितने रन बनाए शतक अर्ध शतक छक्के चौके
2008 शॉन मार्श (ऑस्ट्रेलिया) किंग्स इलेवन पंजाब 616 रन 1 5 26 59
2009 मैथ्यू हेडन (ऑस्ट्रेलिया) चेन्नई सुपर किंग्स 572 रन 0 5 22 60
2010 सचिन तेंदुलकर (भारत) 618 रन 0 5 3 86
2011 क्रिस गेल

(जमैका)

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर 608 रन 2 3 44 57
2012 क्रिस गेल

(जमैका)

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर 733 रन 1 7 59 46
2013 माइकल हसी

(ऑस्ट्रेलिया)

चेन्नई सुपर किंग्स 733 रन 0 6 14 81
2014 रॉबिन उथप्पा

(भारत)

660 रन 0 5 18 74
2015 डेविड वार्नर

(ऑस्ट्रेलिया)

562 0 7 21 65
2016 विराट कोहली

(भारत)

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर 973 4 7 38 83
2017 डेविड वार्नर

 (ऑस्ट्रेलिया)

641 1 4 26 63
2018

किसे दी जाती है पर्पल कैप (Purple Cap)

पर्पल कैप उस गेंदबाज को दी जाती है जो आईपीएल के सीजन में सबसे अधिक विकेट लेता है और इस तरह से आईपीएल खत्म होते होते ये कैप उस गेंदबाज को मिलती है जो उस सीजन में सबसे अधिक बल्लेबाजों को आउट करता है. 

सीजन गेंदबाज के नाम किस टीम का खिलाड़ी कितनी ली विकेट कुल ऑवर इकॉनमी कितने दिए रन
2008 सोहेल तनवीर राजस्थान रॉयल्स 22 विकेट 41.1 6.49 266
2009 आर पी सिंह डेक्कन चार्जर 23 विकेट 59.4 6.98 417
2010 प्रग्यान ओझा डेक्कन चार्जर 21 विकेट 58.5 7.29 429
2011 लसिथ मलिंगा मुंबई इंडियन 28 विकेट 63 5.95 375
2012 मोर्न मोर्केल 25 विकेट 63 7.19 453
2013 ड्वेन ब्रावो चेन्नई सुपर किंग्स 32 विकेट 62.3 7.95 497
2014 मोहित शर्मा चेन्नई सुपर किंग्स 23 विकेट 53.5 8.39 452
2015 ड्वेन ब्रावो चेन्नई सुपर किंग्स 24 विकेट 52.2 8.14 426
2016 भुवनेश्वर कुमार सनराइजर्स हैदराबाद 23 विकेट 66    7.42 490
2017 भुवनेश्वर कुमार सनराइजर्स हैदराबाद 26 विकेट 52.2 7.05 369
2018

विजेता टीम को दी जानेवाली राशि (Prize Money)

आईपीएल के हर सीजन में इनाम राशि अलग अलग होती है और इस वर्ष के लीग को जीतने वाली टीम को 20 करोड़ रुपए दिए जाएंगे. दूसरी पोजीशन पर आने वाली टीम के लिए ये प्राइज मनी 12.5 करोड़ तय की गई है, तीसरी और चौथी पोजीशन कर आने वाली टीम के लिए ये राशि 8.75 करोड़ है.

आईपीएल कितना फेमस है (IPL popularity)

  • आईपीएल का जुनून केवल भारत तक सीमित नहीं है और इस लीग को अन्य देशों में भी देखा जाता है. एशिया, मध्य पूर्व, ब्रिटेन, ऑस्ट्रेलिया, और अमेरिका में आईपीएल की व्यूवरशिप काफी का अधिक है.
  • साल 2017 के आईपीएल सीजन की व्यूवरशिप में साल 2016 के मुकाबले में 40 प्रतिशात वृद्धि हुई थी. जिसके साथ ही आईपीएल का पिछला सीजन सबसे प्रसिद्ध सीजन बन गया था.
  • उम्मीद की जारी रही है कि इस साल के आईपीएल सीजन को साल 2017 से अधिक व्यूवरशिप मिलेगी. क्योंकि इस साल के सीजन के ओपनिंग मैच को सबसे ज्यादा दर्शकों द्वारा देखा गया है.
  • आईपीएली की प्रसिद्धता का अंदाजा आप इस बात से भी लगा सकते हैं कि आईपीएल दुनिया में सबसे महंगे खेलों में से एक हैं और हर साल इस लीग से करोड़ रुपए का मुनाफा होता है.
  • ये गेम टी.वी तक सीमित नहीं रहकर ऑनलाइन भी खूब देखा जाता है और ऑनलाइन भी इसकी व्यूवरशिप लाखों की है और साल 2018 के इसके लीग के पहले सप्ताहांत में आईपीएल की आधारिक वेबसाइट को 3.5 मिलियन से अधिक हिट मिलें हैं.
  • हॉटस्टार के जरिए इसे 82.4 मिलियन दर्शकों द्वारा अभी तक देखा जा चुका है, जो पिछले साल से 76% से अधिक है.

आईपीएल की कमाई कैसे होती है (How The IPL Team Owners Make Money)

दुनिया के सबसे महंगे खेलों में शामिल आईपीएल की टीमों के मालिक पांच तरीकों के जरिए पैसे कमाते हैं, जो कि इस प्रकार हैं

इनाम राशि (Prize Money)

आईपीएल के सीजन के अंत में टॉप चार टीमों को इनाम के तौर पर पैसे दिए जाते हैं, जो कि इस टीम के मालिकों के पास जाते हैं. आईपीएल के तहत दी जानी वाली ये राशि हर साल बढ़ती है और हर साल विजेता टीम को करोड़ रुपए मिलते हैं.

ब्रांड वैल्यू (Brand Value)

आईपीएल टीमों के मालिक हर साल करोड़ों रुपए देकर सबसे लोकप्रिय खिलाड़ियों को खरीदते हैं ताकि उनकी टीम की ब्रांड वैल्यू बढ सके. क्योंकि टीम की वैल्यू बढ़ने से ही टीम को अच्छे खासे निवेशकों मिलते हैं.

प्रायोजक (Sponsors)

इंडियन प्रीमियर लीग के मालिक प्रायोजक के जरिए पैसे कमाते हैं और प्रायोजक आय ही टीमों की कमाई का असली सोर्स हैं. आप लोगों ने आईपीएल टीमों के प्लेयर्स की जर्सी पर कई सारे कंपनियों के नाम लिखे हुए देखें होंगे, जो कि टीमों के प्रायोजक होते हैं.

टिकटों के जरिए (Tickets)

आईपीएल फ्रेंचाइजी लेने वाले मालिकों की आय का अन्य प्रमुख सोर्स टिकट भी  है. यानी जिस भी टीम के घरेलू मैदान पर मैच खेले जाते हैं. उस मैच को देखने के लिए दर्शकों द्वारा खरीदी गई टिकट के पैसे उस टीम के मालिकों के पास जाते हैं.

मीडिया राइट्स (Media Rights)

  • मीडिया राइट्स के जरिए आईपीएल टीमों के मालिक सबसे अधिक कमाई करते हैं और ये आय का सबसे महत्वपूर्ण सोर्स है.
  • मीडिया राइट्स का मतबल होता है कि किसी चैनल को मैच प्रसारण करना का अधिकार देना और ये आधिकार हासिल करने के लिए चैनल द्वारा बीसीसीआई को पैसे दिए जाते हैं.
  • जिसके बाद बीसीसीआई इन पैसों में से अपना हिस्सा रख लेती है और बाकी बेचे हुए पैसे टीमों में बांट देती है. ये पैसे टीमों की रैंक के हिसाब से उनके मालिकों को दिए जाते हैं.
  • यानी जो टीम सीजन में पहले नंबर पर आती है उसे ज्यादा पैसे मिलते हैं और जो टीम आखिरी नंबर पर आती हैं उन्हें कम पैसे दिए जाते हैं.

मर्चेंडाइजिंग सेल्स (Merchandising Sales)

आईपीएल की टीमे कैप्स, कलाई वाली घड़ियों टी- शर्ट बचकर भी कमाई करती हैं और इन सब चीजों को दर्शकों और आईपीएल प्रेमियों द्वारा काफी खरीदा जाता है. जो कि आईपीएल टीमों के मालिकों के लिए एक आय की तरह कार्य करती है.

आईपीएल के कारण भारत की पॉपुलैरिटी बढ़ी

  • आईपीएल की कामयाबी के कारण भारत की पहचान भी दुनिया भर में और बढ़ सकी है. आज आईपीएल की वजह से ही भारत का नाम भी खेल जगत में होने वाली सभी प्रसिद्ध लीगों में गिना जाता है.
  • दुनिया भर के क्रिकेटर भारत के इस क्रिकेट लीग का हिस्सा बनना चाहते हैं. जिसके कारण भारत देश क्रिकेटरों के व्यापार में सबसे अधिक पॉपुलर हो गया है.

आईपीएल के फायदा (Advantages of the IPL)

नए टैलेंट को बढ़ावा

आईपीएल के कारण ही आज भारत के युवा प्लेयर्स को अपना हुनर दिखाने का चांस मिल रहा है और इस समय हमारे देश के काफी काबिल युवा प्लेयर्स अपने देश के और अन्य देशों के प्लेयर्स के साथ खेल पा रहे हैं और उनसे काफी कुछ सीख पा रहे हैं.

देश की इकॉनमी को फायदा

आईपीएल की वजह से हमारे देश को कई फायदे भी हो रहे हैं, जैसे कि इसकी वजह से हमारे देश की इकॉनमी बढ़ रही है और अन्य देश से लोग इन खेलों को देखने के लिए भारत आ रहे हैं, जिससे की हमारे देश के टूरिज्म को भी बढ़ावा मिल रहा है.

अन्य तरह के लीगों को भी किया गया शुरू

आईपीएल के कामयाब होने के बाद हमारे देश में अन्य खेलों जैसे कि कबड्डी, फुटबॉल और बैडमिंटन इत्यादि के लीग भी शुरू किए गए हैं जिससे की इन खेलों को भी भारत में बढ़ावा मिल रहा है.

आईपीएल के नुकासन (Disadvantages of the IPL)

  • आईपीएल की वजह से हमारे देश के प्लेयर्स को आराम करना का मौका नहीं मिलता है. जिसकी वजह से वो अंतरराष्ट्रीय स्तर पर होने वाले खेलों में सही तरह से प्रदर्शन नहीं दे पाते हैं. 
  • आईपीएल के जरिए कई प्लेयर्स काफी अधिक कमाई कर रहें हैं, जिसके कारण उनका झुकाव पैसों की और ज्यादा हो रहा है और कई प्लेयर्स समय से पहले रिटायरमेंट भी ले रहे हैं.

आईपीएल के कारण बीसीसीआई का अस्तित्व निखरा

बीसीसीआई क्रिकेट जगत में सबसे अधिक पैसा कमाने वाला क्रिकेट बोर्ड हैं और काफी प्रसिद्ध भी है. लेकिन आईपीएल शुरू होने के बाद से बीसीसीआई का कद क्रिकेट की दुनिया में और बढ़ गया है. आज बीसीसीआई आईपीएल के जरिए करोड़ों रुपये की कमाई कर रहा है. इसके साथ ही आईपीएल की वजह से ही दुनिया भर में क्रिकेट को और पहचान मिल सकी है.

आईपीएल के साथ जुड़े विवाद (IPL Controversies)

  • साल 2013 के लीग के दौरान मैच फिक्सिंग की गई थी जिसके कारण दो टीमों पर प्रतिबंध लगा दिया गया था और ये टीम चेन्नई सुपर किंग्स और राजस्थान रॉयल्स थी. इन टीमों के अलावा कई प्लेयर्स पर भी इस लीग में भाग लेने पर बैन लगाया गया था. हालांकि की बैन लगी टीमों ने साल 2018 के लीग में फिर से वापसी कर ली है.
  • साल 2013 में आईपीएल की फ्रेंचाइजी टीम पुणे वॉरियर्स इंडिया (पीडब्ल्यूआई) के मालिकों ने अपनी ये फ्रेंचाइजी छोड़ दी थी. क्योंकि इस टीम के मालिकों द्वारा फ्रेंचाइजी लेने का शुल्क भुगतान नहीं किया गया था.
  • आईपीएल को शुरू करने के पीछे सबसे बड़ा हाथ ललित मोदी का ही था और ये आईपीएल के अध्यक्ष हुआ करते थे. लेकिन सट्टेबाजी और मनी लॉंडरिंग में शामिल होने के कारण मोदी को आईपीएल से निकाल दिया गया था और इस वक्त ये दूसरे देश में रह रहे हैं.

आईपीएल से जुड़ी अन्य जानकारी (Interesting Facts About IPL)

  • एक खिलाड़ी के अनुबंध (contract) की अवधि एक वर्ष की होती है मगर फ्रेंचाइजी चाहे तो अपने खिलाड़ी के अनुबंध को दो साल तक के लिए भी बढ़ा सकती है.
  • आईपीएल की एक टीम में 18 से लेकर 25 प्लेयर्स हो सकते हैं, जिनमें अधिकतम 8 विदेशी प्लेयर्स को एक टीम रख सकती हैं.
  • डेक्कन चार्जर्स, गुजरात लॉयन्स, कोच्चि टस्कर्स केरल, पुणे वॉरियर्स इंडिया और राइजिंग पुणे सुपरर्जेंट एक समय में आईपीएल की टीमें हुआ करती थी लेकिन अब ये टीमें आईपीएल का हिस्सा नहीं हैं.
  • विवो कंपनी ने आईपीएल की शीर्षक प्रायोजक (Title sponsor) करीब 439.8 करोड़ रुपये में खरीदी है और विवो को ये शीर्षक प्रायोजक 5 सालों के लिए यानी साल 2018 से साल 2022 तक के लिए दी गई है.
  • विश्व भर के करीब 18 देशों में आईपीएल मैच को प्रसारण किया जाता है, जबकि आईपीएल को इंटरनेट में प्रसारण करने का अधिकार हॉटस्टार के पास हैं.
  • आईपीएल गवर्निंग काउंसिल इस टूर्नामेंट के सभी कार्यों के लिए ज़िम्मेदार है और इस काउंसिल के मेंबर राजीव शुक्ला, अजय शिर्कि, सौरव गांगुली, अनुराग ठाकुर और अनिरुद्ध चौधरी हैं.
  • आईपीएल में किसी भी पाकिस्तान के प्लेयर्स को हिस्सा लेने का अधिकार नहीं है. हालांकि जिस वक्त आईपीएल स्टार्ट हुआ था, उस समय कई टीमों में पाकिस्तान के प्लेयर्स हुआ करते थे. लेकिन बाद में इस देश के प्लेयर्स को आईपीएल में लेने पर बैन लगा दिया गया था.

आईपीएल को जब हमारे देश में स्टार्ट किया गया था, तो उस समय किसी को भी इस लीग के इतने कामयाब होने की उम्मीद नहीं थी. लेकिन ये लीग धीरे -धीरे भारत सहित दुनिया भर में काफी प्रसिद्ध हो गया है और इस लीग का भविष्य काफी सुनहरा है.

अन्य पढ़े :

Karnika

Karnika

कर्णिका दीपावली की एडिटर हैं इनकी रूचि हिंदी भाषा में हैं| यह दीपावली के लिए बहुत से विषयों पर लिखती हैं |यह दीपावली की SEO एक्सपर्ट हैं,इनके प्रयासों के कारण दीपावली एक सफल हिंदी वेबसाइट बनी हैं
Karnika

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *