Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
ताज़ा खबर

कुलदीप यादव का जीवन परिचय | Kuldeep yadav Biography, family, age, wickets, ipl history in hindi)

कुलदीप यादव का जीवन परिचय (Kuldeep yadav Biography, family, age, wickets, ipl history in hindi)

भारत की क्रिकेट टीम में लगातार बदलाव आते रहते हैं, जिनमे कुछ नए नाम सामने आते हैं तो कुछ पुराने खिलाड़ी पीछे हटते चले जाते हैं. वास्तव में खेलने की विधा और प्रतिभा के अनुसार ही खिलाडयों का चयन होता हैं,लेकिन इस बीच कुछ ऐसे खिलाड़ी भी सामने आते हैं जिनका बॉलिंग या बेटिंग का तरीका इतना अलग होता हैं, उन्हें चयनकर्ता नजर अंदाज कर ही नहीं सकते. ऐसे ही नए युवा खिलाड़ियों में कुलदीप यादव का नाम भी उभरकर आया हैं, जिनकी बॉलिंग स्टाइल ना केवल नई है बल्कि टीम के लिए बहुत जरुरी भी हैं. 

Kuldeep yadav

कुलदीप यादव के बारे में जानकारी संक्षिप्त में :

नाम (Name)कुलदीप यादव
पेशा (Occupation)इंडियन क्रिकेटर
जन्मदिन (Birth date)14 दिसम्बर 1994
जन्म स्थान  (Birth place)उन्नाव,उतर प्रदेश
गृह-नगर (Home-Town)कानपूर,उत्तर-प्रदेश  
नागरिकता Ethnicityभारतीय
धर्म (Religion)हिन्दू
स्कूल (School)कर्मा देवी,मेमोरियल अकादमी  वर्ल्ड स्कूल,कानपूर
हाईट (Height)5’6”
वजन (Weight)61 किलो
बॉडी मेजरमेंट (Body Measurement)चेस्ट:38 इंच

वेस्ट: 30 इंचबाइसेप्स:12 इंच

आँखों का रंग (Eye colour)गहरा भूरा
बालों का रंग (Hair Colour)काला
इंटरनेशनल डेब्यू (International debut)धर्मशाला में ऑस्ट्रेलिया के सामने

टेस्ट-25 मार्च 2017

कोच (Coach)कपिल पांडे
जर्सी  नंबर (Jersy number) #18 (इंडिया यू-19 टीम)
घरेलू टीम/स्टेट टीम (Domestic/state team)सेंट्रल जोन,कोलकाता नाईट राइडर्स,मुंबई इंडियनस,उत्तर प्रदेश
बोलिंग स्टाइल (Bawling style)लेफ्ट-आर्म चाइनामैन
बेटिंग स्टाइल (Batting style)लेफ्ट हैंडेड बैट
फिल्ड में नेचर (Nature in field)एग्रेसिव
रिकार्ड्स/अचीवमेंट  (Records/Achievement) 2014 में आईसीसी यू-19 वर्ल्ड कप में कुलदीप की हैट्रिक,यादव  अंडर-19 वर्ल्ड कप के इतिहास में हेट्रिक बनाने वाले पहले बॉलर बने थे.

2016 के दिलीप ट्रोफी में  में 3 मैच 17 विकेट  लिए और इंडिया रेड की टीम को फाइनल तक पहुचाया

करियर में टर्निंग पॉइंट (Turning

Point in career)

2014 के अंदर वर्ल्ड कप में कुलदीप ने केच लेकर चयनकर्ताओं का ध्यान खीचा था

पारिवारिक जानकारी (Family details)

कुलदीप  टेनिस की गेंद से क्रिकेट खेलते थे लेकिन वास्तव में उन्हें क्रिकेट में कोई ख़ास रूचि नहीं थी,वो पढ़ाई में होनहार छात्र  थे. लेकिन उनके पिता को क्रिकेट पसंद था. ज्यादातर मिडल क्लास परिवारों में जहाँ ये चिंता रहती हैं कि बच्चे को यदि खेलने दिया तो वो पढाई पर ध्यान नहीं देगा और उसे कोई अच्छी जॉब नहीं मिलेगी वही कुलदीप के पिताजी अपने बच्चे की क्रिकेट में रुझान और प्रतिभा को देखते हुए उसके खेल में भविष्य को लेकर आश्वस्त थे. और इसी कारण उन्होंने कुलदीप को कपिल पाण्डे की देख-रेख में क्रिकेट सिखने को लोकल क्लब में भेजा.

पारिवारिक जानकारी संक्षिप्त में :

पिता  (Father)राम सिंह यादव
माता (Mother)उषा यादव
बहिन (Sister)
कोचकपिल यादव

कुलदीप का शुरूआती जीवन और शिक्षा (Initial life and Education)

  • कुलदीप के दोस्त जब पढ़ाई में व्यस्त थे, तब वो खेल के मैदान में अपना पसीना बहा रहे थे, जिस पर उनके पडोसी भी ताने देते थे, जिनसे कुलदीप बहुत परेशान रहते थे,और उन्हें लगता था कि वो पागल हैं जो इतनी मेहनत कर रहे हैं.
  • कुलदीप अपनी स्कूल के दिनों और छूटी हुयी पढ़ाई को बहुत मिस करते हैं, वो 2 बार 12वी का एग्जाम नहीं दे सके थे, उन्होंने 10वी का भी एक साल मिस किया था. वो जब 12वी में थे तब अंडर-19 वर्ल्ड कप हो रहा था जबकि 10वी के दौरान स्टेट मैच चल रहे थे.
  • कुलदीप ने फ़ास्ट बॉलर के जैसे खेलना शुरू किया था, लेकिन फिर उनके कोच ने कहा कि वो स्पिन गेंद डाले, तब कुलदीप को बुरा लगा, उन्होंने सोचा कि वो अच्छा खेल रहे हैं. इन्होंने एक बार ये माना भी था कि वो सीम बॉलर बनना चाहते थे, लेकिन उन्होंने जो कोच के बताये अनुसार सबसे पहली गेंद डाली वो चाइनामैन थी.
  • 13 वर्षीय कुलदीप की जिन्दगी में तब परिवर्तन आया था, जब उन्हें उत्तर प्रदेश के अंडर-15 टीम में खेलने का मौका नहीं मिला था, तब वो बुरी तरह से रोने लगे और बहुत निराश हो गए. उन्होंने सोचा कि जीवन में अब कुछ अच्छा नहीं होगा, उन्होंने तब खेल छोड़ने का भी फैसला कर लिया था. इन्होंने यह ये स्वीकार किया था कि वो आगे खेलना नहीं चाहते थे, क्योंकि तब इसके लिए उन्होंने कड़ी मेहनत की थी,और वो उस समय आत्म हत्या करना चाहते थे. उनका मानना हैं कि ऐसा अवसर सबकी जिन्दगी में एक बार आता हैं,लेकिन तब उनके कोच और पिता ने कहा कि अब तो तुम्हे खेलना ही होगा.

कुलदीप का करियर (Career)

  • यादव को इंडियन प्रीमियर लीग 2012 में मुंबई इंडियन के साथ कॉन्ट्रैक्ट मिला,लेकिन वो अपने डेब्यू सीजन में 11 खिलाड़ियों में जगह बनाने में कामयाब नहीं रहे. उस समय वो नेट प्रैक्टिस में सचिन को गुगली फैंकने के कारण चर्चा का विषय जरुर बने.
  • आखिर में कुलदीप को आईपीएल में खेलने का मौका मिला और उन्होंने 3 मैच में बेहतरीन पर्दर्शन किया. इस कारण 2016 में उन्हें दिलीप ट्रॉफी में खेलने का मौका मिला. 3 मैच में उन्होंने 17 विकेट लिए और टूर्नामेंट के फाइनल में महत्वपूर्ण योगदान दिया.
  • यूएई में 2014 में खेले गए आईसीसी अंडर वर्ल्ड कप-19 के दौरान कुलदीप पहली बार लाइम लाईट में आये थे. उन्होंने अपनी बॉलिंग में वेरिएशन और अच्छे कंट्रोल से भारत को जीत की उम्मीद जगाई थी. इस टूर्नामेंट में 14 विकेट लेने के बाद उन्हें आईपीएल 2014 में कोलकाता नाईट राइडर्स में चुन लिया गया.
  • 2014 में ही सीटीएल टी20 में जब शाकिब अल हसन एक्शन में नहीं थे, तब कुलदीप को खेलने अवसर मिला था. सुनील नारिने और पियूष चावला के साथ मिलकर कुलदीप ने खतरनाक स्पिन का कॉम्बिनेशन बनाया. इस प्रदर्शन के बाद वो राष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ी बनने के लिए तैयार माने गए,और उन्हें वेस्ट इंडीज के साथ खेलने का मौका मिला.
  • 2014 में अंडर-19 वर्ल्ड कप में कुलदीप हेट्रिक बनाकर पहले इंडियन बॉलर बन गए. कम अवसर मिलने के बाद भी कुलदीप के पारम्परिक गुगली फैकने के साथ ही इनके अनकन्वेंशनल स्टाइल को राष्ट्रीय स्तर पर पहचान मिलने लगी थी,इस तरह उन्होंने इतना तो अर्जित कर ही लिया था कि उन्हें 2017 में ऑस्ट्रेलिया के होम टेस्ट में खिलाया जा सके. अनिल कुंबले ने उन्हें धर्मशाला में खेलने का मौका दिया. कुलदीप ने ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों को परेशान  करते हुए 4 विकेट लिए और भारत को जीतने के लिए मजबूत आधार तैयार किया.
  • इसके बाद कुलदीप को ओडी में खेलने के लिए ज्यादा इंतज़ार नहीं करना पड़ा, 2017 के मध्य में वेस्ट इंडीज में उन्होंने पहली बार वन डे इन्निंग्स खेली. इस टूर में वो सबसे ज्यादा विकेट लेने वालों में शामिल थे,लेकिन श्रीलंका में होने वाले मैच में उन्हें नजर अंदाज किया गया. उन्होंने फाइनल के 2 मैच और बाद की ऑस्ट्रेलिया की श्रंखला में वापिसी की, जिसमें ऑस्ट्रेलिया के सामने उन्होंने हैट्रिक बनाई. यह हेट्रिक इसलिए भी विशेष थी क्योंकि यह कपिल देव और चेतन शर्मा के हेट्रिक के 2 दशक बाद ओडी में भारत के खिलाड़ी की हेट्रिक थी. 
  • हालांकि कुलदीप सबसे फिट खिलाड़ी नहीं हैं लेकिन उनकी ट्रिक्स और बोलिंग एप्लीकेशन परफेक्ट हैं. 2018 में साउथ अफ्रीका में हुए ओडी लीग में उन्होंने बेहतरीन प्रदर्शन दिखाया.

ओडी test,टी20 और आईपीएल में करियर (Career in ODI, test, t20 and ipl)

कुलदीप की बेटिंग परफोर्मेंस batting Performance

मैचइन्निंग्स बैटिंगनॉटआउटरन बनाएहाईएस्ट इनिंग स्कोर100s50s4s6sएवरेज
टेस्ट2203326 vSL003016
ओडी20752319 vSL004011
टी2012101616 VAUS001016
आईपीएल31523216 v MUM003010.66
सीएल5000000

 बॉलिंग परफोर्मेंस (BOWLING PERFORMANCE )

InningsOvermaidens(Run Conceded)Wicket takenBest Innings bawling3W5WAveregeE/R)S/R
test458918794/40v SL0020.773.2238.66
ODi18162.46781394/23 Vsa66020.224.8
T201243.31317245/24 vENG2113.27.210.87
IPL30104.20858354/20 vJAI2024.518.2217.88
CL520015063/24vPER10257.520

कुलदीप से जुडी रोचक बातें ( Interesting facts) 

  • इंडियन क्रिकेट के 82 वर्ष के इतिहास में ये ऐसे प्रथम बॉलर है जो अलग तरह कि गेंदबाजी चाइनामैन बालिंग करतें है. इनके करियर का पहला विकेट इनके द्वारा डेविस वार्नर को आउट कर लिया गया.
  • कुलदीप पहले वसीम अकरम को अपना आदर्श मानते थे, लेकिन फिर शेनवार्न उनके रोल मॉडल बन गये. कुलदीप ने माना कि वो वार्न के विडियो देखते रहते थे. उनकी बाल पर ग्रिप,डिलीवरी की लेंथ और क्रीज़ के उपयोग करने के तरीके से उन्होंने सीखा.
  • कुलदीप का अपने खेल के बारे में कहना हैं कि यदि मैं अपनी स्किल्स को लेकर निश्चित रहू तो ही मैं सफल हो सकता हूँ,इस तरह मैं अपने काम पर और ज्यादा फोकस कर सकता हूँ.
  • इनके खेल कि तारीफ शेन वार्न और सचिन तेंदुलकर जैसे बड़े खिलाड़ियों ने की हैं. सचिन कुलदीप को भारतीय क्रिकेट टीम की जरूरत मानते हैं,और इस कारण ही उन्होंने कुलदीप के डेब्यू टेस्ट मैच के तुरंत बाद उनकी तारीफ़ में ट्वीट किया. वहीँ शेन वार्न ने भी इनके खेल की प्रशंसा में ट्वीट करते हुए लिखा था कि यदि वो धैर्य के साथ खेलते रहे तो वो बेस्ट लेग स्पिनर के क्षेत्र में  यासिर को चेलेंज कर सकेंगे.
  • राहुल संघवी ने पहली बार उन्हें मुंबई इन्डियन की नेट प्रैक्टिस में बॉल फैकने को कहा जहाँ कुलदीप ने शौन पोलाक और रोबिन सिंह को इम्प्रेस किया, और फिर इन लोगों ने कुलदीप के करियर का मार्ग प्रशस्त किया.
  • अंडर-19 वर्ल्ड कप में पहली बार खेलने के बारे में कुलदीप का कहना हैं कि जब आप पहली बार टीवी पर दीखते हैं तब आप गेम के बारे में उतना नहीं सोचते, जितना अपने लुक पर ध्यान देते हैं. लेकिन जैसे ही टूर्नामेंट शुरू हुआ मुझे दिशा मिलने लगी,और यही से मुझे कोलकाता नाइट राइडर्स के लिए चुना गया.
  • कुलदीप को 2014 में इंडियन प्रीमियर लीग में कोलकाता नाईट राइडर्स ने 40 लाख में ख़रीदा था,वो उस समय ये बिलकुल अपेक्षा नहीं कर रहे थे, क्युकी जब ऑक्शन चल रहा था तब तक अंडर-19 वर्ल्ड कप शुरू नहीं हुए थे. उन्हें लगा था कि मुंबई ही उन्हें लेगी लेकिन तब मुम्बई और कोलकाता दोनों ने उन पर बोली लगाई थी,और मुंबई की जगह कोलकाता ने उन्हें लिया, ये जानकार उन्हें ख़ुशी हुयी थी. कुलदीप को दोपहर में पता चला था कि वो मैच में खेल रहे है, जिससे वो बहुत ज्यादा नर्वस हो गए,और तब वासिम अकरम ने उन्हें मोटिवेट किया. उन्होंने सभी खिलाड़ियों को ये पहले ही समझा दिया कि इस लड़के को अलग-थलग महसूस नहीं होना चाहिए,ये पहली बार खेल रहा हैं. उन्होंने अलग से भी कुलदीप को समझाया था,जिससे उनका आत्म-विशवास बढ़ा. आप आप आत्मविश्वास बढ़ाने के उपाय हमारे अर्टिकल से जान सकते है.
  • यादव जब खेल के मैदान में पहुचे तब वहां भी नर्वस हो गये थे ,और पहली वाइड बॉल फैकी लेकिन गौतम गंभीर ने मैदान में उनका हौसला बढाया और कहा कि वो बिना किसी दबाव के नेचुरल खेले. उन्होंने उस मैच में सबसे पहले मोहम्मद हफीज का विकेट लिया.

कुलदीप की पसंद और नापसंद (likes and dislikes)

कुलदीप का फेवरेट गेम पीएस4 हैं. उनकी अन्य पसंद-नापसंद का ज्यादा जानकारी नहीं हैं.

पसंदीदा बॉलर (Favourite Bowler)शेन वार्न
पसंदीदा फुटबॉल टीम/क्लब (Favourite Football team/club)एफसी बार्सिलोना,ब्राज़ील
पसंदीदा गाना (Favourite song)एमिनेम का दी मॉन्स्टर

कुलदीप और विवाद  (controversy and affair in bullet)

वैसे कुलदीप से जुड़े ज्यादा कोई बड़े विवाद अब तक सामने नहीं आये हैं लेकिन कुछ चौकाने वाली बातें हैं जो उन्हें किसी विवाद में फंसा सकती थी.

  • कुछ समय पहले इनके इंस्टाग्राम अकाउंट से कुछ आपति-जनक पोस्ट हो गया था. जिस पर यादव ने सफाई देते हुए प्रशंसकों को ये बात बताई थी कि उनका अकाउंट हैक हो गया है और उन्होंने इसके लिए माफ़ी भी मांगी.
  • दिसंबर 2017 में इंदौर में भारत और श्रीलंका के बीच होने वाले मैच के दौरान कुलदीप की बॉलिंग पर छक्के पड रहे थे. ग्राउंड छोटा था,हर सिक्सर के बाद वो डरकर धोनी की तरफ देखते थे,जो उनसे कह रहे थे कि ये बाल दूर तक नहीं गयी थी तुम्हे और दूर तक फैकनी चाहिए. और चौथे ओवर में जब बैट्समैन ने चौका जड़ा तो माहि भाई मेरे पास आये और मुझे कुछ टिप्स दी,मैंने कहा कोई बात नहीं भाई! हो जाएगा. यह सुनकर धोनी नाराज हो गए पर इसके बाद किस्मत से कुलदीप विकेट लेने में कामयाब रहे थे. इस बात का जिक्र इन्होंने सार्वजानिक रूप से किया जो विवाद का विषय बन सकतीं थी.

अवार्ड(Awards) :

कुलदीप का करियर अभी बहुत छोटा है इसलिए इन्हें अब तक इतने मौके नहीं मिले की ये अवार्ड्स कि लिस्ट जाहिर कर पाए. परन्तु फिर भी कुलदीप ने अक्टूबर 2017 में खेले गए टी20 मैच में ऑस्ट्रेलिया के सामने मैन ऑफ़ दी मैच का ख़िताब जीता है जो की अब तक की बड़ी उपलब्धि है.

Net worth (कुलदीप यादव की वार्षिक आय

कुलदीप यादव की 2018 के कुल आय 2.2 मिलियन डॉलर मतलब लगभग 14.3 करोड़ रूपये के पास आंकी गयी है. जबकि  वार्षिक आय 1.4 मिलियन डॉलर (9 करोड़) अनुमानित हैं. कुलदीप की कुल आय में  पिछले कुछ वर्षों की अपेक्षा इस वर्ष 200% तक की बढ़ोतरी हुयी हैं . 2018 में आईपीएल के ऑक्शन में कोलकाता नाइट राइडर्स ने उन्हें पांच करोड़ से ज्यादा राशि देकर खरीदा हैं.

अन्य पढ़े:

Ankita

Ankita

अंकिता दीपावली की डिजाईन, डेवलपमेंट और आर्टिकल के सर्च इंजन की विशेषग्य है| ये इस साईट की एडमिन है| इनको वेबसाइट ऑप्टिमाइज़ और कभी कभी आर्टिकल लिखना पसंद है|
Ankita

One comment

  1. Tranding news india

    Bhout Achi post hai Kuldeep Yadav

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *