Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!

मदर्स डे क्यों मनाया जाता है, मदर्स डे कविता | When and Why Mothers Day Celebrated, Poem in Hindi

मदर्स डे कब और क्यों मनाया जाता है, मदर्स डे पर हिंदी कविता (When and Why is Mothers Day Celebrated, Poem, Slogans in Hindi)

माँ एक ऐसा शब्द हैं जिसे लिखने वाला कभी अपनी कलम से पूरा नहीं कर पाता. माँ की ममता को शब्दों में बांधना नामुमकिन हैं. हर एक माँ में भगवान की छवि होती हैं कहते हैं भगवान हर किसी के पास नहीं जा पाते इसलिए माँ को भेजते हैं. माँ शब्द ही अनमोल हैं इसके आगे पीछे कुछ भी कहना कम हैं ममता को शब्दों में व्यक्त करना ही नामुमकिन हैं. मातृत्व के आगे गलत सही की परिभाषा ही बदल जाती हैं. माता एक ऐसी ढाल हैं जो साथ हैं तो जीवन सदैव चिंतामुक्त रहता हैं. ममता की भावना सभी तकलीफों से ऊपर होती हैं एक माँ कितना भी दुःख सहले अपने बच्चे को हमेशा ख़ुशी देती हैं उसके लिए वो हर तकलीफ उठाती हैं जिससे उसे बस ख़ुशी मिलती हैं. माँ अपने बच्चों के लिए हर कुर्बानी देती हैं. फिर भी हर दम मुस्काती हैं.

Mother's day

मदर्स डे वह विशेष दिन है जोकि अपनी माँ को सम्मान देने के लिए मनाया जाता है. यह हर साल मनाया जाता है. यह आधुनिक समय का जश्न है जिसकी शुरुआत उत्तरी अमेरिका से हुई है. इसे दुनिया में अलग – अलग देशों में अलग – अलग तरीके से मनाया जाता है. यह दिन केवल माँ को ही नहीं, बल्कि लोग इस दिन अपनी दादी, नानी और अपने घर की अन्य महत्वपूर्ण महिलाओं को भी सम्मानित करने के लिए मनाते हैं. मदर्स डे कब, क्यों और कैसे मनाया जाता है एवं इसके इतिहास के बारे में जानने के लिए हम इस लेख को आपके सामने ले कर आये हैं. इसे आप पूरा पढ़ें.

उत्सव का नाम मातृ दिवस [मदर्स डे]
कब मानाया जाता हैं मई माह के दूसरे रविवार [अमेरिका एवं भारत] अन्य देशों अलग अलग तिथी हैं
पहली बार कब मनाया गया 1908
किसने पहली बार मनाया अमेरिका
अनुसरण करने वाले देश 40 से अधिक देश

मदर्स डे क्यों मनाया जाता है एवं उसका उद्देश्य क्या है ? (Why is Mother’s Day Celebrated and What is Its Purpose ?)

इस दिन को मनाने का मुख्य उद्देश्य माताओं का सम्मान करना एवं उन्हें विशेष अनुभव कराते हुए उनका आपके जीवन में कितना महत्व है, यह दर्शाना है.

दोस्तों माँ शब्द का अर्थ तो सभी जानते होंगे. माँ वो होती है जो अपने बच्चों की ख़ुशी के लिए किसी भी प्रकार का दुःख सह सकती है. आपने कई लोगों से यह सुना होगा कि भगवान हर जगह नहीं पहुँच सकते हैं इसलिए उन्होंने माँ बनाई है. यह कथन सो प्रतिशत सही है. माँ भगवान के रूप में ही होती है. जिनके पास माँ होती है, वे सभी खुशनसीब होते हैं. बच्चे और माँ के बीच का बंधन बहुत ही मजबूत होता है. एक बच्चे के जीवन में उसकी माँ का योगदान बहुत अधिक है. ऐसे में माँ को हमें सम्मान देना परमावश्यक है. इसी के लिए मदर्स डे मनाया जाता है. वैसे तो हमें अपनी माँ का एक दिन नहीं बल्कि हर दिन सम्मान करना चाहिए. लेकिन मदर्स डे एक विशेष दिन है, इस दिन समाज में माताओं के योगदान का सम्मान किया जाता है. लोग अपनी माँ को विशेष अनुभव कराते हैं और उन्हें सम्मानित करते हैं.

इतिहास (History)

मदर्स डे पहली बार सन 1908 में मनाया गया था. जिसकी शुरुआत एना जार्विस नाम की एक महिला ने अपनी माँ के लिए एक स्मारक का निर्माण करते हुए की थी. उनकी माँ एन रीव्स जार्विस की मृत्यु सन 1905 में हुई थी. यह स्मारक वेस्ट वर्जीनिया के ग्रैफ्टन में सेंट एंड्रयू के मेथोडिस्ट चर्च में बनाया गया जहाँ अंतर्राष्ट्रीय मदर्स डे श्राइन आयोजित की गई है. इनकी माता रीव्स जार्विस एक शांत कार्यकर्ता थी, जिन्होंने दुसरे विश्व युद्ध के दौरान दोनों तरफ के घायल सैनिकों की देखभाल की थी और साथ ही सावर्जनिक स्वास्थ्य के मुद्दों को हल करने के लिए मदर्स डे वर्क क्लब भी बनाया था. एना जार्विस अपनी उसी माँ का सम्मान करना चाहती थी. इसके साथ ही हर माँ को सम्मान देने के लिए उन्होंने इस दिन को एक विशेष दिन के रूप में मनाना शुरू किया. उनका मानना था कि “एक माँ वो है जिसने दुनिया में किसी के भी मुकाबलें आपके लिए अधिक ही किया है”.

उन्होंने सन 1905 में संयुक्त राष्ट्र अमेरिका में मदर्स डे के महत्व को जानने के लिए इस दिन को छुट्टी के रूप में मनाने के लिए एक अभियान भी शुरू किया था. उनका यह अभियान सन 1911 तक चला. उनके इस प्रयासों के चलते इस दिन सभी अमेरिकी राज्यों में छुट्टी मनाई, किन्तु उनमे से कुछ राज्यों में अधिकारिक तौर पर मदर्स डे को स्थानीय अवकाश के रूप में मान्यता दी. सन 1914 में वुडरो विल्सन ने मई के दुसरे रविवार को माँ का सम्मान करने के लिए राष्ट्रीय अवकाश के रूप में मदर्स डे मनाने की एक घोषणा पर हस्ताक्षर किये. हालाँकि इस घोषणा के बाद भी बहुत विवाद हुआ. क्योकि इस दिन को अलग तरीके से मनाया जा रहा था, जोकि एना जार्विस को पसंद नहीं आया और उन्होंने इसका विरोध किया. इसके लिए उन्हें गिरफ्तार भी किया गया था.

इस दिन के इतिहास को लोग अलग – अलग इवेंट से जोड़ते हैं. कुछ लोगों का मानना है यह तब से मनाया जा रहा है जब माताओं ने युद्ध में हिस्सा लिया था. इसलिए यह कहना मुश्किल है कि इसका वास्तविक इतिहास क्या है.

मदर्स डे कब मनाया जाता है ? (When Mother’s Day is Celebrated ?)

आप ने ये तो जान लिया कि मदर्स डे क्यों मनाया जाता है, लेकिन ये कब मनाया जाता है यह जानना भी आवश्यक है. मदर्स डे कुछ जगहों पर जैसे संयुक्त राष्ट्र अमेरिका एवं भारत में यह मई माह के दुसरे रविवार के दिन मनाया जाता है. किन्तु विश्व में अलग – अलग देशों में इसे अलग – अलग दिन मनाया जाता है. ब्रिटेन में इसे मई के चौथे रविवार के दिन मनाया जाता है. अरब देशों में इस दिन को 21 मार्च को मनाते हैं. कुछ जगह पर यह अगस्त माह में तो कुछ जगह अन्य महीनों में भी यह दिन मनाया जाता है.

सन 2019 में मदर्स डे की तारीख (Mother’s Day Date in 2019)

आने वाले साल यानि सन 2019 में मदर्स दे मई माह के दुसरे रविवार को यानि 12 मई 2019 को मनाया जायेगा. इस साल इस दिन का विषय क्या होगा यह हम आपको जल्द ही बताइंगे.

मदर्स डे  विषय (Mother’s Day Themes)

मदर्स डे हर साल मनाया जाता है और हर साल इसके लिए एक अलग विषय रखा जाता है. यहाँ पिछले कुछ सालों में मनाये गये मदर्स डे के विषयों के बारे में जानकारी दी जा रही है जोकि इस प्रकार है –

क्र. . (S.no.) साल (Year) विषय (Themes)
1. 1998 ‘मातृत्व ख़ुशी’
2. 1999 ‘पवित्र सौन्दर्य’
3. 2000 ‘घर का दिल’
4. 2001 ‘अच्छे काम के लिए सलाम’
5. 2002 ‘काम के लिए हाथ और भगवान के लिए दिल’
6. 2003 ‘फ्रॉम फार ओवर द रुबीस’
7. 2004 ‘क्लासिक ईसाई महिलाएं’
8. 2005 ‘अच्छी यादें’
9. 2006 ‘प्यार का कैमिया’
10. 2007 ‘बोस एंड बटन्स’
11. 2008 ‘नेस्ट को आशीर्वाद दें’
12. 2009 ‘पवित्रता का सौन्दर्य’
13. 2010 ‘सभी राजाओं की बेटी’
14. 2011 ‘योग्य माँ’
15. 2012 ‘माँ का स्पर्श’
16. 2013 ‘माँ के घुटने’
17. 2014 ‘माँ का प्यार’
18. 2015 ‘माँ का दिल’
19. 2016 ‘माँ का हाथ’
20. 2017 ‘हर माँ जानती है’
21. 2018      –
22. 2019      –

मदर्स डे के लिए नारे (Mother’s Day Slogans)

मदर्स डे के लिए कुछ नारे निम्न है –

1. आज मदर्स डे के मौके पर अपनी माँ को ये दिखाओ कि आप उनसे कितना प्यार करते हों.
2. मदर्स डे – एक दिन अपनी माँ को यह बताने के लिए कि आप भी उनकी देखभाल करते हैं.
3. आपको आपकी जिंदगी आपकी माँ से मिली है, उनसे प्यार करो.
4. आपकी माँ आपसे बिना किसी शर्त के प्यार करती है, बदलें में वो भी यही चाहती है.
5. आज अपनी माँ पर प्यार की बरसात करो, यह मदर्स डे है.
6. आप अपने प्यार से माँ को चमकने दो.
7. कोई भी आपको उनकी तरह प्यार नहीं कर सकता है, क्योकि वो आपकी प्यारी माँ है.
8. वे आपके लिए बहुत मायने रखती है – यह उन्हें इस मदर्स डे पर कहों.
9. इस विशेष दिन को अपनी माँ के साथ मनाओ, यह मदर्स डे है.
10. अपनी माँ को अपने प्यार से लपेटो, क्योकि यह मदर्स डे है.

मदर्स डे कैसे मनाया जाता है (How to Celebrate Mother’s Day ?)

मदर्स डे हर किसी के लिए साल का एक बहुत ही खास दिन होता है. जो लोग अपनी माँ की देखभाल करते हैं उनसे प्यार करते हैं. वे इस विशेष अवसर को कई तरीकों से मनाते हैं. यह साल का एक मात्र दिन है जो दुनिया की सभी माताओं को समर्पित होता है. भारत में पहले से इसमें कुछ बदलाव आये हैं. यह समाज में बड़ी जागरूकता का एक कार्यक्रम बन गया है. हर कोई इस इवेंट को अपने तरीके से मनाना चाहता है. भारत एक महान संस्कृति और परंपरा वाला देश है, जहाँ लोग अपनी माँ को पहला दर्जा और प्राथमिकता देते हैं. इसलिए यहाँ मदर्स डे का जश्न बहुत महत्वपूर्ण है.

इस दिन को कई स्कूलों में बड़े स्तर पर मनाया जाता हैं. शिक्षकों द्वारा विद्यालयों में इस दिन का एक भव्य उत्सव बच्चों के सामने मनाने के लिए आयोजित किया जाता है. ताकि वे इवेंट के बारे में जागरूक हो जाएँ और माँ के महत्व को समझें. छोटे बच्चों की माँ विशेष रूप से स्कूलों में उत्सव का हिस्सा बनने के लिए आमंत्रित की जाती है. इस दिन प्रत्येक छात्रों द्वारा कविता पाठ, लेखन, भाषण वर्णन, नाचना, गाना और बातचीत इत्यादि के माध्यम से अपनी माँ का सम्मान किया जाता है. शिक्षकों द्वारा कक्षाओं में अपने बच्चों को कुछ दिखाने के लिए एवं उन्हें खुश करने के लिए माँओं को भी शामिल किया जाता है. वे आम तौर पर बच्चों का मनोरंजन करने के लिए डांस एवं गाना भी गाती हैं.

इस दिन लोग अपनी माँ का सम्मान विभन्न तरीकों से करते हैं वे उन्हें आम तौर पर फूल, कार्ड और उपहार भी देते हैं. तो कुछ लोग उन्हें गहने भी ऑफर करते हैं. बच्चे अपनी माँ के लिए सुबह – सुबह नाश्ते की तैयारी कर उन्हें उनके बिस्तर में ही सरप्राइज देते हैं. कुछ लोग अपनी माँ को बाहर घुमाने ले कर जाते हैं. उनके साथ डिनर करते हैं फिल्म दिखाते हैं. केक, कुकीज जैसे विशेष व्यंजन तैयार कर उन्हें खुश करते हैं. बच्चों के द्वारा किये गये कार्यक्रमों से माताएं भी बहुत खुश हो जाती हैं. वे भी अपने इन प्यारे – प्यारे बच्चों के लिए व्यंजन बनाकर लाती है. और कार्यक्रम के अंत में सभी छात्रों को खिलाती है. इसके बाद ही सभी बच्चे अपनी माँओं को उपहार एवं कार्ड्स देते हैं.

ईसाई धर्म के लोग इसे अपने तरीके से मनाते हैं. वे इस दिन अपनी माँ के सम्मान में चर्चों में भगवान से विशेष प्रार्थना करते हैं. इस दिन बच्चे अपने माँ को बिलकुल परेशान नहीं करते हैं. बच्चों को अपने परिवार के साथ आनंद लेने और उनके साथ बहुत मजा करने का पूर्ण अवसर प्रदान करने के लिए कुछ देशों में मदर्स डे के दिन छुट्टी होती है. यह माँओं को सभी घरेलू कामों और जिम्मेदारियों से दूर रखने का एक विशेष दिन होता है.

मदर्स डे पर सन 2019 में कार्यक्रम (Mother’s Day Events in 2019)

इस साल के कार्यक्रम भी पिछले कुछ सालों की तरह ही आयोजित किये जा सकते हैं. किन्तु विभिन्न देशों में अलग – अलग तरह के कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है. इस साल क्या नये – नये कार्यक्रम होते हैं. यह हम आपको इस लेख के माध्यम से जल्द ही बता देंगे.

माँ हमेशा आपकी मुसीबतों के सामने चट्टान की तरह खड़ी रहती है. हर मुश्किलों को हस कर सह जाती है. ऐसी माँओं को सलाम करना चाहिए. तो आइये और इस साल भी अपनी माँ को दिखाएँ कि आपकी जिंदगी उनकी जिंदगी से किस तरह जुड़ी हुई है और वे आपकी जिंदगी में क्या मायने रखती है. साथ ही उन्हें सम्मानित एवं विशेष अनुभव कराएँ.

 मदर्स डे पर हिंदी कविता  (Mothers Day Poem in hindi)

वो मेरी आशा, वो मेरी अभिलाषा,
ममता से भरी,अपनेपन की परिभाषा.

वो साथ मेरे हरदम, बनकर एक साया,
उसने ही मेरा. जीवन महकाया.

तकलीफ़ में भी मुस्काती हैं,
हर गम ख़ुशी से सह जाती हैं.

मेरी राहों पर फूल बिछाती वो,
खुद कांटो पर भी सो जाती हैं.

ममता की मूरत होती हैं माँ,
भगवान् की छवि कहलाती हैं माँ.

अन्य पढ़े

Karnika

कर्णिका दीपावली की एडिटर हैं इनकी रूचि हिंदी भाषा में हैं| यह दीपावली के लिए बहुत से विषयों पर लिखती हैं |यह दीपावली की SEO एक्सपर्ट हैं,इनके प्रयासों के कारण दीपावली एक सफल हिंदी वेबसाइट बनी हैं
Karnika

One comment

  1. maa ka pyar mahan hai

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *