स्मृति मंधाना का जीवन परिचय, पति, आयु, जाति (Smriti Mandhana Biography in Hindi)

स्मृति मंधाना का जीवन परिचय, क्रिकेटर, पति का नाम, आयु, बायोग्राफी, कौन है,  बॉयफ्रेंड, जाति, धर्म (Smriti Mandhana Biography in Hindi) (Age, Cricketer, Husband, Biography, Boyfriend, Height, Career, Century, Caste, Crush, Highest Score, Test)

हमारे देश में क्रिकेट प्रेमियों की एक बड़ी तादात है। क्रिकेट हमेशा ही भारत का चहेता खेल रहा है। इससे जुड़ा रोमांच शायद ही किसी और खेल के मैदान पर देखने को मिलता है।गौर करने वाली बात यह है कि पुरुष क्रिकेट टीम के अलावा आजकल महिला क्रिकेट टीम को भी काफी प्रोत्साहन मिल रहा है। महिला क्रिकेट टीम के खिलाड़ी अपने बेहतर प्रदर्शन के बल पर दर्शकों के दिलों में जगह बना रहे हैं। आज इस आर्टिकल के माध्यम से क्रिकेट जगत से जुड़ी एक ऐसी ही खिलाड़ी की हम बात करने जा रहे हैं जिनके बारे में आज हर भारतीय जानना चाहता है। भारतीय महिला क्रिकेट की उन खिलाड़ी का नाम है स्मृति श्रीनिवास मंधाना जिन्हे पूरा विश्व स्मृति मंधाना के नाम से जानता है। तो आइए जानें, स्मृति मंधाना के जीवन से जुड़े महत्वपूर्ण पहलुओं के बारे में।

smriti mandhana biography in hindi

स्मृति मंधाना का जीवन परिचय (Smriti Mandhana Biography in Hindi)

नामस्मृति श्रीनिवास मंधाना
जन्म18 जुलाई सन 1996 
आयु25
हाइट5 फुट 4 इंच
बर्थ प्लेसमहाराष्ट्र 
राष्ट्रीयताभारतीय
पिताश्रीनिवास मंधाना
मातास्मिता मंधाना
भाईश्रवण मंधाना 
पेशाक्रिकेट
धर्महिन्दू
जातिमारवाड़ी
मुख्य अवार्ड2019 में अर्जुन पुरस्कार
राशिकर्क
जर्सी नंबर18
डेब्यू (अंतराष्ट्रीय)उन्होंने 2013 में बांग्लादेश के विरुद्ध ओडीआई और टी 20 खेल कर अंतराष्ट्रीय क्रिकेट में कदम रखा था।

स्मृति मंधाना का जन्म, आयु, परिवार, जाति (Smriti Mandhana Birth, Age, Family and Caste)

स्मृति मंधाना का जन्म 18 जुलाई सन 1996 को महाराष्ट्र में हुआ था। ये मारवाड़ी समुदाय से सम्बन्ध रखती है. इनके पिता का नाम श्रीनिवास मंधाना और मां का नाम स्मिता मंधाना है। स्मृति का एक भाई भी है जिसका नाम श्रवण मंधाना है। स्मृति की उम्र abhi 25 साल है.

स्मृति मंधाना का प्रारंभिक जीवन (Smriti Mandhana Early Life)

महज़ दो वर्ष की छोटी आयु में स्मृति अपने परिवार के साथ माधवनगर, सांगली, महाराष्ट्र में शिफ्ट हो गई थीं। स्मृति की स्कूली शिक्षा सांगली में ही पूरी हुई। स्मृति की क्रिकेट में रुचि होने की एक वजह उनके पिता और भाई भी थे। उनके पिता और भाई दोनो ही डिस्ट्रिक्ट लेवल के खिलाड़ी रह चुके थे। स्मृति के भाई श्रवण ने महाराष्ट्र के लिए अंडर 16 टूर्नामेंट भी खेला है। इनकी मां स्मिता ने भी स्मृति की काफी मदद की। बचपन से ही वो स्मृति के खान पान, कपड़े, ट्रेनिंग आदि का पूरा ध्यान रखा करती थीं।

स्मृति मंधाना डोमेस्टिक क्रिकेट करियर (Domestic Cricket Career)

स्मृति ने महज नौ वर्ष की आयु से ही अपने क्रिकेट के करियर की शुरुआत की थी। इस दिशा में उनको पहली महत्वपूर्ण सफलता तब मिली जब अंडर 15 में  इनका चुनाव हुआ। इसके बाद स्मृति ने कभी मुड़ कर नहीं देखा। करियर में एक बेहतरीन मोड़ तब आया जब स्मृति को महाराष्ट्र की अंडर 19 की ओर से खेलने का मौका मिला। घरेलू क्रिकेट में शुरू से ही स्मृति का प्रदर्शन शानदार रहा। 

2013 स्मृति के लिए एक महत्वपूर्ण वर्ष था क्योंकि इसी वर्ष उन्होंने महाराष्ट्र और गुजरात के बीच हो रहे मैच में सिर्फ 154 गेंदों में 224 रन बनाया था। अपने इस शानदार प्रदर्शन के कारण स्मृति अखबार की सुर्खियों में छा गई थीं। इस प्रकार स्मृति को देश की पहली महिला क्रिकेटर बनने का गौरव प्राप्त हुआ जिन्होंने किसी एक दिवसीय मैच में दोहरा शतक बनाया हो। इसके बाद भी स्मृति का बेहतरीन खेल जारी रहा।

साल 2016 भी स्मृति के कैरियर का एक महत्वपूर्ण वर्ष रहा जब उन्होंने विमेन चैलेंज  ट्रॉफी में तीन अर्धशतक बनाकर अपनी टीम की जीत को सुनिश्चित किया। इस टूर्नामेंट में उन्होंने कुल मिलाकर 194 रन बनाए थे जिसके कारण वो इस टूर्नामेंट की सर्वश्रेष्ठ स्कोरर साबित हुईं।

स्मृति मंधाना इंटरनेशनल क्रिकेट करियर (International Cricket Career)

स्मृति का इंटरनेशनल क्रिकेट कैरियर उनके डोमेस्टिक क्रिकेट कैरियर से भी अधिक रोचक है। उनके इंटरनेशनल टेस्ट क्रिकेट करियर की शुरुआत सन 2014 में इंग्लैंड के खिलाफ वर्मस्ले पार्क में हुई थी। इस मैच की दोनो इनिंग्स को मिला कर उन्होंने कुल 73 रन बनाए थे और इस तरह अपनी टीम की जीत सुनिश्चित की थी। इसके पहले उन्होंने 2013 में बांग्लादेश के विरुद्ध ओडीआई और टी 20 खेल कर अंतराष्ट्रीय क्रिकेट में कदम रखा था।

साल 2016 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ उन्होंने अपने पहला इंटरनेशनल शतक जड़ा था। उन्हीं 109 गेंदों पर 102 रन बनाए थे। इसके बाद स्मृति एक मात्र भारतीय खिलाड़ी बनी जिन्हे 2016 आईसीसी ने महिला टीम के नामों में जगह दी थी।

स्मृति की कई महत्वपूर्ण उपलब्धियों में एक उपलब्धि ये भी है कि वो 2017 वर्ल्ड कप में उस महिला टीम की सदस्या थी जिसने इंग्लैंड को कड़ी टक्कर दी थी। इसके साथ साथ स्मृति ने अंतर्राष्ट्रीय टी 20,2019 में चौबीस गेंदों पर  न्यूजीलैंड के विरुद्ध सबसे तेज अर्धशतक लगा कर रिकॉर्ड बनाया था।

स्मृति मंधाना को मिले प्रमुख पुरस्कार (Smriti Mandhana Award)

  • स्मृति को वर्ष 2019 में आईसीसी वुमन क्रिकेटर ऑफ द ईयर का अवार्ड मिला था।
  • स्मृति को वर्ष 2019 में ही आईसीसी विमेन ओडीआई प्लेयर ऑफ द ईयर के साइकिल से भी सम्मानित किया जा चुका है।
  • वर्ष 2018 में बीसीसीआई ने उन्हें बेस्ट विमेन इंटरनेशनल क्रिकेटर का अवार्ड दिया था।
  • भारत सरकार द्वारा उन्हें 2019 में अर्जुन पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया है।

स्मृति मंधाना के पति एवं बॉयफ्रेंड (Smriti Mandhana Husband, Boyfriend)

स्मृति मंधाना की अब तक शादी नहीं हुई है और इनका कोई बॉयफ्रेंड है या नहीं इसकी कोई भी जानकारी उनके द्वारा अभी तक नहीं दी गई है.

स्मृति मंधाना आज भारतीय क्रिकेट एवं अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में एक सम्मानित नाम है। उनकी उपलब्धियां इस बात को दर्शाती है कि महिलाएं क्रिकेट जैसे खेलों में बेहतरीन प्रदर्शन करने की क्षमता रखती हैं। मंदाना ने अपने बेहतरीन प्रदर्शन से महिला क्रिकेट को नई ऊंचाइयों पर पहुंचाया है। समस्त भारतवासी उनके शानदार प्रदर्शन और उपलब्धियों की कामना करते हैं।

FAQ

Q : स्मृति मंधाना का जन्म कहां हुआ था?

Ans : महाराष्ट्र में।

Q : स्मृति मंधाना किस राज्य से बिलॉन्ग करती हैं ?

Ans : महाराष्ट्र।

Q : स्मृति मंधाना अंतरराष्ट्रीय टेस्ट क्रिकेट की शुरुआत कब की?

Ans : 2014

Q : स्मृति मंधाना को अर्जुन पुरस्कार कब मिला?

Ans : 2019

Q : स्मृति मंधाना ने क्रिकेट खेलना कब शुरू किया था?

Ans : नौ वर्ष की आयु से।

अन्य पढ़ें –

  1. सानिया मिर्जा का जीवन परिचय
  2. नीरज चोपड़ा का जीवन परिचय
  3. पीवी सिन्धु का जीवन परिचय
  4. भाविना हसमुखभाई पटेल का जीवन परिचय

More on Deepawali

Similar articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here