वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन [Vande Bharat Express Train]

0

वंदे भारत ट्रेन [पहली वंदे भारत ट्रेन, दूसरी वंदे भारत ट्रेन, तीसरी वंदे भारत ट्रेन, चौथी वंदे भारत ट्रेन,पांचवी वंदे भारत ट्रेन, वंदे भारत ट्रेन की टिकिट, ट्रेन की खासियत, वंदे भारत की खासियत, वंदे भारत ट्रेन रूट, वंदे भारत ट्रेन रनिंग स्टेटस, वंदे भारत ट्रेन क्या है, ट्रेन का नंबर] Vande Bharat Express [ fisrt vande bharat express, train route, train running status, ticket price, train features, train number]

हमारे देश में जल्द ही पांचवी वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन चलने जा रही है। जिसकी सौगात जल्द ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा दी जाएगी। आपको बता दें कि, ये ट्रेन 10 नवंबर 2022को शुरू होगी जो चेन्नई-बेंगलुरू और मैसूर रूट पर दौड़ेगी। वंदे भारत एक्सप्रेस इस रूट पर करीब 483 किमी का सफर तय करेगी। इससे पहले 13 अक्टूबर 2022 को हिमाचल प्रदेश को भी वंदे भारत की सौगात दी गई। सरकार का कहना है कि, इसको देश के हर कोने से जोड़ा जाएगा ताकि हमारी भारतीय रेलवे भी हाईटेक हो जाए।

वंदे भारत ट्रेन [Vande Bharat Express]

Vande Bharat Express Train

इस दिन चली थी पहली वंदे भारत ट्रेन

भारत में सबसे पहले वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन 15 फरवरी 2019 को शुरू हुई। जिसका उद्धाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा किया गया। ये ट्रेन दिल्ली से वाराणसी वाले रूट पर चलाई गई। जिसके बाद ये भारत की पहली सबसे तेज गति वाली ट्रेन बनी। जिसमें लोकोमोटिव इंजन नहीं लगा हुआ है।

इस स्पीड से चलाई जाती है ट्रेन

दिल्ली से वाराणसी के रूट पर चलने वाली वंदे भारत एक्स्प्रेस 769 किमी की रफ्तार से चलाई जाती है। जिसके कारण इसे स्पेशल ट्रेन का नाम दिया गया है। आपको बता दें कि, इसमें सिर्फ दो ही स्टॉपेज हैं एक कानपुर और दूसरा प्रयागराज है। ये ट्रेन सप्ताह के 5 दिन चलेगी।

इतने की होगी टिकट

दिल्ली से वाराणसी जाने वाली वंदे भारत का एसी चेयरकार का किराया 1850 रूपये है वहीं एक्जीक्यूटिव क्लास का किराया 3520 रूपये है।

दूसरी वंदे भारत ट्रेन हुई शुरू

दूसरी वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन दिल्ली से कटरा के रूट पर शुरू की गई। जिसकी शुरूआत 5 अक्टूबर 2019 को हुई। गृह मंत्री अमित शाह द्वारा इस ट्रेन को हरी झंडी दिखाई गई। आपको बता दें कि, हाई स्पीड ट्रेन होने के चलते ये 12 घंटे से भी कम समय में लोगों को दिल्ली से कटरा पहुंचा देती है।

जानिए कितना है ट्रेन का किराया

इस ट्रेन का किराए की अगर हम बात करें तो इसका किराया चेयर कार का 2630 रूपये है वहीं एग्जीक्यूटिव चेयर कार का किराया 3015 रूपये है। ये ट्रेन पूरे हफ्ते चलती है। आपको बता दें कि, ये ट्रेन नई दिल्ली से दोपहर के समय रवाना होती है और सुबह छह बजे कटरा पहुंचती है।

तीसरी वंदे भारत की शुरूआत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा गुजरात की राजधानी गांधीनर और मुंबई सेंट्रल के बीच वंदे भारत की शुरू की गई। ये भारत की तीसरी वंदे भारत ट्रेन बनी।

ट्रेन का किराया

गुजरात की राजधानी गांधीनर और मुंबई सेंट्रल तक चलने वाली इस ट्रेन का चेयर कार का किराया 1075 रूपये और एग्जीक्यूटिव चेयर कार का किराया है 2025 रूपये।

चौथी वंदे भारत की शुरूआत

वंदे भारत ने अपनी चौथी रफ्तार भरी हिमाचल प्रदेश के ऊना से। वहीं से इस ट्रेन को हरी झंडी दिखाकर शुरू किया गया। आपको बता दें कि, इस ट्रेन दिल्ली से ऊना जाना अब काफी आसान हो जाएगा। इसी के साथ इसका किराया भी काफी कम रखा गया है।

जानिए ट्रेन का किराया

इस ट्रेन मेंसामान्य श्रेणी में सफर करने वालो को 245 रुपये चुकाने होंगे। थ्री टियर का किराया 600 रुपये होगा। टू टियर का किराया 950 रुपये जबकि फर्स्ट क्लास का किराया 1585 रुपये होगा।

पांचवी वंदे भारत की होगा शुभारंभ

अब जल्द ही पांचवी वंदे भारत भी आने वाली है जो 10 नवंबर 2022 को शुरू की जाएगी। ये ट्रेन चेन्नई-बेंगलुरू और मैसर के रूट पर दोड़ेगी। फिलहाल अभी इसकी घोषणा हुई है इसका किराया और हफ्ते में कितने दिन चलेगी इसके बारे में कोई जानकारी नहीं है। लेकिन एक बात है कि, लोगों का साउथ जाना काफी आसान हो जाएगा।

कई सुविधाओं से लेस है वंदे भारत

कई सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए इस ट्रेन को तैयार किया गया है। अगर हम इसकी रफ्तार की बात करें तो ये ट्रेन 160 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ती है। इसमें सारी चीजों का खास ध्यान रखा गया है ताकि लोगों को ट्रेन का बेहतर अनुभव प्राप्त हो सके। इसमें लोगों को समय पर खाना और सुख-सुविधाएं प्राप्त होगी। जिससे उनका सफर काफी आरामदायक हो जाएगा।

ट्रेन की खासियत

इन ट्रेन की खासियत ये है कि, इसमें वरिष्ठ नागरिकों को भी इसमें छूट दी गई है। वहीं बच्चों के लिए भी खास छूट रखी गई है। अगर हम इसमें लोगों के बैठने की बात करें तो इसके नॉन एग्जिक्यूटिव कोच में 78 लोगों के बैठने की सुविधा है। वहीं इसमें शताब्दी जैसी बड़ी खिड़कियां लगाई गई हैं। वाई-फाई की सुविधा भी उपलब्ध है। ट्रेन के दरवाजे ऑटोमैटिक बंद हो जाएंगे। इसके अलावा इसमें हर सीट के सामने एक टेबल दी गई है। पैसेंजर चाहे तो सीट को 180 डिग्री तक घूमा सकते हैं।

कोच में मिलेगी सुविधाएं

इन ट्रेनों के कोच में अलग-अलग सुविधाओं को रखा गया है। ट्रेन के अंदरजीपीएस की सुविधा दी गई है। ओडियो विजुअल यात्री सूचना प्रणाली भी है। इसी के साथ मनोरंजन के लिए ऑनबोर्ड हाट  स्पाट, वाई-फाई और आरामदायक बैठने की जगह भी दी गई है।

टॉयलेट और लाइट का रखा गया ध्यान

वंदे भारत में जो टॉयलेट तैयार किए गए हैं उन्हें बायो वैक्यूम रखा गया है। लाइन की सुविधा ड्यूल मोड में है। हर जगह लाइन बराबर हो इसलिए हर एक सीट पर लाइट और स्वीच की सुविधा भी दी गई है। जो लोग एक्जीक्यूटिव क्लास में सफर करते हैं उनकी सीट झुक जाए ऐसी सुविधा भी उपलब्ध कराई गई है।

हर कोच में है पैंट्री की सुविधा

इस ट्रेन के हर कोच  में पैंट्री की सुविधा उपलब्ध है। जिसके कारण आपको गर्म और  ठंडा खाना खाने की सुविधा मिलेगी। इससे आपको हर समय खाना प्राप्त होता रहेगा। जिससे आपको सफर करने में आसानी रहेगी।

कैमरों से बढ़ाई गई सुरक्षा

यहां हर कोच में सीसीटीवी कैमरे की सुविधा दी गई है। जिसके कारण आपकी सुरक्षा पर कड़ी नजर बनी रहेगी। ट्रेन के बेहतर नियंत्रण के लिए नए कोचों में लेवल-II सेफ्टी इंटीग्रेशन सर्टिफिकेशन भी लगाए गए हैं।

क्यों खास है वंदे भारत

वंदे भारत इसलिए खास है क्योंकि इसे भारत में ही तैयर किया गया है। जिसके कारण इसको मेड इन इंडिया कहा जाता है और इसलिए ये खास है।

FAQ

Q- वंदे भारत किसके द्वारा शुरू की गई?

Ans- केंद्र सरकार द्वारा शुरू की गई।

Q- सबसे पहले कहां हुई थी शुरू?

Ans- सबसे पहले ये ट्रेन दिल्ली से वाराणसी के लिए शुरू हुई थी।

Q- वंदे भारत की खासियत?

Ans- कम समय पर पहुंचाती है जगह पर।

Q- वंदे भारत की टिकट?

Ans- वंदे भारत की टिकट अलग-अलग है।

Q- वंदे भारत क्या है?

Ans- एक हाई स्पीड ट्रेन है।

Other Links-

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here