व्लॉगिंग क्या है और इससे पैसे कैसे कमाते हैं | What is Vlogging in Hindi

व्लॉगिंग क्या है, अर्थ, कैसे करते हैं, वेबसाइट, कैमरा, मीनिंग, पैसे कैसे कमायें (What is Vlogging in Hindi) (Meaning, Camera, Price, Tripod, Benefits, how to Start, Earn Money, Vlogging and Blogging Difference)

आज से कुछ सालों पहले तक ब्लॉगिंग का दौर था और हर कोई ब्लॉगिंग के क्षेत्र में जाकर अपना कैरियर बनाना चाहता था. लेकिन तभी लोगों के सामने ब्लॉगिंग का आधुनिक रूप सामने आया जिसे व्लॉगिंग से जाना जाता है. अगर आप व्लॉगिंग में अपना कैरियर बनाना चाहते हैं लेकिन आपको इसके बारे में सारी जानकारी नहीं है तो आपको इधर उधर भटकने की आवश्यकता नहीं है क्योंकि हमारे आज के इस आर्टिकल में हम आपको व्लॉगिंग बारे में सारी बातें बताएंगे. इस लेख को पढ़ने के बाद आपको यह अनुमान लग जाएगा कि आप किस प्रकार से व्लॉगिंग में अपना कैरियर बना सकते हैं.

vlogging kya hai in hindi

जानिए स्क्रीन मिररिंग क्या हैं और कैसे करते हैं.

व्लॉगिंग क्या है (What is Vlogging)

सबसे पहले आपको जानकारी दे दें कि व्लॉगिंग, ब्लॉगिंग का ही आधुनिक रूप है जिसमें ब्लॉगर  स्वतंत्र माध्यम से लोगों के साथ अपनी बात, ज्ञान, कौशल, अनुभव इत्यादि को वीडियो के द्वारा शेयर करता है. व्लॉगिंग के लिए यूट्यूब सबसे उत्तम माना जाता है और इसीलिए ब्लॉगर को यूट्यूबर भी कहा जाता है. आपको बता दें कि लगभग 2005 में व्लॉगिंग की शुरुआत हुई थी. बता दें कि व्लॉगिंग शब्द अंग्रेजी भाषा के दो शब्दों को मिलाकर बनाया गया है जो कि वीडियो (Video) और लोग (Log) है. इस तरह से यह पूरा शब्द वीडियोलोग (Videolog) बना जिसका मतलब वीडियो की क्रमानुसार एंट्री होता है.

इसके अलावा आपको बता दें कि व्लॉगिंग के माध्यम से अपने विचारों को अपने दर्शकों तक वीडियो के द्वारा बहुत आसानी के साथ पहुंचाते हैं. व्लॉगिंग में आप अपनी रूचि या इच्छा के अनुसार किसी भी विषय पर वीडियो बना सकते हैं और अगर आप किसी सामाजिक मुद्दे पर अपनी राय देना चाहते हैं तो वह भी दे सकते हैं. इसके साथ-साथ अगर आप किसी प्रोडक्ट के बारे में लोगों को यह बताना चाहते हैं कि उसके फायदे और नुकसान क्या क्या है तो इसको भी आप वीडियो यानी व्लॉगिंग के माध्यम से लोगों के साथ शेयर कर सकते हैं. वर्तमान में लोग किसी भी जानकारी को पढ़ने से ज्यादा देखना पसंद करते हैं और इस प्रकार वीडियो के माध्यम से उन्हें चीजें जल्दी भी समझ में आती हैं. 

तो ऐसे में अगर आप भी व्लॉगिंग करना चाहते हैं तो इसके लिए यह जरूरी नहीं है कि आप के पास बहुत ज्यादा हुनर या फिर कोई विशेष खूबी हो. इसके लिए अगर आपको बेसिक वीडियो एडिटिंग या जानकारी है तो आप इस क्षेत्र में अपना कैरियर बना सकते हैं. इसके अलावा आप जिस टॉपिक पर भी अपना वीडियो बना रहे हैं उसको आप अपने दर्शकों के सामने बहुत ही आकर्षक ढंग से प्रस्तुत करें क्योंकि इसी तरह से दर्शक आपसे कनेक्ट हो सकेंगे.

प्राइवेट ब्राउज़िंग क्या है जानिए इसका उपयोग कैसे और क्यों करते हैं.

व्लॉगिंग के फायदे (Vlogging Benefits)

  • नाम और पैसा :- अगर आपके अंदर टैलेंट और क्रिएटिविटी है तो इसका उपयोग करके आप व्लॉगिंग की दुनिया में कदम रख सकते हैं और इसके माध्यम से एक शानदार कैरियर बना सकते हैं. ‌यूट्यूब पर आपको ऐसे अनेकों लोगों की कहानियां मिल जाएंगी जो बहुत ही छोटे शहरों या फिर गांवों के रहने वाले हैं और उन्होंने अपने स्किल का प्रयोग करके यूट्यूब पर अपनी एक पहचान बनाई और उससे आज वह काफी पैसा भी कमा रहे हैं.
  • लोगों तक पहुंच :- व्लॉगिंग के माध्यम से आप लाखों करोड़ों लोगों तक अपनी बात बहुत आसानी के साथ पहुंचा सकते हैं. अगर आपके पास ऑडियंस ज्यादा है तो आप अपनी बात और विचारों को बहुत सरलता के साथ उनके बीच पहुंचा सकते हैं. इसके अलावा आपको यह भी बता दें कि अगर आप अपने फॉलोअर्स की संख्या को बढ़ाना चाहते हैं तो आप यूट्यूब के अलावा दूसरे अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का प्रयोग कर सकते हैं जैसे इंस्टाग्राम, फेसबुक इत्यादि.
  • ऑडियंस के साथ कनेक्टिविटी :– व्लॉगिंग के द्वारा आप अपनी ऑडियंस के साथ डायरेक्ट कनेक्ट हो जाते हैं क्योंकि जब आप किसी एक विशेष टॉपिक पर वीडियो बनाना शुरू करते हैं तो उस समय आप की ऑडियंस को यह पता होता है कि आप कौन सी चीज में बेहतर है और यही चीज आपको आपके दर्शकों से जोड़े रखती है. तो जब दर्शक आपके द्वारा दी गई जानकारी को पसंद करते हैं तो उस समय वह आपके वीडियो को लाइक करते हैं चैनल को सब्सक्राइब करते हैं और कमेंट करके आपसे सवाल भी करते हैं. यहां आपको बता दें कि अगर आप एक ब्लॉगर हैं तो आप जो भी जानकारी अपने ब्लॉग में लिख कर लोगों को देते हैं तो उसे अगर आप वीडियो बनाकर लोगों तक पहुंचाएंगे तो आपके लिए यह बेहद लाभदायक हो सकता है इस तरह से आपकी वेबसाइट पर भी ट्रैफिक बढ़ेगा और यूट्यूब पर आपके सब्सक्राइबर भी बढ़ेंगे.
  • पैसे कमाने का तरीका :- अगर आप व्लॉगिंग को अपने पेशे के रूप में अपनाना चाहते हैं तो फिर आप इससे पैसे भी जरूर कमाना चाहेंगे, क्योंकि अगर आप व्लॉगिंग में कामयाब हो जाते हैं और आपके पास एक अच्छी खासी ऑडियंस है तो आप इसके माध्यम से बहुत ज्यादा पैसे कमा सकते हैं. व्लॉगिंग में आप एफिलिएट मार्केटिंग, प्रोडक्ट सेलिंग, स्पॉन्सरशिप जैसे कई प्रकार के तरीकों से कमा सकते हैं और एक बेहतरीन डिजिटल कैरियर की शुरुआत कर सकते हैं.
  • ज्ञान बढ़ाने का अवसर :– जब आप शुरू शुरू में व्लॉगिंग की शुरुआत करते हैं और अपनी पसंद के टॉपिक पर वीडियो बनाकर लोगों के साथ शेयर करते हैं तो उस समय आपको उसमें एक्सपर्ट होने की आवश्यकता नहीं होती क्योंकि उसकी बेसिक जानकारी ही काफी होती है लेकिन जैसे-जैसे आप आगे बढ़ने लगते हैं और आपका चैनल ग्रो करने लगता है तो तब दर्शकों से आपकी और ज्यादा उम्मीदें बढ़ने लगती हैं. ऐसे में यह आपकी जिम्मेदारी है कि आप अपने टॉपिक की गहराई में जाएं और ज्यादा से ज्यादा जानकारी दर्शकों के साथ शेयर करें.

Cracked Software क्या है, जानिए इससे होने वाले फायदे के बारे में.  

व्लॉगिंग की शुरुआत कैसे करें (How to Start Vlogging)

आपके मन में अब यह सवाल जरूर आ रहा होगा कि व्लॉगिंग की शुरुआत कैसे की जा सकती है तो यहां आपको बता दें कि इसके लिए सबसे पहले आपको यह जानना होगा कि आप किस उद्देश्य के लिए व्लॉगिंग करना चाहते हैं. इसके साथ-साथ आपको बता दें कि आज दुनिया में वीडियो शेयर करने, रिकॉर्ड करने और होस्ट करने के लिए बहुत सारे प्लेटफार्म उपलब्ध है जहां पर आप अपनी क्रिएटिविटी का प्रयोग करके फेमस हो सकते हैं. लेकिन हम आपको कुछ बहुत ही लोकप्रिय व्लॉगिंग प्लेटफॉर्म्स के नाम बता रहे हैं जो कि इस प्रकार से हैं-

  • यूट्यूब
  • विमियो
  • फेसबुक वीडियोस
  • इंस्टाग्राम
  • टिक टॉक

ऊपर हमने जो भी नाम बताए हैं उनमें से आप किसी भी एक प्लेटफार्म का प्रयोग करके अपने वीडियो शेयर कर सकते हैं. यहां आपको बता दें कि यूट्यूब सभी प्लेटफॉर्म्स में सबसे टॉप पर है. लेकिन यहां हमारी बात का यह मतलब नहीं है कि आप केवल यूट्यूब के माध्यम से ही व्लॉगिंग कर सकते हैं. इसके लिए आप फेसबुक, इंस्टाग्राम, टिक टॉक इत्यादि सोशल प्लेटफार्म का उपयोग भी कर सकते हैं. परंतु यह बात भी सच है कि यूट्यूब दुनिया भर में एक बहुत ही प्रसिद्ध वीडियो शेयरिंग प्लेटफार्म है जहां पर सैकड़ों क्रिएटर्स ने अपनी पहचान बना कर सफलता और प्रसिद्धि प्राप्त की है. यही वजह है जिसके कारण विलॉगर्स के बीच यूट्यूब काफी अधिक पॉपुलर होने के अलावा उनकी पहली पसंद है. तो इसलिए यह बेहतर होगा कि आप व्लॉगिंग की शुरुआत यूट्यूब से ही करें.

व्लॉगिंग के लिए क्या चाहिए (Requirements)

आपके मन में यह सवाल जरूर आ रहा होगा कि यूट्यूब पर वीडियो बनाने के लिए आपके पास एक अच्छा कैमरा होना चाहिए और उसके अलावा साउंड रिकॉर्डर, लाइट्स, वीडियो एडिटिंग सॉफ्टवेयर और साथ में वीडियो बनाने के लिए एक जगह का भी होना अनिवार्य है. लेकिन यहां हम आपको बता दें कि अगर आप वीडियो बनाकर दर्शकों तक अपनी बात पहुंचाना चाहते हैं तो इसके लिए यह आवश्यक नहीं है कि आपके पास कोई महंगा कैमरा ही हो. आप व्लॉगिंग की शुरुआत कुछ बेसिक चीजों के साथ भी कर सकते हैं.

गूगल ड्राइव क्या हैं जानिए इसके फीचर एवं इसका उपयोग कैसे किया जा सकता है.

व्लॉगिंग शुरू करने के लिए कुछ बेसिक इक्विपमेंट्स (Basic Equipements)

निम्नलिखित हम आपको उन सभी आवश्यक सामान के बारे में जानकारी दे रहे हैं जो आपके पास व्लॉगिंग करने के लिए होना अनिवार्य है –

  • कैमरा या स्मार्टफोन – व्लॉगिंग के लिए यह जरूरी नहीं है कि आपके पास कोई बहुत महंगा कैमरा होना चाहिए क्योंकि आप वीडियो अपने स्मार्टफोन कैमरा से भी बना सकते हैं. यूट्यूब पर ऐसे बहुत सारे क्रिएटर हैं जो अपने स्मार्टफोन की सहायता से अपने वीडियो बनाते हैं और यूट्यूब पर अपलोड करते हैं. लेकिन अगर आपका बजट कैमरा लेने का है तो आप इसके लिए फिर कोई डीएसएलआर कैमरा ले सकते हैं.
  • वॉइस रिकॉर्डर – किसी भी वीडियो की साउंड क्वालिटी सबसे अधिक महत्वपूर्ण होती है इसलिए आप जब भी वीडियो बनाएं तो यह सुनिश्चित करें कि उसमें आपकी आवाज बिल्कुल क्लियर हो. इसके लिए आप कोई अच्छा सा साउंड रिकॉर्डर खरीद लें और उससे अपनी वीडियो में आवाज रिकॉर्ड करें. यहां बता दें कि यह साउंड रिकॉर्डर आप ऑनलाइन भी खरीद सकते हैं.
  • माइक – अगर आप अपने स्मार्टफोन के माध्यम से अपना वीडियो रिकॉर्ड करेंगे तो उसके लिए आपको साउंड के लिए एक माइक की आवश्यकता पड़ेगी. ऐसा इसलिए है क्योंकि जब आप अपने स्मार्टफोन से वीडियो बनाएंगे तो उस समय दूरी की वजह से आपकी आवाज ठीक से वीडियो में पहुंच नहीं पाएगी. इसीलिए आपको एक कॉलर माइक की आवश्यकता पड़ेगी और आपको बहुत आसानी से ऑनलाइन मिल जाएगा. यूट्यूब पर ऐसे बहुत सारे क्रिएटर हैं जो बोया माइक (Boya Mic) का प्रयोग आवाज रिकॉर्ड करने के लिए करते हैं.
  • ट्राइपॉड यहां आपको जानकारी दे दें कि वीडियो बनाने के लिए ट्राइपॉड काफी अधिक जरूरी होता है क्योंकि इस पर आप अपना कैमरा या फिर फोन रख कर वीडियो बना सकते हैं. यह जरूरी नहीं है कि आप कोई महंगा ट्राइपॉड ही खरीदें क्योंकि इस काम के लिए आप किसी भी प्रकार का एक सस्ता और टिकाऊ ट्राइपॉड खरीद सकते हैं. अगर आप ऑनलाइन इसे खरीदना चाहते हैं तो आप अपने बजट के हिसाब से 200 रुपए या उससे अधिक में खरीद सकते हैं.
  • लाइट्स व्लॉगिंग के लिए यह जरूरी नहीं है कि आपके पास लाइट्स हो क्योंकि आप बिना लाइट के भी अपना वीडियो बना सकते हैं. लेकिन अगर आप वीडियो बनाने के लिए लाइट्स खरीदना चाहते हैं तो फिर आप ऑनलाइन खरीद सकते हैं और यहां बता दें कि इन लाइट्स की अपने बजट के अनुसार खरीदारी करें.
  • वीडियो एडिटर प्रोग्राम अगर आप व्लॉगिंग में एक सफल कैरियर बनाना चाहते हैं तो इसके लिए यह आवश्यक है कि आपके पास एक वीडियो एडिटिंग टूल होना चाहिए क्योंकि इसके माध्यम से ही आपके वीडियो में जान आएगी. यहां आपको बता दें कि इंटरनेट पर आपको बहुत सारे फ्री और क्रैक्ड वीडियो एडिटिंग टूल मिल जाएंगे परंतु हम आपसे यही कहेंगे कि उन्हें इस्तेमाल ना करें और बेहतर यही होगा कि आप थोड़ा सा निवेश करके एक अच्छा वीडियो एडिटिंग टूल खरीदें. साथ ही आपको यह भी बता दें कि अगर आप अपने स्मार्टफोन के लिए किसी वीडियो एडिटिंग टूल को खरीदेंगे तो वह सस्ता होगा लेकिन अगर आप अपने डेस्कटॉप के लिए वीडियो एडिटिंग टूल खरीद रहे हैं तो वह आपको थोड़ा महंगा पड़ेगा. यहां आपको बता दें कि बहुत सारे यूट्यूबर वंडरशेयर  फिल्मोरा वीडियो एडिटर को अपनी वीडियो एडिटिंग के लिए प्रयोग करते हैं.
  • इंटरनेट कनेक्टिविटी जब आप अपना वीडियो बना लेंगे और उसकी एडिटिंग भी कर लेंगे तो उसके बाद आपको उसको यूट्यूब पर अपलोड करने के लिए इंटरनेट की जरूरत पड़ेगी. तो इसलिए यह बेहद अनिवार्य है कि आपके पास एक अच्छी स्पीड वाला इंटरनेट कनेक्शन हो ताकि आपको वीडियो अपलोड करने में किसी भी प्रकार की समस्या ना हो. लेकिन आज के समय में इंटरनेट की समस्या किसी के पास भी नहीं है क्योंकि जिओ हमारे देश में बहुत सस्ता और तेज इंटरनेट की सुविधा प्रदान करता है.
  • डिजिटल लिटरेसी स्किल्स अगर आप व्लॉगिंग कर रहे हैं तो इसके लिए यह भी बहुत ही अनिवार्य और महत्वपूर्ण है कि आपको यह पता होना चाहिए कि आप किस प्रकार से कंप्यूटर या स्मार्टफोन का उपयोग करके अपने वीडियो को अपलोड कर सकते हैं. इसके साथ-साथ आपको कंप्यूटर की बेसिक नॉलेज, वीडियो एडिटिंग और इंटरनेट की जानकारी होना भी जरूरी है.

इन्वर्टर टेक्नोलॉजी क्या होती हैं, जानिए कैसे आप इससे बचा सकते हैं अपने घर की बिजली.

खुद का व्लॉग कैसे बनाएं (How to Create Our Vlogg)

अब आपके मन में यह सवाल आ रहा होगा कि आप खुद का विलॉग कैसे बना सकते हैं तो यहां आपकी जानकारी के लिए बता दें कि कोई भी विलॉग शुरू करने के लिए कुछ बातों को ध्यान में रखना होगा और तब आप अपने विलॉग को आरंभ करें. निम्नलिखित हम आपको बता रहे हैं कि किन बातों को आपको व्लॉगिंग के लिए ध्यान में रखना होगा-

  • अपना विलॉग टॉपिक्स चुनें :- व्लॉगिंग के लिए यह सबसे अधिक जरूरी है कि आप सबसे पहले इस बात को निश्चित करें कि आप किस टॉपिक पर अपना विलॉग शुरू करना चाहते हैं. यहां हम आपको बता दें कि जिस समय आप अपने व्लॉगिंग के लिए टॉपिक का चयन करें तो केवल वही टॉपिक चुनें जिसकी आपको ठीक से जानकारी हो और जिसको करने में आपको मजा भी आए. लेकिन अगर आप चाहें तो आप दूसरे विषयों पर भी वीडियो बना सकते हैं क्योंकि यह जरूरी नहीं है कि आप केवल उन्हीं विषयों पर वीडियो बनाएं जो आपको पसंद हों.
  • वीडियो टॉपिक निर्धारित कर लें :– जब आप यूट्यूब पर वीडियो बनाना शुरू करें तो उससे पहले यह निर्धारण कर लीजिए कि आपको कौन-कौन से विषयों पर वीडियो बनाना है. उदाहरण के लिए अगर आप लोगों को अपने वीडियो के माध्यम से वेब डिजाइनिंग की जानकारी देना चाहते हैं तो इसके लिए आपको शुरू में वही वीडियो बनाने होंगे जिनमें वेब डिजाइनिंग के बारे में बेसिक जानकारी हो और फिर धीरे-धीरे आप क्रमानुसार सारे टॉपिक को कवर करते हुए आगे बढ़े. इस तरह से आपको भी काम करने में आसानी रहेगी और आपकी वीडियो दर्शकों के समझ में भी ठीक से आ सकेंगी.
  • वीडियो प्लेटफार्म चुनें :– व्लॉगिंग के लिए यदि आप ऐसा वीडियो शेयरिंग प्लेटफार्म ढूंढ रहे हैं जहां पर आप फेमस होने के साथ-साथ कमाई भी कर सकें तो इसके लिए सबसे बेहतरीन वीडियो प्लेटफार्म यूट्यूब है. यूट्यूब काफी लोकप्रिय भी है और यहां पर आप बहुत सरलता के साथ शुरुआत करके एक कामयाब व्लॉगिंग कैरियर बना सकते हैं. इसके लिए आपको केवल अपने गूगल अकाउंट से लॉगिन करके यूट्यूब चैनल बनाना होगा.
  • वीडियो रिकॉर्ड करें :– जब आप अपने विलॉग के लिए वीडियो शेयरिंग प्लेटफॉर्म का चुनाव कर लें तो उसके बाद आपको अपने स्मार्टफोन या कैमरे का प्रयोग करते हुए वीडियो बनानी होगी. बता दें कि वीडियो बनाने के लिए आप लाइट ऑन करके अपने ट्राइपॉड के ऊपर स्मार्टफोन रखें और वीडियो शूट करें. यहां आप पूरा ध्यान वीडियो बनाने पर दें अगर आप से कोई गलती हो जाती है तो उसे एडिटिंग के दौरान ठीक किया जा सकता है.
  • वीडियो एडिट करें :– जब आपका सारा वीडियो बन जाए तो उसके बाद आप वीडियो एडिटर प्रोग्राम का प्रयोग करते हुए जो भी गलतियां आपसे हुई है उनमें सुधार करें और आपका वीडियो ऐसा लगना चाहिए कि जैसे किसी पेशेवर व्यक्ति ने इस वीडियो को बनाया है.
  • अपलोड वीडियो :- वीडियो को एडिट करने के बाद अब आपको उसे अपलोड करना है. ‌इसके लिए आपको अपने व्लॉगिंग प्लेटफार्म पर लॉगिन करना होगा और उसके बाद आप अपना वीडियो वहां पर अपलोड कर दें. यहां आपको बता दें कि जिस समय आप वीडियो अपलोड करेंगे उस समय आपसे वीडियो के बारे में कुछ आवश्यक जानकारी मांगी जाएंगी तो आप उन सभी को ठीक से भर दें.
  • मार्केटिंग करें :– यहां आपको बता दें कि व्लॉगिंग के लिए यह बहुत ज्यादा आवश्यक होता है जिसे अकसर लोग नजरअंदाज कर देते हैं लेकिन आप ऐसी गलती ना करें. इसलिए यह बहुत जरूरी है कि आप के वीडियो पर ट्रैफिक आए जिसके लिए आपको उसकी ठीक तरह से मार्केटिंग करनी होगी. ‌

गूगल मीट ऐप क्या है जानिए ऑनलाइन डाउनलोड कर इसे कैसे उपयोग करते हैं.

व्लॉगिंग के लिए बेस्ट टॉपिक्स (Topics)

  • पर्सनल विलॉग व्लॉगिंग के लिए यह जरूरी नहीं है कि आप किसी फील्ड में एक्सपर्ट हों क्योंकि आप अपनी पर्सनल राय के माध्यम से लोगों तक अपनी जानकारी पहुंचा सकते हैं. अगर आपको स्वास्थ्य संबंधित जानकारी है तो आप उसको लोगों तक पहुंचा सकते हैं इसके लिए यह जरूरी नहीं है कि आप एक डॉक्टर ही हो. यूट्यूब पर ऐसे बहुत सारे लोग हैं जो सिंगिंग, डांसिंग, ब्यूटी पर आधारित वीडियो बनाते हैं.
  • फनी विलॉग  आजकल अधिकतर लोग फनी वीडियोस देखना बहुत ज्यादा पसंद करते हैं क्योंकि इनके माध्यम से उनका टेंशन कम होता है. यूट्यूब पर ऐसे बहुत सारे यूट्यूबर हैं जो फनी वीडियो  बना कर काफी पैसा और नाम कमा रहे हैं.
  • इंफॉर्मेशनल विलॉग दर्शक केवल वही वीडियो देखना पसंद करते हैं जिससे उनका मनोरंजन हो रहा हो या फिर उससे उन्हें किसी प्रकार की कोई इंफॉर्मेशन प्राप्त हो रही हो. इसलिए आप दर्शकों के लिए हेल्थ, फिटनेस, एजुकेशन जैसे विषयों पर विलॉग बना सकते हैं.
  • ट्रैवल विलॉग अगर आप अकसर यात्राओं पर जाते हैं या फिर आपको घूमने फिरने का शौक है तो ऐसे में आप ट्रैवल विलॉग बनाकर दर्शकों को यह जानकारी दे सकते हैं कि जिन जगहों पर आप घूमने जाते हैं वहां पर क्या क्या चीजें देखने लायक है और वहां पर अगर कोई इंसान घूमने जाना चाहता है तो उसके लिए उसका वजन कितना होना चाहिए.
  • फिटनेस विलॉग अगर आप उन लोगों में से हैं जिनको फिट रहना बहुत ज्यादा पसंद है और इसके लिए आप नियमित रूप से योग और जिम जाते हैं तो ऐसे में आप अपनी ऑडियंस के साथ एक्सरसाइज, हेल्थ टिप्स इत्यादि शेयर कर सकते हैं और उन्हें यह जानकारी दे सकते हैं कि वह किस प्रकार से अपनी बॉडी को फिट रख सकते हैं. ‌
  • अदर विलॉग इसके अलावा आपको हम बता दें कि आपको जिस विषय में भी बहुत ज्यादा रुचि हो और आप दर्शकों तक अपनी बात अच्छी तरह से पहुंचा सकते हैं तो आप उसी के ऊपर वीडियो बनाकर नाम और पैसा दोनों ही कमा सकते हैं.‌ उदाहरण के लिए लोगों के लिए सवाल जवाब वाले वीडियो बना सकते हैं, अपने यूट्यूब चैनल पर किसी फेमस व्यक्ति का इंटरव्यू दिखा सकते हैं या फिर आप गेमिंग वीडियो भी बना सकते हैं.

नेटफ्लिक्स क्या है, जानिए बॉलीवुड की लेटेस्ट फिल्मों को इंटरनेट पर कैसे फ्री में देख सकते हैं.

व्लॉगिंग से पैसे कैसे कमाएं (How to Earn Money From Vlogging)

  • गूगल ऐडसेंस यूट्यूब पर गूगल ऐडसेंस से ब्लॉगर काफी पैसा कमा सकते हैं. जब भी आप अपने यूट्यूब पर वीडियो बनाएंगे तो गूगल आपके वीडियो पर विज्ञापन दिखाएगा जिसमें से कुछ पैसे आपको देगा और कुछ वह रख लेगा. लेकिन यहां आपको बता दें कि अगर आप गूगल ऐडसेंस के माध्यम से पैसा कमाना चाहते हैं तो इसके लिए आपके यूट्यूब चैनल पर 1000 सब्सक्राइब होने चाहिए और इसके अलावा आपके यूट्यूब चैनल पर 1 साल में 4000 घंटे का वॉच टाइम भी पूरा होना चाहिए.
  • स्पॉन्सरशिप / डायरेक्ट एडवरटाइजिंग  इस तरीके से भी आपको विज्ञापन के द्वारा ही पैसे कमाने का मौका मिलता है लेकिन यह थोड़ा मुश्किल होता है क्योंकि आपको विज्ञापनदाता को खुद ढूंढना होता है. यहां बता दें कि आप जब किसी कंपनी के प्रोडक्ट या फिर सेवा के बारे में वीडियो बनाकर लोगों तक उसकी जानकारी पहुंचाते हैं तो उसके बदले कंपनी से आपको पैसे मिलते हैं.‌
  • प्रोडक्ट रिव्यू यूट्यूब पर जब भी आप किसी प्रोडक्ट का रिव्यु करते हैं तो उससे आपको काफी पैसे मिल जाते हैं. आमतौर पर यूट्यूबर अपने चैनल पर किसी मोबाइल, स्मार्ट स्पीकर या फिर माइक इत्यादि का रिव्यु करते हैं जो कि पूरी तरह से पैड वीडियो होते हैं यानी कि उनका पूरा खर्चा कंपनी करती है.
  • एफिलिएट मार्केटिंग एफिलिएट मार्केटिंग के द्वारा आजकल यूट्यूबर बहुत ज्यादा पैसे कमा लेते हैं. अपने वीडियो के डिस्क्रिप्शन में वह किसी भी प्रोडक्ट का लिंक दे देते हैं और उस लिंक को क्लिक करके जब कोई यूजर वहां से खरीदारी करता है तो उसका कमीशन यूट्यूबर को मिल जाता है.
  • सेलिंग ऑन प्रोडक्ट्स अगर आप अपना स्वयं का कोई डिजिटल प्रोडक्ट यूट्यूब पर बेचना चाहते हैं और उसके द्वारा पैसे कमाना चाहते हैं तो यह आपके लिए काफी अधिक लाभदायक हो सकता है. लेकिन यहां आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इसके लिए आपके पास ज्यादा ऑडियंस का होना अनिवार्य है क्योंकि आप अपने प्रोडक्ट को तभी ऑनलाइन बेच सकते हैं.

Jio Glass क्या है – स्मार्ट चश्मे से ही कर सकेंगे वीडियो कॉलिंग, जानिए सारे फीचर.  

ब्लॉगिंग और व्लॉगिंग में अंतर (Difference b/w Blogging and Vlogging)

अगर आपको अभी भी इस बात का कन्फ्यूजन है कि ब्लॉगिंग और व्लॉगिंग के बीच में क्या अंतर है तो इसकी जानकारी के लिए हम आपको बता दें कि इन दोनों में जो अंतर है वह निम्नलिखित है-

  • ब्लॉगिंग में टेक्स्ट के द्वारा अपनी बात दशकों तक पहुंचाई जाती है जबकि व्लॉगिंग में वीडियो बनाकर अपनी बात दूसरों के सामने रखी जाती है.
  • ब्लॉगिंग में विभिन्न प्रकार की मल्टीमीडिया का उपयोग किया जाता है जबकि व्लॉगिंग में आप अपने कंटेंट को केवल वीडियो के माध्यम से ही लोगों तक पहुंचा सकते हैं.
  • ब्लॉगिंग एक स्वतंत्र प्लेटफार्म है जहां पर ब्लॉगर अपने विचार पूर्ण रूप से स्वतंत्र तरीके से लोगों तक पहुंचाता है और इसके लिए वह अपना स्वयं का डोमेन नेम लेकर शुरुआत करता है. वहीं दूसरी ओर जो लोग व्लॉगिंग करते हैं वह अपने वीडियो को यूट्यूब जैसे प्लेटफार्म पर अपलोड करते हैं और इस प्लेटफार्म पर वह पूर्ण रुप से स्वतंत्र नहीं होते हैं. ‌
  • जब कोई व्यक्ति ब्लॉगिंग शुरू करता है तो उसे कुछ पैसे खर्च करने होते हैं ताकि वह डोमेन नेम, होस्टिंग इत्यादि को खरीद सके. लेकिन व्लॉगिंग में आपको किसी भी प्रकार का निवेश करने की जरूरत नहीं होती है क्योंकि यूट्यूब पर व्लॉगिंग के लिए केवल आपको जीमेल अकाउंट की आवश्यकता होती है.
  • ब्लॉगिंग में सफलता पाने के लिए थोड़ा समय लगता है परंतु वहीं दूसरी और जो लोग व्लॉगिंग कर रहे हैं उनका अगर एक वीडियो पॉपुलर हो जाए तो वह बहुत जल्दी सफल हो जाते हैं.  

अन्य पढ़ें –

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *